Connect with us

Cities

Pune में Coronavirus पॉजिटिव मिले दो जमातियों का Panipat कनेक्‍शन, पांच दिन तक रुके थे यहां

Published

on

निजामुद्दीन से निकले दो जमातियों की महाराष्ट्र के पुणो में पॉजिटिव मिले हैं। दोनों जमाती सनौली खुर्द की मस्जिद में 19 से 23 मार्च तक रुके थे। खबर पाकर स्वास्थ्य विभाग सजग हो गया।

डीसी के आदेश पर सनौली खुर्द गांव को सील कर दिया गया है। विभाग की 14 टीमों ने गांव में घर-घर जाकर 5202 की स्क्रीनिंग की। टीम में शामिल डॉ. दिव्या, डॉ. रजत और डॉ. अरुण ने मस्जिदों में जाकर पूछा कि जमाती कितने दिन रुके और किन-किन से मिले थे। उनकी भी सूची तैयारी की गई है। बताया गया कि दो जमाती 15 फरवरी के आसपास आए थे। 24 मार्च को चले गए थे। डॉक्टरों के अनुसार अभी तक की जांच में किसी भी ग्रामीण में कोरोना संक्रिमत होने के लक्षण नहीं मिले हैं। इसी तरह से नौल्था गांव को भी सील करके स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने हर ग्रामीण के स्वास्थ्य की जांच की थी।

पानीपत के नहीं हैं ये लोग

पुणो में जिन दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, वे लोग महाराष्ट्र के हैं। ये लोग जमात से लौटने के बाद पानीपत में रुके थे। पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम सनौली, मस्जिदों के आठ मौलवियों को सामान्य अस्पताल लेकर पहुंची। इनमें से दो को एनसी कॉलेज इसराना भेज दिया।

50 की रिपोर्ट आनी है

सीएमओ डॉ संतलाल वर्मा ने बताया कि मंगलवार को 31 स्वाब सैंपल लिए गए। अभी तक कोरोना के 149 सैंपल लिए गए हैं। इनमें से 96 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 50 सैंपल की रिपोर्ट आनी बाकी है। होम क्वारंटाइन के तहत 674 घरों के बाहर नोटिस चस्पा किए गए हैं।

सुताना की दो महिलाओं को सामान्य अस्पताल लाया गया

सुताना व शिमला गुजरान की कुछ महिलाएं कई दिन पहले रस्म क्रिया में गई थी। वे घर लौट आई थी। इन्हीं में से सुताना गांव की दो महिलाओं को स्वास्थ्य विभाग की टीम सामान्य अस्पताल लेकर आई। यहां महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच की गई। उन्हें होम क्वारंटाइन कर दिया गया। कई पुरुष पहले से ही होम क्वारंटाइन हैं।

इस कदर बदनाम कर दिया हम घरों में जा छिपे

तब्लीगी जमातियों ने इस कदर बदनाम कर दिया है कि सेवा कार्य में जुटे इस समुदाय के युवाओं को शंका की नजरों से देखा जाने लगा। सभी घरों में छिपने लगे। समाजसेवा करने में जुटे मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना है कि सामाजिक सौहाद्र्रता बिगाड़ने की जमातियों की साजिश बेनकाब जरूर होगी। मुस्लिम समाज के कुछ युवाओं ने मंगलवार को रक्तदान किया। बताया कि वे समाज के अभिन्न अंग हैं। कोई गलत करेगा तो उसको सजा जरूर मिले। दिल्ली के निजामुद्दीन क्षेत्र में लॉकडाउन की उल्लंघना कर तब्लीगी मरकज का आयोजन किया गया। मरकज के समापन के बाद जमाती घर लौट आए।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *