Connect with us

City

अमेरिकन गोरी को भाया पानीपत के सुताना गांव का पहलवान, इंस्टाग्राम पर हुई थी दोस्ती

Published

on

Advertisement

अमेरिकन गोरी को भाया पानीपत के सुताना गांव का पहलवान, इंस्टाग्राम पर हुई थी दोस्ती, दिसंबर में शादी

पानीपत के सुताना गांव का पहलवान निखिल अखाड़े में विरोधी पहलवानों को दांव से चित कर देता था। दिग्‍गजों को हराने वाला पहलवान निखिल अमेरिकन स्टेपनी मारयाना से दिल हार बैठा है। छह महीने पहले दोनों की इंस्ट्राग्राम पर चैटिंग हुई। प्रेम परवान चढ़ा। 17 नवंबर को मारयाना दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचीं। वहीं पर निखिल ने अंगूठी पहनाकर सगाई कर ली। निखिल उन्हें खेतों और रिश्तेदारी में घूमा रहा है। दोनों की दिसंबर में सुताना गांव में शादी होगी। इसकी तैयारी की जा रही है।

पानीपत के सुताना गांव का पहलवान निखिल मंगेतर मारयाना के साथ।

Advertisement

निखिल ने दैनिक जागरण को बताया कि वह राष्ट्रीय स्तर का कुश्ती का खिलाड़ी रहा है। अभ्यास के दौरान उनके दाहिने कंधे में चोट लगी थी। फरवरी में कंधे का आपरेशन हुआ था। इसके बावजूद दर्द रहने लगा। इसी वजह से कुश्ती छूट गई थी। छह महीने पहले उसकी इंस्टाग्राम पर अमेरिका के कैलिफोर्निया के फोंटाना की मारयाना से चैटिंग हुई। दोनों ने एक दूसरे के बारे में जाना।  उनमें प्रेम हो गया। उनके व मारयाना के माता-पिता ने शादी की हामी भर दी।

बहन हैं अंतरराष्ट्रीय पहलवान, माता-पिता रह चुके हैं गांव के सरपंच

Advertisement

निखिल की बड़ी बहन नैना अंतरराष्ट्रीय पहलवान है। नैना ने निडानी में कुश्‍ती सीखी। कुश्‍ती कोच सुभाष लोहान ने उन्‍हें शुरुआत में दांव पेच सुनाए। नैना ने निडानी में तीन साल तक कुश्‍ती की प्रैक्टिस की। 2018 में नैना ने रोहतक में जाकर प्रैक्टिस शुरू की। नैना सात बार भारत केसरी का खिताबा जीत चुकी है। एशिया चैंपियनशिप मंगोलिया में गोल्‍ड मेडल, आल इंडिया यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप औरंगाबाद में गोल्‍ड, नेशनल चैंपियनशिप चित्‍तौड़गढ़ में गोल्‍ड मेडल जीत चुकी हैं। भाई के रिश्ते बाला देवी और पिता रामकरण गांव के सरपंच रह चुके हैं। मारयाना को फोटोग्राफी का शौक है। बिजनेस स्टडी कर रही हैं। उनके पिता एंटोनियो के ट्रांसपोर्टर हैं। मारयाना पिता का भी सहयोग करती हैं। मायराना को निखिल ने हरियाणवी बोली भी सीखा दी है।

Advertisement

Advertisement