Connect with us

पानीपत

विजय सहगल से कंप्यूटर स्कैनर व प्रिंटर करने हैं बरामद, इसलिए अग्रिम जमानत याचिका खारिज

Published

on

Spread the love

विजय सहगल से कंप्यूटर स्कैनर व प्रिंटर करने हैं बरामद, इसलिए अग्रिम जमानत याचिका खारिज

पानीपत : वार्ड-8 की पार्षद चंचल के पति विजय सहगल से पुलिस को कंप्यूटर स्कैनर और प्रिंटर बरामद करने हैं। कोर्ट ने इसी आधार पर शुक्रवार को सहगल की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। दरअसल, तहसील कार्यालय के क्लर्क ने सिटी थाना में शिकायत दी थी। बताया गया विजय सहगल ने अपने पिता दौलत राम से वार्ड नंबर 12 सनौली रोड स्थित 25 गज की नगर निगम की दुकान को ट्रांसफर डीड से अपने नाम रजिस्टर करवा लिया था। सिटी थाना पुलिस ने 24 अगस्त, 2020 को विजय सहगल और उसके पिता दौलत राम पर मुकदमा दर्ज किया था।

Image may contain: 1 person, beard and closeup

एडवोकेट अंसारी ने यह कहा : इस्लाम अंसारी ने कोर्ट में कहा, मेरे क्लाइंट को झूठा फंसाया गया है। उसे नहीं पता था कि पिता जमीन के मालिक नहीं हैं। केस में एक गवाह है। क्लाइंट के खिलाफ एफआइआर राजनीति से प्रेरित है। शिकायतकर्ता पक्ष के वकीलों की कोर्ट में दलील : ट्रांसफर डीड का फायदा विजय सहगल को हुआ है। स्कैन कर कागजात बदले गए हैं, ऐसा नहीं हो सकता कि सहगल को इसकी जानकारी न हो। इन्हें मामले की पूरी जानकारी थी। फर्जीवाड़ा कर ट्रांसफर डीड के कागजात जिस कंप्यूटर-स्कैनर से तैयार किए गए, वह बरामद भी होना है। आरोपित से पुलिस हिरासत में पूछताछ जरूरी है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *