Connect with us

पानीपत

ऑक्सीजन की सांसें भी धीमी 328 गंभीर मरीजों को नहीं मिल पा रहा पूरा फ्लो, 500 सिलेंडर सरकार से तुरंत देने की मांग

Published

on

Advertisement

ऑक्सीजन की सांसें भी धीमी 328 गंभीर मरीजों को नहीं मिल पा रहा पूरा फ्लो, 500 सिलेंडर सरकार से तुरंत देने की मांग

 

हे सरकार! कुछ करिए। प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों के मरीजों की सांसें संभाल रहे पीजीआईएमएस प्रबंधन के हाथ अब खड़े हो रहे हैं। रविवार रात करीब 11 बजे पीजीआईएमएस प्रबंधन ने साफ किया कि वे अब कोरोना के नए मरीजों को भर्ती करने में असमर्थ हैं। प्रबंधन को इसका खेद है। पीजीआईएमएस में कोरोना के 328 गंभीर मरीज भर्ती हैं।

Advertisement
  • ‘लड़खड़ाते हाथों’ से रात 11 बजे पीजीआई ने बिगड़ते हालातों पर जारी किया खेद पत्र

प्रति मिनट में 40 से 60 किलोलीटर ऑक्सीजन की खपत बनी हुई है। सभी मरीजों को हाई फ्लो में ऑक्सीजन चढ़ाई जानी है, लेकिन लिक्विड गैस के टैंक का फ्लो कम होने के चलते हर गंभीर मरीज को सिलेंडर से भी सहारा देना पड़ रहा है। हिसार प्लांट से आने वाले सिलेंडर नहीं पहुंचे हैं। रविवार रात तक बचे हुए सिलेंडर भी यूज कर लिए गए।

प्रबंधन ने सरकार को पत्र लिखकर तत्काल भिवाड़ी से मिलने वाले 7 किलोलीटर प्रति दिन के लिक्विड ऑक्सीजन कोटे को 15 किलोलीटर प्रतिदिन करवाने की मांग की है। 500 सिलेंडर तत्काल मुहैया करवाने की गुहार भी लगाई है। ताकि गंभीर मरीजों के सूखते फेफड़ों में जान डाल सकें।

Advertisement

प्रबंधन का कहना है कि जब तक ऑक्सीजन की सप्लाई पूरी तरह सुचारू नहीं हो पाएगी, तब तक नए बेड की व्यवस्था भी नहीं बन पाएगी। हालांकि कड़ी जद्दोजहद कर पीजीआईएमएस में भिवाड़ी से ऑक्सीजन का कोटा तो दूसरे दिन पहुंच गया, लेकिन टैंक की क्षमता से कम आई गैस के चलते इसका फ्लो मरीजों तक बराबर नहीं पहुंच पा रहा है। वहीं हेल्थ वर्करों के संक्रमित होने का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। अब तक 401 संक्रमित हो चुके हैं।

भास्कर अपील

Advertisement

जिले के 8 निजी अस्पताल भर चुके हैं, केस बढ़ रहे हैं, जानें जा रही हैं, इसलिए जरूरी होने पर ही घर से निकलें, मास्क न भूलें

मरीजों के लिए अब सिलेंडर नहीं बचे हैं

पीजीआईएमएस की एमएस डॉ. पुष्पा दहिया ने बताया कि अभी पीजीआईएमएस में नए मरीजों के एडमिशन पूरी तरह बंद कर दिए गए हैं। जब तक ऑक्सीजन पूरी तरह से नहीं आती है, तब तक हमारे पास किसी नए मरीज का एडमिशन नहीं किया जा सकेगा।

हिसार से आने वाले सिलेंडर भी नहीं मिल रहे हैं। मरीजों के लिए सिलेंडर पूरी तरह खत्म हो चुके हैं। प्रशासन को सूचित कर दिया है। ऑक्सीजन की ज्यादा खपत बढ़ गई है। अब 500 सिलेंडर की डिमांड भेजी है। साथ ही 15 किलोलीटर तक कोटा बढ़ाने की मांग की है। सरकार को पत्र लिख दिया है।

इधर 150 नए केस, इनमें 31 स्टूडेंट, 1129 अब भी होम आइसोलेशन में करा रहे इलाज

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में मरीजों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। रविवार को 150 नए केस सामने आए हैं। इनमें 31 स्टूडेंट्स भी शामिल हैं। समाजसेवी उद्योगपति राजेश जैन भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इन बढ़ते केस के बीच एक अच्छी खबर भी है कि 131 मरीज ठीक भी हो गए हैं।

अब पॉजिटिव होने की दर 4.28 फीसदी तक पहुंच चुकी है। अब जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या 1158 तक पहुंच गई है। इनमें से 29 गंभीर हैं और 1129 को होम आइसोलेशन में रखा गया है। हालांकि मौतों का आंकड़ा 176 पर ही टिका है। दूसरी ओर प्रशासन ने ऑक्सीजन को लेकर पुरानी आईडीसी में इसका डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर बनाया है। यहां पुलिस की एक गार्द तैनात की गई है।

  • 15,068 जिले में अब तक पाॅजिटिव मिले हैं
  • 13,734 कुल रिकवर हो घर लौट चुके हैं
  • 176 मौतें अभी तक हो चुकी हैं जिले में

टीका लगाकर करें खुद का भी बचाव

डीसी कैप्टन मनोज कुमार ने कहा है कि सरकार ने आगामी 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र के प्रत्येक व्यक्ति को कोरोना वैक्सीन लगाने का निर्णय लिया है। महामारी से संबंधित जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर 1075 जारी किया गया है, जिस पर डायल करके जानकारी ली जा सकती है।

बेदर्द रविवार को ‘छुट्टी’ की लाशें, 1 दिन में 28 का संस्कार, रिकॉर्ड में कोई मौत नहीं

जिले में रविवार को कोरोना से मरने वालों की संख्या का भी पुराना रिकॉर्ड टूट गया। रविवार के दिन छुट्टी की लाशें श्मशान घाटों में पहुंची। शहर के दोनों श्मशान घाट में एक ही दिन में पहली बार 28 शव जलाए गए। जबकि सरकारी रिकॉर्ड में कोरोना पॉजिटिव की शून्य मौत दर्शाई गई है।

अन्य जिलों व राज्यों के हैं 18 शव: वहीं अन्य जिलों व राज्यों से 18 लाशों का रोहतक के दो श्मशान घाट में कोविड प्रोटोकॉल से अंतिम संस्कार किया गया। इनमें दिल्ली से 5, सोनीपत से चार, गोहाना से एक, चरखी दादरी से एक, बहादुरगढ़ से दो, रेवाड़ी से एक, महम से एक, गुरुग्राम से दो, झज्जर से एक शव का संस्कार किया गया। इनमें से 4 लोगों की मौत रोहतक के निजी अस्पतालों में ही हुई है।

जिले के 10 लोग जिनका अंतिम संस्कार हुआ

  • जगदीश कॉलोनी से युवक
  • पेच परसराम से पुरुष
  • श्रीनगर से 70 वर्षीय महिला
  • रूप नगर से 65 वर्षीय महिला
  • बाबरा मोहल्ला से पुरुष
  • विशाल नगर से युवक
  • जसिया से 50 वर्षीय महिला
  • हाउसिंग बोर्ड से युवक
  • सेक्टर 2 से 77 वर्षीय बुजुर्ग
  • डीएलएफ कॉलोनी से महिला
  • जिले के दो श्मशान घाट में रोहतक के 10 लोगों के शवों का काेविड प्रोटोकॉल के तहत दाह संस्कार किया गया।
  • 07 किलोलीटर का कोटा अभी राजस्थान के भिवाड़ी प्लांट से पीजीआईएमएस को मिल रहा है।
  • 15 किलोलीटर प्रतिदिन का कोटा भिवाड़ी से दिलाने के लिए प्रबंधन ने सरकार को पत्र लिखा है। 500 सिलेंडर तत्काल मुहैया कराने की भी मांग की है।

धैर्य बनाएं रखें, अच्छी खबर है रिकवरी सुधरी, 6 दिन में 786 मरीज ठीक हुए

जिलावासियों के लिए अच्छी खबर है कि अब रिकवरी रेट भी सुधर रहा है। मात्र 6 दिन में ही जिले में 786 मरीज ठीक भी हुए हैं। इसलिए कोरोना की चेन तोड़कर ही इस सुखद खबर को जारी रखा जा सकता है।

Source : Bhaskar
Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *