Connect with us

Uncategorized

महाराष्ट्र में 2 दिन नहीं लगेगी वैक्सीन, दिल्ली समेत 5 राज्यों में साइड इफेक्ट के करीब 100 मामले

Published

on

Advertisement

पहले दिन 1.91 लाख लोगों को वैक्सीन लगी, सिर्फ 100 में साइड इफेक्ट, इनमें 52 दिल्ली के

दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भारत में शनिवार से शुरू हुआ। कोरोना के खिलाफ लड़ाई को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत की थी। इसी बीच महाराष्ट्र में 17 और 18 जनवरी को टीकाकरण नहीं किया जाएगा। वहीं, ओडिशा में भी पहले दिन वैक्सीनेशन में हिस्सा लेने वाले लाभार्थियों की मॉनिटरिंग के लिए रविवार को टीका नहीं लगाया गया।

उधर, वैक्सीन के साइड इफेक्ट के मामले भी सामने आने लगे हैं। पहले दिन दिल्ली में 52, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल में 14-14, तेलंगाना में 11 और ओडिशा में 3 एडवर्स इवेंट्स फॉलोइंग इम्युनिशन (AEFI) के मामले सामने आए। शनिवार को कुल 1.91 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई गई, जिसमें से 100 यानी सिर्फ 0.05% लोगों में साइड इफेक्ट दिखा।

Advertisement

 

ये लक्षण देखने को मिले

Advertisement
  • दर्द
  • चक्कर आना
  • पसीना आना
  • सीने में भारीपन

महाराष्ट्र: 17 और 18 जनवरी को वैक्सीनेशन नहीं
महाराष्ट्र में 17 और 18 जनवरी को कोरोना के टीके नहीं लगाए जाएंगे। कोविन ऐप में गड़बड़ी की वजह से वैक्सीनेशन रुकने की अटकलों पर राज्य के हेल्थ डिपार्टमेंट ने बताया कि रविवार और सोमवार को राज्य में वैक्सीनेशन की कोई योजना नहीं थी। यहां अगले हफ्ते से केंद्र की गाइडलाइन के मुताबिक कोरोना के टीके लगाए जाएंगे।

हालांकि पहले दिन Co-WIN ऐप में तकनीकी समस्या की वजह से ही कई वैक्सीनेशन के लाभार्थियों तक मैसेज नहीं पहुंचा, जिस वजह से राज्य में पहले दिन टारगेट से आधे लोगों को ही टीका लगाया जा सका। यहां 14 लोगों में साइड इफेक्ट देखने को मिला।

Advertisement

दिल्ली: साइड इफेक्ट के 52 मामले सामने आए
दिल्ली में वैक्सीनेशन के पहले दिन साइड इफेक्ट के 52 मामले सामने आए। इनमें से एक मामला गंभीर पाया गया। दिल्ली सरकार के मुताबिक, नॉर्थ दिल्ली में एक, साउथ-ईस्ट दिल्ली में 5 और नॉर्थ-वेस्ट दिल्ली में 4 साइड इफेक्ट के मामले सामने आए। इसी तरह ईस्ट दिल्ली में 6, सेंट्रल दिल्ली में 2, साउथ दिल्ली में 11, नई दिल्ली में 5, साउथ-वेस्ट दिल्ली में 11 और वेस्ट दिल्ली में साइड इफेक्ट के 6 मामले सामने आए। गंभीर साइड इफेक्ट का मामला साउथ दिल्ली में रिपोर्ट किया गया।

पश्चिम बंगाल: पहले दिन 15 हजार से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगी
पश्चिम बंगाल में पहले दिन 15 हजार 707 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई। इनमें से 14 लोगों में वैक्सीन के साइड इफेक्ट देखने को मिले। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, एक की हालत गंभीर भी हुई थी, हालांकि बाद में उनकी हालत में सुधार हो गया था।

राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार से अपील की थी कि वे सिर्फ फ्रंट लाइन वर्कर हीं नहीं, बल्कि राज्य के सभी लोगों के लिए पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन मुहैया कराएं।

तेलंगाना: 11 लोगों में साइड इफेक्ट दिखा
तेलंगाना में वैक्सीनेशन के पहले दिन 11 लोगों में हल्के साइड इफेक्ट देखने को मिले। राज्य के 33 जिलों के 140 सेंटर्स पर वैक्सीनेशन किया गया। इस दौरान 4,296 लोगों को वैक्सीन का डोज दिया गया। जिनमें साइड इफेक्ट दिखा, उन्हें दर्द, चक्कर आना और पसीना आने जैसी समस्याएं हुईं। हालांकि ऐसे लक्षण हर टीकाकरण अभियान में देखने को मिलते हैं।

ओडिशा: जिन्हें वैक्सीन लगी, उनकी आज मॉनिटरिंग होगी
ओडिश में रविवार को वैक्सीनेशन नहीं होगा। एडिशनल चीफ सेक्रेटरी प्रतिप्त मोहापात्रा ने बताया कि राज्य में पहले दिन वैक्सीन लगवाने वाले लोगों की मॉनिटरिंग के लिए यह फैसला लिया गया है। राज्य में पहले दिन 16 हजार 405 लोगों को वैक्सीन लगाई जानी थी, लेकिन 13 हजार 980 लोगों को ही टीका लगाया जा सका। यहां साइड इफेक्ट के 3 मामले कटक, ढेंकनाल और गजपति जिले में सामने आए।

पहले दिन टारगेट के मुकाबले 60% को ही टीका लगा
टारगेट के मुकाबले पहले दिन महज 60% लोगों को ही कोरोना वैक्सीन लगाई गई। सरकार ने पहले कहा था कि 3,006 जगहों पर 3 लाख 15 हजार 37 लोगों को टीका लगेगा। हालांकि वैक्सीन की साइट्स तो बढ़कर 3351 हो गई थीं, लेकिन यहां एक लाख 91 हजार 181 को ही टीका लगाया जा सका।

सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन वाले 15 राज्य

आंध्र प्रदेश 16,963
बिहार 16,401
उत्तर प्रदेश 15,975
महाराष्ट्र 15,727
कर्नाटक 12,637
प. बंगाल 9,578
राजस्थान 9,279
ओडिशा 8,675
गुजरात 8,557
केरल 7,206
मध्यप्रदेश 6,739
छत्तीसगढ़ 4,985
हरियाणा 4,656
तेलंगाना 3,600
तमिलनाडु 2,728
Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *