Connect with us

पानीपत

बहन को गलत राह जाने से रोका तो भाई को मिली मौत, पिता ने बेटी और आशिक पर दर्ज कराया हत्‍या का केस

Published

on

बहन को गलत राह जाने से रोका तो भाई को मिली मौत, पिता ने बेटी और आशिक पर दर्ज कराया हत्‍या का केस

पानीपत में एक बहन ही अपने भाई की मौत की जिम्‍मेदार बन गई। चार बच्‍चों के बाप आशिक के साथ भाई ने जाने से रोका तो उसकी पिटाई कर दी गई। इससे इकलौते भाई की मौत हो गई। अब पिता भी बेटी का मुंह नहीं देखना चाहता।

सुनील कुमार ने पुलिस को बताया कि वह खेती करता है। उसके दो बड़ी लड़की, बेटा वंश छोटा लड़का था। वंश से बड़ी बहन करहंस के एक कालेज से बीएड कर रही है।

बुधवार सुबह 9 बजे घर से कालेज के लिए निकली थी। कुछ देर बाद गांव का नगेंद्र उर्फ कुकू भी बाइक से निकला। वंश ने पीछा किया तो बहन रास्ते में नगेंद्र की बाइक पर बैठ गई। वंश वहीं पर बहन को समझाने लगा। नगेंद्र और उसके बेटे के बीच मारपीट हुई। उसके बेटे ने फोन पर घटना की सूचना दी। नगेंद्र ने परिजनों को भी बुला लिया। वंश बेहोशी की हालत में नई अनाज मंडी स्थित गोशाला के पास झाडिय़ों में पड़ा मिला। मोबाइल पर मिली लोकेशन से परिजनों ने उसे तलाशा। उसे अस्‍पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

सुनील ने वंश के साथ मारपीट करने, फिर जहर पिलाने सहित पुलिस पर गुमराह करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि बुधवार को ही पुलिस को झगड़े की शिकायत दी थी। पुलिस ने बेटी की गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज किया। उसके बेटे को खोजने का प्रयास नहीं किया।

भड़के एसएचओ, जो लिखना है, लिख लो

एसएचओ हरविंदर सिंह एक पुरानी बात को लेकर मीडिया पर भड़क गए। उन्होंने डीएसपी के सामने ही रौब दिखाते कहा कि जो लिखना है लिख लो। यह कहकर चले गए।