Connect with us

विशेष

दिल्ली-हरियाणा और आसपास के इलाकों में आज शाम होगी बारिश, 27 से चलेंगी शीतलहर

Published

on

Advertisement

दिल्ली-एनसीआर में छाई धुंध और बादलों के बीच मौसम विभाग ने बुधवार शाम को दिल्ली, हरियाणा और आसपास के इलाकों में बारिश होने का अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग (IMD) के अनुमान के अनुसार, अगले 2 घंटों में दक्षिण-पश्चिमी दिल्ली के अलग-अलग स्थानों और झुंझुनू, नरवाना, कैथल, कुरुक्षेत्र, जींद, शादीपुर-जुलाना, असंध और आस-पास के क्षेत्रों में हल्की तीव्रता वाली बारिश होगी।

Advertisement

वहीं, उत्तर-पश्चिम भारत में न्यूनतम तापमान में गिरावट की संभावना के कारण 27 नवंबर से 29 नवंबर के बीच पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और पश्चिम उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर शीत लहर की स्थिति रहने की संभावना है।

उज्जैन, इंदौर और जबलपुर में भारी बारिश का अलर्ट, मौसम विभाग ने दी चेतावनी

Advertisement

दिल्ली-एनसीआर में छाई धुंध और बादलों के बीच मौसम विभाग ने बुधवार शाम को दिल्ली, हरियाणा और आसपास के इलाकों में बारिश होने का अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग (IMD) के अनुमान के अनुसार, अगले 2 घंटों में दक्षिण-पश्चिमी दिल्ली के अलग-अलग स्थानों और झुंझुनू, नरवाना, कैथल, कुरुक्षेत्र, जींद, शादीपुर-जुलाना, असंध और आस-पास के क्षेत्रों में हल्की तीव्रता वाली बारिश होगी।

Advertisement

वहीं, उत्तर-पश्चिम भारत में न्यूनतम तापमान में गिरावट की संभावना के कारण 27 नवंबर से 29 नवंबर के बीच पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और पश्चिम उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर शीत लहर की स्थिति रहने की संभावना है।

दिल्ली की आबोहवा हुई खराब, वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ की श्रेणी में पहुंची

दिल्ली की वायु गुणवत्ता बुधवार सुबह ‘बहुत खराब’ से ‘गंभीर’ की श्रेणी में आ गई। राजधानी का एक्यूआई 15 नवंबर तक ‘गंभीर’ की श्रेणी में था, लेकिन इसके बाद इसमें सुधार आया और यह 22 नवंबर तक ‘खराब’ अथवा ‘मध्यम’ की श्रेणी में रहा।

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के ऐप समीर के अनुसार, शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक 401 रहा। मंगलवार को एक्यूआई 388, सोमवार को 302, रविवार को 274,शनिवार को 251 , शुक्रवार को 296 और गुरुवार को 283 रहा।

ऐसा ही हाल हरियाणा के फरीदाबाद में भी दिखा। फरीदाबाद में बुधवार को जहां नेशनल हाईवे पर प्रदूषण छाया रहा, वहीं गुरुग्राम शहर में धुंध और प्रदूषण के कारण धूप नहीं निकलने के चलते ठंड भी बढ़ गई।

उल्लेखनीय है कि शून्य से 50 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘अत्यंत खराब’ और 401 से 500 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की निगरानी प्रणाली सफर के अनुसार, बुधवार को एक्यूआई में सुधार के आसार हैं।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *