Connect with us

City

विकास की मुहिम, हरियाणा और हिमाचल को जोड़ने की नई माँग

Published

on

विकास की मुहिम, हरियाणा और हिमाचल को जोड़ने की नई माँग

हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू एवं कश्मीर, चंडीगढ़ के करीब 12 सांसदों की चंडीगढ़ में रेल अधिकारियों के साथ हुई बैठक में जनता से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा हुई। हिमाचल प्रदेश से इंडस्ट्री को हरियाणा सहित दूसरे राज्यों को जोडऩे के लिए पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री एवं अंबाला से सांसद रतनलाल कटारिया ने चंडीगढ़ वाया नारायणगढ़ होते हुए यमुनानगर तक रेल लाइन बिछाने का मामला उठाया। इसी तरह कुरुक्षेत्र से सांसद नायब सिंह सैनी ने भी कुरुक्षेत्र और यमुनानगर से जुड़े कई मुद्दे अधिकारियों के सामने रखे। बैठक में उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल, अंबाला के डीआरएम जीएम सिंह और फिरोजपुर की डीआरएम डा. सीमा शर्मा भी मौजूद रहीं।

चंडीगढ़ में हुई रेल अधिकारियों के साथ मीटिंग में मौजूद सांसद रतनलाल कटारिया।

वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने नई दिल्ली से कटरा के बीच दौड़ रही वंदे भारत एक्सप्रेस को वाया चंडीगढ़ होते हुए इसका ठहराव पठानकोट और जालंधर में करने की बात कही। इसी तरह राज्यसभा सदस्य सुखदेव सिंह ने लुधियान से वाया धुरी होते हुए जाखल तक डबल लाइन बिछाने की मांग रखी। बैठक में हरियाणा और पंजाब में कई ट्रेनों के ठहराव को लेकर एक सूची दी गई।

कुरुक्षेत्र में अंडरपास बनाने की मांग रखी

कुरुक्षेत्र से सांसद नायब सिंह सैनी ने बताया कि कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन और डोडाखेड़ी के बीच सरस्वती नदी पर पुल नंबर 215 है। आसपास कालोनी और गांव की आबादी करीब 15 हजार है। रेलवे फ्लाईओवर दूर होने के कारण लोग इसी पुल के नीचे से आवागमन करते हैं। कुरुक्षेत्र स्टेशन के नए भवन का निर्माण रुका हुआ है। भवन के निर्माण कार्य पर 11.14 करोड़ रुपये में से 73 प्रतिशत ही मिला है।

मुंबई जाने वाली ट्रेनों को वाया सहारनपुर चलाएं

सहारनपुर से सांसद हाजी फजलूर रहमान ने कहा कि जो ट्रेनें दक्षिण की ओर तथा मुंबई की ओर आती हैं उनको वाया सहारनपुर चलाया जाए। बैठक में सांसद गुरजीत सिंह औजला, संतोख सिंह चौधरी, डा. अमर सिंह, डा. किशन कपूर, जसबीर सिंह, इंदूबाला गोस्वामी, सरदार बलविंदर सिंह आदि मौजूद रहे।

सांसदों ने तारीफ भी की

कोरोना काल में राष्ट्र की सेवा करने के लिए सांसदों ने रेलवे की ओर से किए गए कार्यों की तारीफ की। सांसदों ने अपने-अपने क्षेत्र में बुनियादी ढांचे और जन सुविधाओं से जुड़ी रेलवे परियोजनाओं को उच्च प्राथमिकता देने पर जोर दिया। उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने आश्वासन दिया कि वे जल्द से जल्द इसका समाधान करवाएंगे।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *