Connect with us

पानीपत

300 के पार खतरनाक स्तर पर पहुंचा एक्यूआइ, हवा हुई जहरीली

Published

on

Advertisement

300 के पार खतरनाक स्तर पर पहुंचा एक्यूआइ, हवा हुई जहरीली!

शहर की हवा इतनी खराब हो चुकी है कि अब एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) 300 के पार पहुंच चुका है, जो काफी खतरनाक स्तर पर है। वीरवार को पीएम 2.5 एक्यूआइ 338 रहा। शहर की जहरीली हवा होने का मुख्य कारण सड़कों पर 6 हजार से ज्यादा ऑटो सड़कों पर दौड़ रहे हैं। इसमें दो हजार ऑटो चालकों के पास ही पूरे कागजात हैं और बाकी सभी अवैध रूप से चल रहे हैं। इसका असर हवा की गुणवत्ता पर पड़ता है।

ट्रैफिक पुलिस प्रशासन ने शहर में ऑटो चालकों को अपने पूरे कागजात तैयार कर अनुमति लेने को कहा था। अभी तक चार हजार ऐसे ऑटो हैं, जिनके पास पूरे कागजात नहीं हैं। शहर को प्रदूषण फैलाकर एयर क्वालिटी को खराब कर रहे है। अब ऑटो चालकों के पास पूरे कागजात है। उनके ऑटों पर स्टीकर लगाए जा रहे हैं जिनसे यह पता चल सके कि यह ऑटो वैध है। ये हैं एयर क्वालिटी का मानक

Advertisement
300 के पार खतरनाक स्तर पर पहुंचा एक्यूआइ, हवा हुई जहरीली

एक्यूआई : 0-50 अच्छा स्तर, 51-100 औसत, 101-200 मॉडरेट, 201-300 खराब, 301-400 बहुत खराब व 400 से अधिक एक्यूवाई लोगों के स्वास्थ्य के लिए काफी खराब। इन चार जिलों में सबसे खराब हवा

जिले का नाम एक्यूआई मानक स्तर

Advertisement

पानीपत 338

फरीदाबाद 334

Advertisement

गुरुग्राम 246

भिवानी 232

पिछले दो दिन से आंधी आने से हवा एक्यूआइ का मानक स्तर खराब स्थिति में पहुंचा गया है। अच्छी हवा के लिए पानी का छिड़काव हो या फिर बारिश से हवा साफ हो सकती है।

– कमलजीत, क्षेत्रीय अधिकारी पानीपत शहर में छह हजार से अधिक ऑटो सड़कों पर दौड़ रहे है। इसमें दो हजार ऑटो चालकों ने ही अपने ऑटो के कागजात जमा करवाए हैं। नाके लगाकर उनके चालान किए जा रहे हैं।

– विकास कुमार, ट्रैफिक पुलिस इंचार्ज पानीपत सिटी

 

 

 

Source : Jagran

 

Advertisement