Connect with us

पानीपत

केबल ठीक करने के बहाने पड़ोसी की छत से घुसे चोर, 9 लाख के गहने व 40 हजार ले गए

Published

on

Advertisement

केबल ठीक करने के बहाने पड़ोसी की छत से घुसे चोर, 9 लाख के गहने व 40 हजार ले गए

 

 

Advertisement

न्यू दलबीर नगर में बदमाशों ने शातिर तरीके से चोरी की। केबल ठीक करने की बात कहकर दो चोर पड़ोसी के घर की छत से अंदर घुसे और ताले ताेड़ करीब 9 लाख रुपए के गहने और 40 हजार रुपए चुराकर वापस पड़ोसी के घर से ही चले गए। पति-पत्नी बाहर गए थे और घर पर ताला लगा था। पीड़ित ने किला थाने में केस दर्ज कराया है।

न्यू दलबीर नगर निवासी पवन कुमार पुत्र रामलाल ने बताया कि वह बरसत रोड पर एक प्राइवेट कंपनी में काम करता है। 23 फरवरी को पत्नी पिंकी को चुलकाना धाम श्याम मंदिर जाना था। सुबह करीब 9 बजे पत्नी को बस स्टैंड छोड़कर ड्यूटी पर चले गए।

Advertisement

दोपहर दो चोर आए और पड़ोसी को बोले कि केबल ठीक करनी है, इसलिए छत पर जा रहे हैं। दो घंटे बाद वापस चले गए। शाम करीब 6 बजे पत्नी घर लौटी। मेन गेट का ताला खोलकर अंदर गई तो सामान बिखरा पड़ा था। चोर अलमारी तोड़कर सोने का मंगलसूत्र, 4 जोड़ी कानों की बाली, 8 अंगूठी समेत 18 तोले सोने के गहने और चांदी की पायजेब, कटोरी, गिलास, चांद समेत आधा किलाे चांदी के गहने ले गए। पवन ने बताया कि उक्त दोनों ही चोरी करके गए हैं। क्योंकि, पड़ोसी की छत पर कोई केबल नहीं है। पड़ोसी ने भी बिना जांच के उनको छत पर जाने दिया। पुलिस ने भी उन्हेंं समझाया है।

Advertisement

इधर, कर्ज चुकाने के लिए मजदूरी कर जोड़े थे 60 हजार रुपए, चोरी

यूपी के बदायूं जिले के गांव जमालपुर निवासी देवेंद्र पुत्र रामबरम यहां भैंसवाल मोड़ पर किराए पर रहता है। देवेंद्र व उसकी पत्नी संगीता एक फैक्ट्री में काम करते हैं। देवेंद्र ने बताया कि 23 फरवरी सुबह 9 बजे वह पत्नी के साथ ड्यूटी गया था और बच्चे स्कूल गए थे। दोपहर में 13 साल का बेटा सुमित स्कूल से आया तोे कमरे का ताला टूटा था। उसने पिता को फोन कर जानकारी दी।

चोर घर से 60 हजार रुपए, 8 ग्राम की चेन, मंगलसूत्र और चांदी की पायजेब चोरी करके ले गए। पीड़ित ने बताया कि पिता के इलाज कराने व भाई की शादी करने के लिए उसने जमीन गिरवी रखकर डेढ़ लाख रुपए कर्ज ले रखा है। 3-4 माह मजदूरी करके रुपए जोड़े थे। 60 हजार रुपए देकर गिरवी रखी जमीन छुड़ानी थी, लेकिन चोर सारे पैसे चुराकर ले गए।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *