Connect with us

City

पानीपत में 3 साल बाद डेंगू बना क़हर, कोरोना के भी 2 केस

Published

on

Advertisement

पानीपत में 3 साल बाद डेंगू बना क़हर, कोरोना के भी 2 केस

पानीपत में तीन साल बाद डेंगू का कहर देखने को मिल रहा है। हर रोज डेंगू के मरीज मिल रहे हैं। सोमवार को भी 13 डेंगू मरीजों की पुष्टि हुई है। वहीं, अभी कोरोना संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है। अभी भी पानीपत में दो एक्टिव केस हैं। इसके बावजूद अस्‍पताल की अव्‍यवस्‍था से मरीजों को दो चार होना पड़ रहा है।  पानीपत सिविल अस्पताल के ओपीडी ब्लाक में रजिस्ट्रेशन विंडो के ऊपर लटकाया बोर्ड सोमवार को बता रहा था कि तीन डाक्टर छुट्टी पर हैं। नाक-कान-गला विशेषज्ञ की ड्यूटी दूसरे स्थान पर है। सीधा अर्थ, मरीजों की आफत तय थी। हुआ भी यही, करीब 300 मरीज बिना इलाज बैरंग लौट गए।

पानीपत में डेंगू के मरीज लगातार मिल रहे हैं।

Advertisement

दिन सोमवार, समय पूर्वाह्न करीब 11 बजे। रजिस्ट्रेशन विंडो पर नाक-कान-गला, त्वचा रोग, हड्डी रोग विशेषज्ञ और सर्जन की ओपीडी स्लिप नहीं बनाई जा रही थी। पूछताछ में पता चला कि चारों चिकित्सक ओपीडी में नहीं हैं। दवा विंडो पर देखा तो कतार लगी हुई थी। मेडिसिन ओपीडी के बाहर 50 से अधिक मरीज अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। इनमें अधिकांश मरीज खांसी-जुकाम-बुखार के रहे। नेत्र रोग ओपीडी में भी मरीजों की भीड़ दिखी।

गनीमत रही कि अल्ट्रासाउंड, एक्स-रे, ईसीजी सुविधा सुचारू रही। पर्चे पर लिखी लगभग सभी दवा मरीजों को अस्पताल से ही मिली। बुखार के तीस से अधिक मरीजों को खून की जांच के लिए लैब भेजा गया।

Advertisement

फ्लू कार्नर में पहुंचे 63 मरीज

मेडिसिन ओपीडी की भीड़ कम करने के लिए सिविल अस्पताल में फ्लू कार्नर खोला गया है। सोमवार को यहां भी 63 मरीज जांच के लिए पहुंचे। 12 मरीजों को डेंगू और कोरोना की जांच के लिए भेजा गया।

Advertisement

6072 ने लगवाया कोरोना रोधी टीका

वैक्सीनेशन के जिला नोडल अधिकारी डा. मनीष पासी ने बताया कि सोमवार को 6072 लाभार्थियों ने कोरोना रोधी टीका लगवाया। 18 से 44 साल आयु वर्ग में 1421 को पहली, 3263 को दूसरी डोज लगी। 45 साल या इससे अधिक आयु वर्ग में 444 को पहला और 944 को दूसरा टीका लगाया गया।

वैक्सीनेशन स्टाफ की छुट्टियां रद

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी एवं डिप्टी सिविल सर्जन डा. शशि गर्ग ने बताया कि वैक्सीनेशन में लगे स्टाफ की सरकार ने 30 नवंबर तक छुट्टियां रद कर दी हैं। इसका उद्देश्य कोरोना रोधी टीकाकरण को गति देना है। इसके अलावा शनिवार और रविवार को दो ऐसे स्थानों पर टीकाकरण शिविर लगेगा, जहां सभी की सरलता से पहुंच हो। प्रत्येक पीएचसी में शाम के कैंप भी आयोजित होंगे। पार्षदों, रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों की बैठक बुलाकर, सहयोग मांगा जाएगा।

दो केस एक्टिव

जिला में कोरोना का कोई नया मरीज नहीं मिला है। दो केस एक्टिव हैं। अब तक पाजिटिव मिले 31 हजार 114 केसों में से 30 हजार 470 रिकवर हो चुके हैं। 642 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है।

डेंगू के 13 मरीजों की पुष्टि

जिला में डेंगू का कहर बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को 13 और मरीजों की पुष्टि की है। अगस्त से अब तक 218 पाजिटिव मरीज मिल चुके हैं। मलेरिया विभाग के हेल्थ सुपरवाइजर जसमेर सिंह ने बताया कि ये केस शांतिनगर, मांडी, सींक, कचरौली और सेक्टर-12 व समालखा एरिया में मिले हैं।

घटते-बढ़ते रहे डेंगू केस

2016- 12

2017-469

2018-133

2019- 04

2020-272

2021-218 ( 22 नवंबर तक)

 

Advertisement