Connect with us

विशेष

‘कोरोना वैक्सीन की बुकिंग, 500 रुपये दें जल्दी लग जाएगा टीका’, आपके पास भी आ रहे हैं ऐसे कॉल?

Published

on

Advertisement

‘कोरोना वैक्सीन की बुकिंग, 500 रुपये दें जल्दी लग जाएगा टीका’, आपके पास भी आ रहे हैं ऐसे कॉल?

 

कोरोना की वैक्सीन अभी देश में नहीं आई है। लेकिन वैक्सीन के नाम पर ठगी का खेल शुरू हो गया है। ठगों ने कोरोना वैक्सीन की बुकिंग शुरू कर दी है। साथ ही फोन कर इसके लोगों को एडवांस में रुपये भी ले रहे हैं।

 

भोपाल
कोरोना वैक्सीन की बुकिंग के नाम पर अभी से ठगी का खेल शुरू हो गया है। एमपी साइबर सेल ने इस लेकर एक अलर्ट जारी किया है। साथ ही लोगों से सावधान रहने की अपील की है। पुलिस ने अपील की है कि कोविड-19 का टीका लगवाने की बुकिंग करवाने हेतु पंजीयन करने के नाम पर धोखेबाज लोगों की आने वाली लुभावनी फोन कॉल से सचेत रहें।

Advertisement

साइबर सेल भोपाल के एएसपी रजत सकलेचा ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि साइबर धोखाधड़ी करने वाले जो आरोपी हैं, वे वर्तमान में जो चलती रहती हैं उनको बिंदु बनाकर धोखाधड़ी करते हैं। इसलिए कोरोना वायरस के टीके की पेशकश करने वाले ठगों से सावधान रहें। उन्होंने कहा कि इसी तरह की हमारे पास एक शिकायत आई है, उसमें धोखधड़ी करने वाले ठग ने फोन कर उनसे कहा है कि आप पहले से पंजीयन करवा ले। आप जल्दी पंजीयन करवाएंगे तो कम पैसे में आपका टीकाकरण हो जाएगा और अभी से 500 रुपये दे दें।

vaccine
बाद में दीजिएगा पैसा

एएसपी ने बताया कि जिसके पास यह फोन आया था, वो कॉलेज का छात्र है। उससे कहा गया कि 500 रुपये अभी दे दीजिए, उसके बाद बाकी पैसा दे दीजिए। उन्होंने कहा कि वह लड़का जागरूक था, इसलिए ठगी से बच गया है। युवक ने सारी जानकारी भोपाल पुलिस को दी है। एएसपी रजत सकलेचा ने कहा कि जब भोपाल पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि और भी इस तरह के मामले देशभर में चल रहे हैं।

Advertisement

लोगों को किया अलर्ट
सकलेचा ने बताया कि हमने एक दिशा-निर्देश भी जारी किया है कि कोविड-19 टीके के नाम पर कोई भी लिंक आ रहा है, उसे साझा न करें, बिल्कुल भी क्लिक न करें और उसे फॉलो न करें। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपके साथ धोखाधड़ी हो सकती है।

ओटीपी से कर रहे ठगी
धोखेबाज लोग कहते हैं कि जो आपके पास ओटीपी आया है, वह कोविड-19 का पंजीयन है। एएसपी ने कहा कि जबकि वह ओटीपी ट्रांजेक्शन का होता है और जैसे ही कोई इस ओटीपी को सामने वाले को दे देता है तो उसके बैंक खाते से पैसा कट जाता है। वहीं, भोपाल में ऐसा कितने लोगों के साथ हुआ है पर उन्होंने कहा कि हमारे पास अभी एक ही शिकायत आई है।

Advertisement

एएसपी सकलेचा ने कहा कि यह शिकायत एक हफ्ते पहले आई है और वह भी सूचना की तरह है। उनके साथ धोखाधड़ी नहीं हुई है। लेकिन जैसे ही हमें जानकारी मिली हमने दिशा-निर्देश जारी किया और हम लगातार इस बात का पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं कि वह आरोपी कहां का है।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *