Connect with us

City

Bharatmala Project: भारतमाला परियोजना के तहत करनाल में बनेगा रिंग रोड

Published

on

Advertisement

Bharatmala Project: भारतमाला परियोजना के तहत करनाल में बनेगा रिंग रोड, 34.50 किमी का होगा लंबा, 23 गांवों से गुजरेगा

करनाल जिले में प्रस्तावित रिंग रोड का काम दिसंबर माह में शुरू होने की पूरी उम्मीद बन गई है। क्योंकि सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार की भारतमाला परियोजना के तहत बनने वाले इस रिंग की डीपीआर लगभग तैयार हो गई है, जो केंद्र व राज्य सरकार से अनुमोदित होनी। इसके बाद नवंबर तक इस कार्य का टैंडर लगा दिया जाएगा। जबकि दिसंबर तक रिंग रोड का कार्य शुरू हो सकता है। जमीन अधिग्रहण का काम भी पूरा हो चुका है।

करनाल में दिसंबर से रिंग रोड का काम शुरू हो जाएगा।

Advertisement

अब विभिन्न विभागों को निर्देश दिए हैं कि रिंग रोड से संबंधित अपने अपने महकमे के काम पूरा कर लें। बिजली विभाग कहा गया है कि वह बिजली लाइन व पोल शिफ्टिंग के जल्द से जल्द एस्टीमेट तैयार करके एनएचएआइ को भेजें। लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता यदि किसी का मकान या फैक्ट्री आती है तो उसका एस्टीमेट तैयार करे। ताकि संबंधित व्यक्ति को उसका मुआवजा दिलवाया जा सके।

क्या है करनाल रिंग रोड परियोजना

Advertisement

करनाल रिंग रोड साढे 34 किलोमीटर लंबा होगा और यह जिले के 23 गांवों से होता हुआ जाएगा। इसके लिए 219 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण का कार्य लगभग पूरा हो गया है। इसके बाद नवम्बर माह में अवार्ड किए जाएंगे और 2021 के अंत तक प्रोजेक्ट के निर्माण का काम शुरू होकर 24 से 30 महीनो में मुकम्मल हो सकता है। इसकी अलाइन्मेंट यानि मार्गरेखा लगभग फाइनल है। भूमि अधिग्रहण और यूटिलिटि शिफ्टिंग के कार्यों पर जितना खर्च आएगा, वह केन्द्र व राज्य सरकार दोनों की तरफ से आधा-आधा होगा।

कहां से कहां तक होगा करनाल रिंग रोड

Advertisement

उपायुक्त निशांत यादव ने बताया कि करनाल रिंग रोड छह लेन का बनेगा, जिसकी चौड़ाई करीब 60 मीटर होगी। करनाल के पश्चिम में शामगढ़ के साथ लगते विवान होटल के आस-पास से यह मार्ग शुरू होकर गांव दरड़ से नेवल, शेखपुरा, गंजोगढ़ी से होते कुटेल के पास टोल प्लाजा तक जाएगा। रिंग रोड की दूसरी अलाइन्मेंट नेशनल हादवे से गुजरती पश्चिमी यमुना नहर की पटरी पर बनी सड़क जो कैथल रोड को क्रास करती आगे बड़ौता गांव तक जाएगी और वहां से खरकाली, झिमरहेड़ी होते एनएच-44 को क्रास करते रिंग रोड को मिलेगी।

रिंग रोड परियोजना में आएंगे यह गांव

उपायुक्त ने बताया कि इस परियोजना में, नीलोखेड़ी के गांव शामगढ़, दादूपर, झंझाड़ी, कुराली, दरड़, सलारू, टपराना, दनियालपुर व नेवल तथा करनाल के गांव कुंजपुरा, सुभरी, छपराखेड़ा, सुहाना, शेखपुरा, रावंर, गंजोगढ़ी, बड़ौता, कुटेल व ऊंचासमाना तथा घरौंडा के गांव खरकाली, झिमरहेड़ी, समालखा व बिजना सहित कुल 23 गांव आएंगे।

रिंग रोड प्रोजेक्ट में शामिल है लाजिस्टिक पार्क

उपायुक्त ने बताया कि इस परियोजना में करीब 50 हेक्टेयर क्षेत्र में गंजोगढ़ी गांव के पास एक लाजिस्टिक पार्क बनाया जाना प्रस्तावित है, जिसमें मैकेनाइज्ड वेयर हाउस और कोल्ड स्टोर बनेंगे।

Advertisement