Connect with us

करनाल

पानीपत और करनाल बने हॉटस्पॉट, करनाल में हुए संक्रमण के विस्फोट की देखिए विशेष रिपोर्ट

Published

on

Advertisement

पानीपत और करनाल बने हॉटस्पॉट, करनाल में हुए संक्रमण के विस्फोट की देखिए विशेष रिपोर्ट

 

Advertisement

 

करनाल जिले में कोरोना से मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। वीरवार को कोरोना से तीन मरीजों की मौत हुई। अब तक मौत का आंकड़ा बढ़कर 60 तक पहुंच गया है। हैरान कर देने वाली बात यह है कि लगातार 12 दिन से मौत का सिलसिला नहीं रुक पा रहा है। इसे लेकर जिला प्रशासन भी ङ्क्षचतित है। इस हालात को लेकर डीसी निशांत यादव ने चिकित्सकों को सक्रियता बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। सिविल सर्जन की रिपोर्ट के मुताबिक जिले में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण से आशंकित कुल 58715 व्यक्तियों के सैंपल लिए जा चुके हैं। जबकि इनमें से 52381 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

Advertisement

अब तक कोरोना के 4804 मामले पॉजिटिव आ चुके हैं। एक्टिव केसों की संख्या भी बढ़कर 1753 तक पहुंच गई है। 2991 मरीज ठीक होकर अपने घर चले गए हैं। जिला में वीरवार को 205 केस पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें 67 केस एंटीजेन टैस्ट से तथा 138 केस आरटीपीसीआर से पाए गए हैं। अच्छी बात यह है कि वीरवार को 161 मरीज ठीक होकर अपने घर गए हैं।

जिले में लगातार 12 दिन से मौत का सिलसिला जारी

तारीख                     मौत

30 अगस्त                02

31 अगस्त                02

01 सितंबर               05

02 सितंबर               03

03 सितंबर               02

04 सितंबर               02

05 सितंबर               03

06 सितंबर               02

07 सितंबर               02

08 सितंबर               03

09 सितंबर               03

10 सितंबर              03

नोट : ये आंकड़े स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए हैं।

सिविल सर्जन डॉ. योगेश शर्मा ने कहा कि मौत का ग्राफ बढऩा ङ्क्षचता का विषय है। हमारा प्रयास है कि लोगों की जान को बचाया जाए। हमारी टीमें दिन रात कोरोना को मात देने के लिए काम कर रही हैं। लोगों से अपील है कि वह जरूरी कार्य के लिए ही बाहर निकलें, मास्क का प्रयोग करें। शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करते रहें। कोविड-19 की जांच में लापरवाही ना बरतें। लोगों को परेशानी ना हो इसके लिए केसीजीएमसीएच के अलावा नागरिक अस्पताल, सभी सीएचसी के अलावा निजी अस्पतालों को भी आरटीपीसीआर सैंपल कलेक्शन की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

 

 

 

Advertisement