Connect with us

पानीपत

पानीपत की सिंगल सड़कें ले रही जान, दो माह में हुई 91 लोगों की मौत

Published

on

Advertisement

पानीपत की सिंगल सड़कें ले रही जान, दो माह में हुई 91 लोगों की मौत

 

अक्टूबर और नवंबर माह में सड़क हादसों में जिले के 98 लोगों की जान गई है। इसमें खास बात यह है कि 98 में से 91 मौत सिंगल सड़कों पर और 7 मौत हाईवे पर हुए हादसों में हुई हैं। हादसे वाले स्थानों को चिन्हित करके इन स्थानों पर अधिकारियों को निरीक्षण के आदेश दिए गए हैं। ताकि उचित कदम उठाए जा सकें। इसके साथ लोगों से भी ट्रैफिक नियमों का पालन करने और टू-व्हीलर वाहनों पर अनिवार्य रूप से हेलमेट लगाने का आह्वान किया गया है।

Advertisement

सड़क सुरक्षा को लेकर मंगलवार को लघु सचिवालय में ADC डाॅ. मनोज कुमार ने अधिकारियाें की बैठक ली। जनवरी माह में धुंध के दौरान सड़क हादसे रोकने के लिए अफसरों ने मंथन किया। अक्टूबर और नवंबर माह में हुई सड़क दुर्घटनाओं पर चिंंता व्यक्त करते हुए कहा कि इस बारे सभी अधिकारी गंभीरता के साथ अपना कर्तव्य निभाए। ADC ने कहा कि पुलिस विभाग द्वारा प्राप्त रिपोर्ट में अक्टूबर में 44 और नवंबर में 54 मौत सड़क दुर्घटनाओं में हुई हैं। इनमें ज्यादातर मौत गांवों के लिंक रोड और सिंगल सड़काें पर हुई हैं। नवंबर में केवल 7 दुर्घटनाएं नेशनल हाईवे से जुड़ी हुई हैं। बाकी दुर्घटनाएं गांवों और स्थानीय सिटी में हुई। जहां सड़काें पर निर्माण कार्य चल रहे हैं, वहां एक सप्ताह के अंदर संकेतक लगाएं। इस संबंध RTA सचिव और SHO ट्रैफिक निरीक्षण करके रिपोर्ट देंगे।

Advertisement

यहां हुई सड़क दुर्घटनाएं
गांव डाहर, परढ़ाना, आसन, ददलाना, समालखा, सनौली, बापौली, इसराना, बिचपुड़ी, रिसालु, नांगलखेड़ी में दाे माह में ज्यादा दुर्घटनाएं हुई हैं। पसीना मोड़ पर भी दो बार दुर्घटना हो चुकी है। इन स्थानों का निरीक्षण किया जाएगा।

केस-1
लहराती ट्रैक्टर-ट्राली ने ली युवा ट्रांसपोर्टर की जान

Advertisement
सनौली रोड पर हादसे के बाद बुरी तरह क्षतिग्रस्त कार।
सनौली रोड पर हादसे के बाद बुरी तरह क्षतिग्रस्त कार।

छाजपुर खुर्द गांव का युवा ट्रांसपोर्टर अंकित बीते रविवार शाम को अपनी I-20 कार से छाजपुर से पानीपत जा रहा था। जब वह निंबरी गांव के पास पहुंचा तो आगे जा रहा ट्रैक्टर-टाली का एक चालक लहरे लेते हुए सिंगल सड़क पर चल रहा था। अंकित ने कार आगे निकालने और साइड देने के लिए कई बार होर्न बजाया, लेकिन ट्रैक्टर चालक ने नहीं सुनी। जब अंकित ने ट्रैक्टर-ट्राली को ओवरटेक करने का प्रयास किया तो कार का अगला हिस्सा लहरा रही ट्राली के पिछले हिस्से से टकरा गया। इससे अंकित की कार अनियंत्रित होकर सड़क पर कई बार पटल गई। जिससे कार की छत टूटी और अंकित की गर्दन में ज्यादा चोट आने से मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

केस-2
बाइक और ट्रैक्टर की सीधी टक्कर में वकील की मौत

कुराड़ गांव का एडवोकेट अमित देशवाल बीते गुरुवार को समालखा कोर्ट में प्रैक्टिस के बाद बाइक से घर वापस लौट रहा था। जब वह सनौली रोड पर शिमला गुजरान गांव के पास पहुंचा तो सामने से तेज गति से आ रहे एक ट्रैक्टर चालक ने बाइक में सीधी टक्कर मार दी। ट्रैक्टर चालक अमित को घायल अवस्था में छोड़कर भाग निकला। सूचना पर मौके पर पहुंची सनौली थाना पुलिस उसे घायल अवस्था में सिविल अस्पताल लेकर पहुंची, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

 

Source : Bhaskar

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *