Connect with us

City

नीरज चोपड़ा का सामने आया एक और रंग, Dance Plus में जमकर थिरके

Published

on

Advertisement

नीरज चोपड़ा का सामने आया एक और रंग, Dance Plus में जमकर थिरके, शक्ति को किया प्रपोज

हरियाणा के बेटे ओलिंपिक पदक विजेता नीरज चोपड़ा अब टीवी शो में भी खूब दिल जीत रहे हैं। कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी KBC) में पहले उन्होंने बालीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को हरियाणवी डायलाग बोलना सिखाया तो अब डांस प्लस (Dance+) शो में उन्होंने प्रपोज करना सिखाया। शक्ति मोहन के सामने उन्होंने बताया कि किस तरह प्रपोज करना चाहिए। एंकर राघव का चेहरा हमेशा की तरह देखने लायक था। वहीं, नीरज से जो सवाल पूछे गए, उन पर भी खूब ठहाके लगे। इसके अलावा नीरज स्‍टेज पर जमकर नाचे भी। आप भी पढ़िए ये खबर।
डांस रियलिटी शो डांस प्लस में पहुंचे नीरज चोपड़ा।
यूं किया प्रपोज…पहले हिचकिचाए
शक्ति मोहन खुद नीरज को कहती हैं कि आप राघव को सिखाएं कि किस तरह प्रपोज करना चाहिए। तब नीरज और शक्ति स्टेज पर आते हैं। नीरज कहते हैं, राघव भाई बहुत अच्छे लड़के हैं। शक्ति टोकती हैं, ऐसे थोड़ा प्रपोज करते हैं। तभी जज कहते हैं, हाथ पकड़कर करते हैं। जैवलिन समझकर पकड़ लो। नीरज कहते हैं, फिर वो फेंकने वाला हो जाएगा।

गंभीर होकर नीरज कहते हैं, मेरी लाइफ में तो सबसे जरूरी जैवलिन है। बाकी न इतना अच्छा खाना बनाना आता है, न टाइम दे सकता हूं। शक्ति कहती हैं, मेरी लाइफ में भी सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट जैवलिन हो जाएगा न। फिर नीरज कहते हैं, राघव भाई इतनी अच्छी कामेडी करते हैं। इतना अच्छा डांस करते हैं। प्लीज आप उनसे बात कीजिए। शक्ति कहती हैं, छह साल में इंप्रेस नहीं कर सका, अब क्या करेगा। तब राघव बोलते हैं, पहले मुझे करियर सेट करना था।…और सभी हंसने लगते हैं। वहीं रेमो कहते हैं- एक गोल्ड होता है जिससे जेवर बनता है। इस गोल्ड से इंडिया का तेवर बना है।

Advertisement

पढ़िए मजेदार सवाल और उनके शानदार जवाब

1-नीरज आपने बाल क्यों कटवाए

Advertisement

नीरज : बाल लंबे रखना बहुत पसंद था। ओलिंपिक से पहले खेलते हुए बाल बार-बार बीच में आ रहे थे। पहली बार ओलिंपिक में खेलने का अवसर मिल रहा था। बालों की वजह से गेम खराब न हो जाए, इसलिए कटवा दिए। बाल तो फिर भी बढ़ा लेंगे। बालों की वजह से ओलिंपिक खराब नहीं होने दूंगा, यही सोचा था।

2- अपना भाला कहां रखते हैं

Advertisement

नीरज : मेरी जैवलिन मेरे पास ही होती है। वैसे, एक रूम में जैवलिन रखे होते हैं। ताला लगाकर संभालकर रखते हैं।

3- आपकी जैवलिन का कोई नाम है

नीरज : अपनी भाषा में हम भाला बोलते हैं। वैसे मेरे कोच कहते हैं, ये लो तुम्हारी स्वीटी।

4- नीरज से कुंडली कैसे मैच करें

नीरज : कुंडली का मुझे कोई नालेज नहीं है।

5- आपको किस टाइप की लड़की पसंद है

नीरज : सिंपल। वैसे अभी मेरा फोकस मेरी गेम पर है। फिर भी कहना चाहता हूं कि एक-दूसरे का सम्मान करें। परिवार का भी सम्मान हो।

राघव : हमें कैसी भी मिल जाए। मुझे  तो जो चाहिए, सामने बैठी है। ये हां बोल दे तो मेरा काम हो जाए। मेरी स्वीटी

6- नीरज का फोन नंबर क्या है

नीरज : मैंने जब स्पोर्ट्स शुरू किया, चाचाजी ने अपना नंबर मुझे दिया था। मेरे पास वही नंबर है। पर ओलिंपिक शुरू होने से एक साल पहले ही मैंने फोन बंद कर दिया था। अब भी बंद ही है। दरअसल, मेरे पास जो मैसेज आते हैं, उनका रिप्लाई जरूर करता हूं। अब रिप्लाई करना मुश्किल है।

7- आपने जैवलिन को ही क्यों चुना

नीरज : मेरे दिमाग में जैवलिन नहीं थी। बचपन में मोटा था। फिटनेस के लिए शिवाजी स्टेडियम में गया। वहां दूसरों को भाला फेंकते हुए देखा। इसे उड़ते हुए देखकर बड़ा अच्छा लगा। मैंने भी उठाकर फेंका। पहले प्रयास में दूर तक गया। सीनियर ने कहा, इसकी ट्रेनिंग कराओ। बस तभी से ये खेल पसंद आ गया। मुझे नहीं पता था कि यहां तक पहुंच जाऊंगा।

Advertisement