Connect with us

City

यमुना किनारे इस हाईवे से हरियाणा समेत अन्य राज्य के लोगों को भी फ़ायदा होगा

Published

on

यमुना किनारे इस हाईवे से हरियाणा समेत अन्य राज्य के लोगों को भी फ़ायदा होगा

 यमुनानगर के लोगों को एक और फोरलेन की सौगात मिलेगी। यह फोरलेन कैल से होकर गांवों से होता हुआ बहादूरपुर में निकलेगा और वहीं से जगाधरी पांवटा साहिब हाईवे पर मिल जाएगा। जिले के 24 गांवों से होकर निकलेगा। इन गांवों से करीब 100 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा। इस राजमार्ग की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर ली गई है। अब इन गांवों में जमीन के अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू होगी।

जल्द गांवों में जमीन के अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू होगी।

नया फोरलेन कैल से होता हुआ शेरपुर, बलाचौर, मुंडाखेड़ा, पंजेटो, सिंहपुरा, शाहपुर, मेहलावाली, खारवन, मामली, काठवाला, चाहडो, छज्जूनगला, बहादूरपुर, भिलपुरा, चूहडपुर कलां, चूहडपुर खुर्द, गुलाबगढ़, प्रतापनगर, किशनपुरा, मलकपुर खादर, पीपली माजरा, शाहजहांपुर, उर्जनी से होकर निकलेगा। इन गांवों में राजस्व विभाग जमीन की निशानदेही कर रहा है। जिसके बाद जमीनों का अधिग्रहण किया जाएगा। यहां से जमीन अधिग्रहित होने के बाद नेशनल हाईवे अथारिटी आफ इंडिया को ट्रांसफर कर दी जाएगी। जिसके बाद फोरलेन का कार्य शुरू होगा। हालांकि अभी इसकी प्रक्रिया काफी लंबी है। इसमें कई सालों का समय लग सकता है।

हाईवे पर जाने में नहीं लगेगा समय

अंबाला से पांवटा साहिब जाने वाले लोगों को इसका काफी फायदा मिलेगा। वहीं हिमाचल प्रदेश से आने वाले लोगों को भी इस फोरलेन का लाभ मिलेगा। इससे उन्हें जाम से भी नहीं जूझना पड़ेगा और समय भी कम लगेगा। करीब 15 किमी का अतिरिक्त चक्कर भी बचेगा। इसके साथ ही स्थानीय गांवों के लोगों को  फोरलेन बनाए जाने का सबसे अधिक लाभ मिलेगा। वह कम समय से जगाधरी पांवटा हाईवे पर पहुंचेंगे। आमतौर पर जगाधरी पांवटा साहिब हाईवे पर लक्कड़ की ट्रालियों व खनन के वाहनों की वजह से काफी भीड़ रहती है। इससे ग्रामीणों को जाम की वजह से परेशान नहीं होना पड़ेगा।
जमीनों की बढ़ जाएगी वैल्यू 

जिन गांवों से यह फोरलेन निकलेगा। उन गांवों में जमीनों की भी वैल्यू बढ़ जाएगी। इससे किसानों को भी लाभ होगा। क्षेत्र के किसान रामकरण व सुनहरा लाल का कहना है कि जब भी क्षेत्र में कोई नया प्रोजेक्ट आता है, तो उसका फायदा सभी को मिलेगा। फोरलेन से निश्चित रूप से क्षेत्र का विकास होगा। काफी समय से इसकी जरूरत यहां के लोगों को थी।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *