Connect with us

पानीपत

रोक के बावजूद जमकर जले पटाखे, जहरीली हुई हवा, रहें सावधान

Published

on

Advertisement

रोक के बावजूद जमकर जले पटाखे, जहरीली हुई हवा, रहें सावधान

पानीपत सहित हरियाणा के कई शहरों में पटाखों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया था। बावजूद पटाखे खूब जलाए गए। देर रात तक हालात बिगड़ते गए। प्रदूषण का स्‍तर लगातार खतरनाक होता गया। पानीपत सहित आसपास के जिलों में एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स लेवल 400 के आसपास रहा। ऐसे में आंखों में जलन और सांस लेने की समस्‍या रही।

Advertisement

प्रत्‍येक जिले में प्रशासन की ओर से इस बार दीवाली पर पटाखों पर पूरी तरह से पाबंदी लगाई हुई थी। इसके लिए बकायदा अधिकारियों की ड्यूटी भी लगी थी। पुलिस प्रशासन भी अलर्ट था। पाबंदी के बाद भी शहर में रातभर पटाखे जलाए गए। इस बार पटाखों के लिए कोई स्टाल भी नहीं लगाए हुए थे, लेकिन मेन बाजार में दुकानदारों ने जमकर पटाखे बेचे। दुकानदारों ने पटाखे छुपा कर रखे हुए थे और मांगने पर ही लोगों को दे रहे थे। दुकानदारों ने आधे स्टर बंद किए हुए थे ताकि पुलिस के आने पर दुकान को बंद किया जा सके।

रोक के बावजूद जमकर जले पटाखे, जहरीली हुई हवा, रहें सावधान

कैथल में ये रहे हालात

Advertisement

दो दिन पहले एयर क्वालिटी इंडेक्स 285 था, लेकिन दीवाली के दिन इंडेक्स का स्तर 380 तक पहुंच गया था। हालांकि रविवार को इंडेक्स 380 से घटकर 373 तक रह गया था।

कोई बड़ी घटना नहीं हुई

Advertisement

कैथल में दीवाली पर कोई बड़ी आगजनी की घटना नहीं हुई। सीवन में पटाखों के कारण एक कार में आग लगी गई थी। मौके पर फायर विभाग की गाड़ी भी पहुंच गई थी, लेकिन उससे पहले गाड़ी जल चुकी थी। इसके अलावा शहर में कचरे के ढेर में दो जगह आगजनी की घटनाओं की सूचना आई थी, जहां मौके पर जाकर आग पर काबू पा लिया गया था।

पानीपत में फैक्‍ट्री में लगी आग

पानीपत में जाटल रोड में फैक्‍ट्री में दीवाली की रात आग लग गई। वहीं तहसील कैंप में पटाखों की बिक्री को लेकर काफी हंगामा हुआ। पटाखों की वजह से पानीपत में एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स का लेवल 394 पहुंच गया। इसके अलावा यमुनानगर में भी प्रदूषण का स्‍तर खतरनाक रहा। पटाखा बेचने पर आठ लोगों पर केस दर्ज हुआ।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *