Connect with us

पानीपत

पानीपत में भाजपा की पार्षद पर केस, कांग्रेस नेता बरसे, सियासत यूं चल रही

Published

on

Advertisement

पानीपत में भाजपा की पार्षद पर केस, कांग्रेस नेता बरसे, सियासत यूं चल रही

 पानीपत के वार्ड तीन की पार्षद अंजली शर्मा पर पटाखे बेचने, पुलिस से बदसुलूकी करने के आरोप में केस दर्ज हुआ है। भाजपा की पार्षद हैं अंजली शर्मा। भाजपाई तो अंजली के समर्थन में आगे नहीं आए, कांग्रेस के बड़े नेता जरूर अंजली का साथ दे रहे हैं। यहां तक कह रहे हैं कि भाजपा का नारा है बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ। ये तो अपनी ही पार्षद  पर केस दर्ज करा रहे हैं। अंजली ने पटाखे नहीं बेचे। अंजली के साथ तो बदसुलूकी हुई है। उसी पर केस दर्ज कर लिया गया।

Advertisement

पानीपत के फतेहपुरी चौक पर हुआ हाईवोल्‍टेज ड्रामा।

दीवाली की रात पानीपत के फतेहपुरी चौक के पास पुलिस पटाखे बेचने वालों को पकड़ रही थी। दरअसल, पटाखे चलाने और बेचने पर प्रतिबंध लगाया हुआ था। डीसी के आदेश पर तहसील कैंप चौकी इंचार्ज बलजीत सिंह निरीक्षण कर रहे थे। उसी दौरान उन्‍होंने पटाखों का एक स्‍टाल देखा। यहां पर पार्षद अंजली के पिता पूर्व पार्षद हरीश शर्मा भी पहुंच गए।

Advertisement

जब पुलिस पटाखों को जब्‍त करने लगी तो हरीश शर्मा ने कहा कि यह उनके पटाखे हैं। वीडियो वायरल हो गया। इसके बाद अंजली शर्मा भी पहुंच गई। हाईवोल्‍टेज ड्रामे का परिणाम ये निकला कि पुलिस ने हरीश शर्मा, उनकी बेटी अंजली शर्मा सहित दस को नामजद करते हुए कई लोगों को केस में शामिल कर लिया। दूसरी तरफ अंजली शर्मा का कहना है कि पुलिसकर्मी ने उनके साथ धक्‍कामुक्‍की की। उनके साथ दुर्व्‍यवहार किया। पुलिसकर्मी पर केस दर्ज करने की बजाय, उन्‍हीं पर केस दर्ज कर लिया।

 

Advertisement

कांग्रेस क्‍यों साथ दे रही

तहसील कैंप, खासकर वार्ड तीन में हरीश शर्मा का बड़ा वोट बैंक हैं। वैसे तो हरीश शर्मा भाजपा से जुडे़ हैं। लेकिन उनकी खुद की छवि ऐसी है कि आजाद लड़कर भी जीत चुके हैं। इस बार उनकी बेटी अंजली शर्मा ने  भाजपा के चुनाव निशान पर पार्षद का चुनाव लड़ा और जीती भी। तहसील कैंप के वोट बैंक, हरीश शर्मा को साथ जोड़ने के लिए कांग्रेस के पास एक मौका है। अगर हरीश शर्मा खेमा बदलते हैं तो कांग्रेस को बड़ी कामयाबी मिल सकती है।

बुल्‍ले शाह ने कसा तंज

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता बुल्‍ले शाह का कहना है कि भाजपा तो बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा देती है। इसके बाद अपनी ही पार्षद बेटी पर केस भी दर्ज करवा देती है। ऐसा कैसे हो सकता है कि भाजपा की जिला अध्‍यक्ष डा अर्चना गुप्‍ता को मामले की जानकारी ही न हो। इसका मतलब तो जिला अध्‍यक्ष को भी कुछ नहीं समझा जा रहा।

 

समर्थन में व्‍यापार मंडल 

हरियाणा व्‍यापार मंडल के जिला अध्‍यक्ष एवं कांग्रेस नेता सुरेश बवेजा का कहना है कि हरीश शर्मा और उनकी बेटी पर केस दर्ज करके पुलिस ने ठीक नहीं किया। पूरे शहर में पटाखे बिक रहे थे। वहां तो पुलिस नहीं पहुंची। हरीश शर्मा को फंसाया जा रहा है। वह हरीश शर्मा के साथ हैं।

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *