Connect with us

City

हरियाणा में MBA, MSC और B-Tech पास बने गाड़ी चोर

Published

on

Advertisement

सीआइए वन पुलिस की टीम ने गाड़ी चोरी कर चेसी नंबर बदल बेचने वाले सात आरोपितों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों से एक करोड़ कीमत की 18 गाड़ियां बरामद की हैं। आरोपित कैथल, यमुनानगर, पिहोवा व फतेहाबाद से ही नहीं बल्कि दिल्ली से भी गाड़ियां चोरी करते थे।

बाद में देहरादून में एक गैराज मालिक को बेच देते थे। गैराज मालिक इन गाड़ियों को कैथल व हिसार में गैराज चलाने वाले युवकों के पास भेज देता था, जो गाड़ियों का चैसी नंबर बदलकर लोगों को बेचते थे। इस तरह से काफी गाड़ियों को आरोपित बेच चुके हैं। इस गिरोह से कितने और लोग जुड़े हैं और कितनी गाड़ियां चोरी कर बेची हैं इसे लेकर पुलिस आरोपितों से पूछताछ कर रही है। आरोपितों में बीटेक, एमबीए, एमएससी मैथ पास युवक शामिल हैं, जो रातों-रात अमीर बनने के लिए इस तरह गाड़ी चोरी की वारदातों को अंजाम देते थे। पुलिस ने आरोपित नरेश व कुलदीप से पांच, विशाल से आठ, परणीतपाल से दो स्विफ्ट डिजायर, संदीप से मारुति स्विफ्ट, शुभम से मारुति स्विफ्ट और गुरमीत से एक क्रेटा गाड़ी बरामद की है।

Advertisement

कैथल में कार चोर गिरोह से बरामद की गाड़ियां और चोरी के आरोपित।

इस तरह पकड़े गए आरोपित

Advertisement

शिव कालोनी करनाल निवासी शुभम को कलायत से गाड़ी चोरी मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किया था। 14 जुलाई की रात को कलायत निवासी हरीश की गाड़ी उसके मकान के सामने से चोरी हो गई थी। कलायत थाना पुलिस ने स्विफ्ट गाड़ी चोरी मामले में अज्ञात चोरों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था। जब पुलिस ने आरोपित शुभम से पूछताछ की तो वारदात का खुलासा हुआ और उसके साथ करनाल के बीरबडाला निवासी गुरमीत को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित ने खनौरी रोड कैथल से क्रेटा गाड़ी चोरी की थी। जिसके खिलाफ सिटी थाना पुलिस में मामला दर्ज किया था। जब दोनों आरोपितों से पुलिस ने पूछताछ की तो गिरोह का पर्दाफाश हुआ।

परणीत पाल का देहरादून में गैराज

Advertisement

एसपी लोकेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपित शुभम व गुरमीत को गिरफ्तार करने के बाद इस गिरोह से जुड़े जींद के संडील निवासी नरेश कुमार उर्फ काला, कैथल के देवबन निवासी कुलदीप उर्फ जेपी, हिसार के आजाद नगर निवासी विशाल कुमार, हिसार की लक्ष्मी विहार कालोनी निवासी संदीप कुमार व उत्तराखंड के देहरादून मील रोड चौक बाजार डोईवाला निवासी परणीत पाल को गिरफ्तार किया है। नरेश व कुलदीप कैथल में विशाल व संदीप हिसार में अपना गैराज चला रहे थे। जबकि परणीत पाल का देहरादून में गैराज है।

इस तरह करते थे चोरी हुई गाड़ी की हेराफेरी

गाड़ी चोरी करने का काम शुभम, गुरमीत व चेतन करते थे, चेतन अभी फरार चल रहा है। आरोपित गाड़ियां चोरी करने के बाद परणीतपाल को बेचते थे। वह कई दिनों तक अपने गैराज में गाड़ी खड़ी कर कैथल व हिसार में गैराज चलाने वाले इन आरोपितों को भेज देता था। ये बाद में चेसी नंबर बदलकर लोगों को आगे बेच देते थे। आरोपित अभी तक एक करोड़ रुपये कीमत से भी ज्यादा की गाड़ियों को बेच चुके हैं।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *