Connect with us

City

फर्जी फूड इंस्पेक्टर बन फैक्ट्री पहुंचे जीजा साला, सस्ते राशन के बहाने ठगे

Published

on

Advertisement

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के फर्जी इंस्पेक्टर व क्लर्क बन 2 युवकाें ने फैक्ट्री मैनेजर से 38 हजार रुपए की ठगी कर ली। ठगों ने मैनेजर काे श्रमिकाें के बीपीएल कार्ड बनाकर आधे रेट में राशन दिलाने का वादा किया। 11 श्रमिकाें के आधार कार्ड की काॅपी ली और 38 हजार रुपए ठग लिए। राशन के लिए मैनेजर गाड़ी निकलवाने लगे, इतने में ठग रुपए लेकर फरार हाे गए। सीसीटीवी देखे ताे उनकी बाइक का नंबर मिला।

नंबर से घर का एड्रेस मिला ताे मैनेजर व फैक्ट्री मालिक घर पहुंचे। तब पता चला कि ये जीजा-साला हैं और इसी तरह से ठगी करते हैं। फैक्ट्री मैनेजर ने एक नामजद व अज्ञात पर किला थाना में केस दर्ज कराया है। झारखंड के जामताड़ा निवासी अनिल कुमार 5 साल से भैंसवाल स्थित गणपति हाेम फर्निसिंग फैक्ट्री में मैनेजर कम इंजीनियर है। उन्हाेंने बताया कि 23 सितंबर काे वह मालिक दीपक दहिया के साथ ऑफिस में थे।

Advertisement

करीब एक बजे बाइक पर दाे युवक आए। एक ने खुद काे खाद्य एवं आपूर्ति विभाग का इंस्पेक्टर व दूसरे ने लिपिक बताया। कहा कि उनकी ड्यूटी फैक्ट्रियाें में बीपीएल कार्ड बनाने में लगी है। मैनेजर ने 11 श्रमिकाें के आधार कार्ड की काॅपी दे दी। 86 हजार रुपए का राशन 38 हजार में दिलाने का झांसा दिया और सामान की लिस्ट दी और कहा कि पक्की रसीद देंगे और अभी गाड़ी लेकर चलाे। विश्वास जीतने के लिए फर्जी इंस्पेक्टर ने कथित डीएफएससी से फाेन पर बात कराई।

आराेपी की मां बाेली- बेदखल कर रखा है
मैनेजर ने बताया कि बाइक के नंबर के आधार पर एक आरोपी के घर अर्जुन नगर में पहुंचे। तब उसकी पहचान राजू पुत्र कृष्ण के रूप में हुई। पीड़ित सर्वे वाले बनकर आराेपी के घर पहुंचे ताे वहां केवल मां रह रही है। बाेली- बेटा की गतिविधियां ठीक नहीं हैं, इसलिए उसे बेदखल कर रखा है। बाद में पता चला कि ठगी करने वाले जीजा व साले थे।

Advertisement

पड़ाेसियाें ने बताया कि इनके घर पर राेजाना पुलिस आती है। पहले भी ये ठगी कर चुके हैं। दाेनाें ने 21 जुलाई को तरावड़ी के ब्रहमकुमारी आश्रम में भी ठगी की थी। वहां आयुष्मान कार्ड और हेल्थ इंश्योरेंस के नाम पर 30 हजार रुपए ऐंठे थे। साेनीपत में भी ठगी की है।

Advertisement

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *