Connect with us

City

करनाल, कैथल और पानीपत में पकड़े जा रहे चूहे, स्‍क्रब टाइफस को लेकर हरियाणा में अलर्ट

Published

on

Advertisement

करनाल, कैथल और पानीपत में पकड़े जा रहे चूहे, स्‍क्रब टाइफस को लेकर हरियाणा में अलर्ट

कोरोना के बाद अब स्क्रब टाइफस के केस प्रदेश भर में मिलना शुरू हो गए हैं। अलग-अलग जिलों से केस सामने आने के बाद दिल्ली से आई टीम हरियाणा के विभिन्न जिलों में जाकर सर्वे के लिए जुट गई है, जहां पर 10 से ज्यादा स्क्रब टाइफस के केस मिले हैं। वहां से चूहों को पकड़कर सैंपल लिए जा रहे हैं। जिसमें करनाल के अलावा कुरुक्षेत्र पानीपत व कैथल भी शामिल है। पिछले दिनों करनाल में 19 केस मिलने के बाद हड़कंप मच गया था।

कैथल और पानीपत में भी सैंपल लेने के लिए पकड़े गए चूहे।

Advertisement

इसके बाद केंद्र व राज्य सरकार से विशेषज्ञों की टीम करनाल के दादूपुर खुर्द व सग्गा गांव पहुंची थी। वहां पर सर्वे किया गया। इसके बाद यह टीमें अन्य जिलों में भी जाकर इस गंभीर बीमारी को लेकर फील्ड में उतरी हुई हैं। यह टीमें सैंपल के साथ-साथ सर्वे भी कर रही है। सैंपलों की जांच के लिए एनसीडीसी दिल्ली लैब में भेजा गया है। इन सैंपलों की रिपोर्ट दिसंबर माह में आने की उम्मीद है।

2021 में आए 19 मामले

Advertisement

सूत्रों के मुताबिक करनाल जिले में स्क्रब टाइफस का पहला केस वर्ष 2018 में मिला था। सितंबर व अक्टूबर 2021 में 19 केसों मिले। स्क्रब टाइफस के जो केस आए हैं, उनकी जानकारी पीजीआई चंडीगढ़ व कैथल के एक निजी अस्पताल से मिली है।

Advertisement

सेंटर व स्टेट की टीमें पहुंची करनाल

करनाल में स्क्रब टाइफस के मामलों को लेकर दिल्ली व हरियाणा के टीमों ने सग्गा व दादूपुर गांवों का दौरा किया था। जहां पर टीमों ने चूहों के सैंपल पकड़कर उनके सैंपल लिए थे। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की ओर से लोगों को जागरूक करने का काम भी किया जा रहा है। सिविल सर्जन डा. योगेश शर्मा ने बताया कि स्क्रब टाइफस को लेकर लोगों को जागरूक किया गया है। साथ ही उनको इस बीमारी के बारे में बताया गया है। सैंपलों की रिपोर्ट आने के बाद ही इस संबंध में ज्यादा जानकारी मिल सकती है।

 

 

Advertisement