Connect with us

City

बड़ी खबर: हरियाणा में बढ़ाया गया गुटखा और पान मसाला पर बैन

Published

on

Advertisement

बड़ी खबर: हरियाणा में अब इतने समय के लिए और बढ़ाया गया गुटखा और पान मसाला पर बैन

हरियाणा में गुटखा और पान मसाला पर प्रतिबंध 1 साल के लिए और बढ़ा दिया गया है. हरियाणा सरकार ने प्रतिबंध की अवधि 1 साल और बढ़ाये जाने को लेकर आदेश जारी कर दिए हैं. हरियाणा में गुटखा और पान मसाला (Gutkha and Pan Masala in Haryana) के निर्माण भंडारण और वितरण पर एक साल तक के लिए पाबंदी (Ban) रहेगी. ये आदेश राज्य के सभी जिला उपायुक्त, सभी पुलिस अधीक्षक, सभी सिविल सर्जन, सभी पदाभिहित अधिकारियों व सभी खाद्य एवं सुरक्षा अधिकारी को जारी किए गए हैं.

Advertisement

बता दें कि 7 सितंबर 2020 को खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम, 2006 के अंतर्गत निर्मित खाद्य सुरक्षा एवं मानक (विक्रय प्रतिरोध और निर्बंधन) नियम, 2011 के विनियम 2.3.4 के अनुसार किसी खाद्य उत्पाद में संघटकों के रूप में तंबाकू व निकोटिन (गुटका, पान मसाला) के उपयोग पर विभाग द्वारा 1 वर्ष के लिए प्रतिबंध लगाया गया था. अब खाद्य सुरक्षा विभाग हरियाणा के आयुक्त ने इन आदेशों को आगामी 1 वर्ष के लिए स्वीकृति प्रदान कर दी है.

अब 7 सितंबर 2021 से 7 सितंबर 2022 तक हरियाणा राज्य के किसी खाद्य उत्पाद में संघटकों के रूप में तंबाकू व निकोटिन (गुटका, पान मसाला) के निर्माण, भंडारण और वितरण पर प्रतिबंध रहेगा. अब गुटका व पान मसाला में तंबाकू व निकोटिन का पाया जाना कानूनी अपराध है. कोई भी व्यक्ति तम्बाकू व निकोटिन युक्त खाद्य पदार्थ का निर्माण, भंडारण व बिक्री करता है तो उसके खिलाफ खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के तहत कार्रवाई की जाएगी.

Advertisement

दिल्ली में भी लगी थी रोक

बता दें कि हरियाणा से सटे दिल्ली में भी पिछले साल तंबाकू और तंबाकू से बने उत्पादों पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई थी. दिल्ली सरकार ने चबाने वाले तंबाकू और उससे बने उत्पादों को प्रतिबंधित उत्पादों की दायरे में शामिल किया था. दिल्ली में ये आदेश जुलाई 2020 में लागू की गई थी.

Advertisement
Advertisement