Connect with us

विशेष

किराए का मकान और बैंक के KYC से बन रहा हैं करोड़ों का क्रेडिट कार्ड, बैंकों को आम लोगों ने लूटा

Published

on

Advertisement

किराए का मकान और बैंक के KYC से बन रहा हैं करोड़ों का क्रेडिट कार्ड, बैंकों को आम लोगों ने लूटा

स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) नोएडा ने सेक्टर-20 कोतवाली पुलिस के साथ मिलकर फर्जी दस्तावेज के जरिये क्रेडिट कार्ड प्राप्त कर करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। शुक्रवार को गिरोह के सरगना समेत चार आरोपितों को सेक्टर-16ए स्थित फिल्म सिटी के पास से गिरफ्तार किया गया है। इनके कब्जे से लाखों की नकदी, सोने के बिस्किट, क्रेडिट कार्ड व अन्य सामान बरामद किया है।

Advertisement

15 Attractive Outside Color Combinations for Indian Houses - The NoBroker Times

अपर पुलिस अधीक्षक एसटीएफ राजकुमार मिश्र ने बताया कि जितेंद्र गुलाटी उर्फ जतिन, कपूर सिंह दाहिया, त्रिलोकी नाथ शर्मा निवासी रोहिणी (दिल्ली) और कुलदीप उर्फ करन निवासी जहांगीरपुरी (दिल्ली) फर्जी दस्तावेज के जरिये क्रेडिट कार्ड प्राप्त करके लाखों रुपये की ठगी कर चुके हैं।

Advertisement

 

  1. आरोपित इसके लिए पहले सरकारी और निजी बैंक के खाताधारकों से अपने ग्राहक को जानो (केवाइसी) दस्तावेज हासिल करते थे।
  2. फिर फर्जी आइडी प्रूफ बनाकर बैंकों से उस व्यक्ति के नाम पर फर्जी पते पर क्रेडिट कार्ड जारी करवा लेते।
  3. इसके लिए आरोपित जतिन केवाइसी दस्तावेज खरीदने के लिए सहयोगी मुकेश जुनेजा को एक हजार रुपये प्रति ग्राहक देता था।
  4. गिरोह के दो सदस्य करण और त्रिलोकी नाथ ने नोएडा स्थित आइटी कंपनी में कार्यरत लोगों के नाम पर 20 से ज्यादा क्रेडिट कार्ड बनवाए हैं।
  5. कार्ड वेरीफिकेशन के लिए आरोपितों ने गुरुग्राम, करनाल (हरियाणा) व दिल्ली में किराये पर मकान ले रखा था।
  6. बैंक की ओर से वेरीफिकेशन के समय आरोपित वहां मौजूद रहते थे।

An Indian Modern House / 23DC Architects | ArchDaily

Advertisement

 

आरोपितों ने गौरव शर्मा नाम के एक व्यक्ति की फर्जी आइडी प्रूफ के सहारे अलग-अलग बैंकों से कार्ड स्वैप मशीन प्राप्त करके करीब 80 लाख की ठगी की है। अब तक करोड़ों रुपये की ठगी कर चुके हैं। इनके कब्जे से छह लाख 23 हजार रुपये नकद, 44 ग्राम सोने के सात बिस्किट, 7.28 ग्राम सोने के टॉप्स, 60 क्रेडिट कार्ड, आठ पैन कार्ड, आठ आधार कार्ड, 16 पीओएस मशीन, नौ डेबिट कार्ड, दो कार, तीन मोबाइल, एक फोनपे बार कोड बरामद हुआ है। बैंक खातों में करीब 18 लाख 50 हजार रुपये को फ्रीज किया गया है। जतेंद्र गुलाटी गिरोह का मुख्य सरगना है। आरोपित पूर्व में दो बार दिल्ली में इस मामले में जेल जा चुका है।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement