Connect with us

पानीपत

कोरोना का कहर, पानीपत में पहली बार एक दिन में कोरोना 500 से ज्‍यादा केस, 5 की मौत

Published

on

Advertisement

कोरोना का कहर, पानीपत में पहली बार एक दिन में कोरोना 500 से ज्‍यादा केस, 5 की मौत

 

पानीपत में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को 519 की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इनमें एक एडीजे, पलवल में तैनात अधिकारी, कोर्ट के तीन कर्मचारी, छह पुलिसकर्मी, तीन डाक्टर और पाइट कालेज के 12 कर्मचारी संक्रमित मिले हैं। तीन महिलाओं सहित पांच मरीजों की मौत भी हुई है। बता दें कि इस माह 37 कोरोना संक्रमित दम तोड़ चुके हैं।

Advertisement

पानीपत में कोरेाना से पांच की मौत।

सिविल सर्जन डा. संजीव ग्रोवर बताया कि 188 रिकवर हुए हैं। सेक्टर 13-17 में चार व लाइन के दो पुलिसकर्मी संक्रमित हैं। ईएसआइ अस्पताल में एक डाक्टर सहित दो संक्रमित मिले हैं। डिप्टी सिविल सर्जन डा. निशि जिंदल, सिविल अस्पताल के डिप्टी एमएस डा. अमित पोरिया, वरिष्ठ चिकित्सक,निजी अस्पताल की चिकित्सक संक्रमित है। माडल टाउन में एक परिवार के पांच सदस्य संक्रमित हैं। शहर की पाश कालोनियों में सबसे अधिक पाजिटिव मरीज मिले हैं।

Advertisement

सिविल सर्जन के मुताबिक 1525 सैंपल लिए गए हैं। पानीपत में कुल पाजिटिव 16 हजार 531 केसों में से 3227 एक्टिव हैं। 12 हजार 969 रिकवर हो चुके हैं। 134 मरीज अपने बताए पते से लापता हैं। अभी तक 201 कोरोना संक्रमित दम तोड़ चुके हैं।

पाइट का स्टाफ वर्क फ्राॅम होम

Advertisement

पाइट कालेज में पाजिटिव केस निरंतर मिल रहे हैं। निदेशक राकेश तायल ने बताया कि विद्यार्थियों का आवागमन तो पहले ही बंद कर दिया था। अब स्टाफ को भी वर्क फ्राॅम होम कर दिया है।

कोर्ट कर्मचारियों के लिए सैंपल

न्यायालय के स्टाफ सदस्य भी संक्रमित मिलते रहे हैं। शुक्रवार को भी एक एडीजे और तीन कर्मचारियों की रिपोर्ट पाजिटिव मिली है। स्वास्थ्य विभाग ने 77 कर्मचारियों के स्वाब सैंपल लिए हैं। बाकी के सैंपल सोमवार को लिए जाएंगे।

मौत नंबर एक

आठ मरला निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति 20 अप्रैल को रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आई थी। मरीज एक निजी अस्पताल में भर्ती थी। शुक्रवार को कल्पना चावला मेडिकल कालेज के लिए रेफर किया गया। एंबुलेंस से ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया।

मौत नंबर दो

नूरवाला निवासी 70 वर्षीया महिला की 18 अप्रैल को रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। कोरोना के लक्षण होने के कारण उन्हें खानपुर मेडिकल कालेज रेफर किया गया था। 22 अप्रैल की शाम को मौत हो गई।

मौत नंबर तीन

गांव मडाना निवासी 71 वर्षीया महिला को बुखार-खांसी और श्वास लेने में दिक्कत थी। उन्हें सिविल अस्पताल से पीजीआइ रोहतक रेफर किया गया था। 21 अप्रैल को मरीज ने दम तोड़ दिया।

मौत नंबर चार

विद्यानंद कालोनी वासी 65 साल के पुरुष को कोरोना जैसे लक्षण थे। स्वाब सैंपल की रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। 18 अप्रैल को पीजीआइ रोहतक रेफर किया गया। 19 अप्रैल को मरीज ने दम तोड़ दिया।

मौत नंबर पांच

कृष्णानगर निवासी 48 साल की महिला की कोरोना जैसे लक्षणों के कारण 22 अप्रैल को मौत हुई थी। मृतका के स्वाब सैंपल लिए गए थे। 23 अप्रैल को रिपोर्ट पाजिटिव आई। कोविड-19 गाइडलाइन के मुताबिक सभी शवों के अंतिम संस्कार कराए हैं।

इस वर्ष ऐसे घटा-बढ़ा कोरोना

जनवरी में 223 केस, दो मौत

फरवरी में 167 केस, दो मौत

मार्च में 783 केस, सात मौत

अप्रैल 23 तक 4842 केस, 37 मौत

टायर चोरी करने का प्रयास

सिविल अस्पताल में अस्थाई पुलिस पोस्ट बेशक खुली हो,अपराधिक गतिविधियां रुक नहीं रही हैं।मलेरिया विभाग कार्यालय के बाहर खड़ी बुलेरो गाड़ी के चोरों ने टायर चोरी करने का प्रयास किया। पत्थर की बैंच तोड़कर जैक बनाया गया। गनीमत रही चोर अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो सके। तीन दिन पहले स्वाब सैंपल देने आए युवक से डाक्टर से अभद्रता की थी।

 

गाइडलाइन के तहत इनका भी अंतिम संस्कार

-दिल्ली पालम वासी 70 वर्षीया महिला।

-गांव सिवाह निवासी एक महिला।

-विशाल नगर सोनीपत वासी पुरुष।

-दिल्ली मुखर्जी नगर निवासी पुरुष।

-दिल्ली हरिनगर निवासी पुरुष।

-दिल्ली नेहरू एंकलेव निवासी पुरुष ।

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *