Connect with us

पानीपत

पानीपत सहित 10 जिलों में बनेंगे नशामुक्ति केंद्र : ओमप्रकाश यादव

Published

on

Advertisement

पानीपत सहित 10 जिलों में बनेंगे नशामुक्ति केंद्र : ओमप्रकाश यादव

प्रदेश को नशामुक्त प्रदेश बनाना है। पानीपत सहित अलग-अलग 10 जिलों में नशामुक्ति केंद्र खोलने की योजना है। फिलहाल सभी जिलों में जगह तलाशी जा रही है। विधवा, बुढ़ापा, दिव्यांग पेंशन के लिए अब परिवार पहचान पत्र होना भी जरूरी होगा।

Advertisement

 

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव ने माडल टाउन स्थित राजकीय अंध विद्यालय में पत्रकारवार्ता में ये जानकारी दी। राज्यमंत्री यहां पानीपत, सोनीपत और करनाल के जिला समाज कल्याण अधिकारियों से चर्चा करने, योजनाओं की समीक्षा करने पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि गैर कानूनी ढंग से चल रहे नशामुक्ति केंद्रों की सूची बनाई जा रही है। संचालकों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 21 वर्ष आयु वाले युवाओं को परिवार पहचान पत्र बनवाने के लिए मतदाता पहचान पत्र की प्रतिलिपि जमा करानी पड़ती है। बहुत से युवाओं के पास मतदाता कार्ड नहीं है, इस पर यादव ने कहा कि यह काम बीएलओ व निर्वाचन कार्यालय का है कि मतदाता कार्ड दो-चार दिनों में बनाकर दें।

Advertisement

पानीपत सहित 10 जिलों में बनेंगे नशामुक्ति केंद्र : ओमप्रकाश यादव

बैठक में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग मुख्यालय से मुख्य लेखा अधिकारी वेदप्रकाश चावला, करनाल एवं पानीपत के जिला समाज कल्याण अधिकारी सत्यवान डिलोड़, सोनीपत के जिला समाज कल्याण अधिकारी अश्वनी मदान, राजकीय अंध विद्यालय के प्रधानाचार्य मनीष कुमार जैन मौजूद रहे। आवेदन मिलने पर दो माह में जारी करें पेंशन : राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव ने जिला समाज कल्याण अधिकारियों को निर्देश दिए कि पेंशन के आवेदन प्राथमिकता से लें। 80 वर्ष से अधिक आयु के पेंशनधारकों से समय-समय पर पूछें कि पेंशन मिलने में कोई दिक्कत तो नहीं आ रही है। आनलाइन आवेदन मिलने के दो माह के भीतर पात्र को पेंशन मिलनी चाहिए। अस्पताल में दिव्यांगों के लिए लगेंगी बैंच :

Advertisement

सिविल अस्पताल में प्रत्येक बुधवार को दिव्यांगों के मेडिकल और वीरवार को बुजुर्गाें के आयु प्रमाणपत्र बनाए जाते हैं। मेडिकल शिविरों में कई बार आपाधापी का माहौल रहता है। बैठने के लिए पर्याप्त बैंच तक नहीं होती। राज्यमंत्री ने कहा कि जांच कराकर, व्यवस्था में सुधार लाया जाएगा। यहां बैंच की व्यवस्था की जाएगी।

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *