Connect with us

City

पानीपत में पटाखों से भरा कैंटर पकड़ा, अनाज मंडी में बेचने के लिए लाए गए थे

Published

on

Advertisement

पानीपत में पटाखों से भरा कैंटर पकड़ा, अनाज मंडी में बेचने के लिए लाए गए थे

क्राइम इन्‍वेस्टिगेशन एजेंसी (सीआइए-टू) ने अनाज मंडी में कैंटर को पकड़ा। इसमें 13 कट्टों में पटाखे भर रखे थे। मौके से चालक व उसके साथ बैठे युवक को काबू कर लिया गया। पुलिस पता लगाने में जुटी है कि पटाखों की खेप कहां से लाई गई थी। सेक्टर-29 थाना पुलिस ने धारा 9बी एक्सपलोसिव एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

सीआइए-टू प्रभारी इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह ने बताया कि सूचना मिली कि दो व्यक्ति कैंटर में अवैध पटाखे भरकर बेचने के लिए पानीपत अनाज मंडी आ रहे हैं। अनाज मंडी धर्मकांटे के पास नाकाबंदी कर दी गई। कुछ देर बाद कैंटर आया। रोका तो उसमें चालक उत्तर प्रदेश के जिला मेरठ की नई बस्ती, कस्बा लावड के अब्दुल रज्जाक और साथ में बैठे शादाब को काबू कर लिया। कैंटर की तलाश ली तो 13 कट्टे मिले। कट्टों में 775 सुतली बम भर रखे थे। कैंटर व पटाखों को जब्त कर लिया है।

Advertisement

पानीपत में पटाखों से भरा कैंटर पकड़ा गया।

कहां से लेकर आए थे पटाखे

Advertisement

इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपित अब्दुल रज्जाक से पूछताछ की जा रही है कि कहां से पटाखे खरीदकर लाए थे। किन लोगों को पटाखे बेचने थे। इस धंधे में और कितने लोग शामिल हैं। उन लोगों को भी काबू किया जाएगा।

पहले भी पकड़े गए थे पटाखे

Advertisement

पानीपत में पहले भी अवैध पटाखों की खेप बिकती रही है। कैंटर व ट्रकों में दूसरे सामान के नीचे पटाखे छिपाकर लाए जाते हैं। बाहरी कालोनियों में बने गोदामों में पटाखे रख दिए जाते हैं। पुलिस की कार्रवाई ढीली होने पर शहर में पटाखों को दुकानों पर बेच दिया जाता है। गत वर्ष भी थाना चांदनी बाग पुलिस ने रिसालू के पास गोदाम से भारी मात्रा में पटाखे बरामद किए थे। प्रशासन दिवाली से पहले पटाखों के बेचने के लिए स्थान तय करता है। यहीं पहर पटाखे बेचने की अनुमति होती है। इसके अलावा पटाखे बेचने पर पाबंदी होती है।

 

Advertisement