Connect with us

City

इन लोगों की वजह से हवा में धूल, नहीं मानते और भुगत रहा शहर

Published

on

इन लोगों की वजह से हवा में धूल, नहीं मानते और भुगत रहा शहर

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आदेश के बावजूद कारोबारी रेत और बजरी ढक कर नहीं रख रहे। ट्रांसपोर्ट नगर में ऐसे ही खुले में रखी गई रेत-बजरी की वजह से दो कारोबारियों पर कार्रवाई की गई। दो ट्रैक्टर ट्रॉली में रेत और बजरी से लोड कराकर उसे जब्त कर लिया गया। अन्य चार कारोबारियों ने कब्जा हटाने के लिए विभाग से लिखित में एक दिन का समय मांगा है।
खुले में रखी रेत और बजरी के कण हवा में मिल रहे हैं और स्मॉग बन रहा है। ग्रैप लागू होने पर रेत और बजरी को ढकने का आदेश है, लेकिन इसे लागू नहीं करने पर राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण को नोटिस जारी कर दिया था। इसी नोटिस पर मंगलवार को एचएसवीपी की टीम सेक्टर-25 में रेत- बजरी कारोबारियों से भूमि खाली कराई। ट्रांसपोर्ट नगर से भी एक स्थान से भूमि खाली कराई गई।

पानीपत। सेक्टर-25 स्थित मलिक पेट्रोल पंप के पिछे ट्रांस्पोट्र नगर में पड़ी हुई रेत को उठाकर ट्राल?

अवैध रूप से रेत-बजरी का कारोबार करने वाले लोगों ने जिम खाना क्लब के पास से हटाए जाने के बाद मलिक पेट्रोल पंप के पीछे और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के ऑफिस के आसपास ही नया अड्डा बना लिया। सुबह से रात तक सड़क किनारे दो लेन में रेत-बजरी से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉलियां खड़ी रहती थीं। इस कारण लोगों को हर वक्त हादसे का डर सताता था। ट्रैक्टर- ट्रॉलियों और कंटेनर खड़े रहने के कारण जाम भी लगता था। हवा के साथ धूल उड़ने के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। इसकी शिकायत लगातार एचएचवीपी के पास पहुंच रही थीं। मंगलवार को इसे खाली कराया गया।
उद्यमियों को हिदायतें- फैक्टरी बचानी है तो पेड़-पौधों पर कराएं छिड़काव
एनजीटी ने फरीदाबाद, सोनीपत, गुरुग्राम व एनसीआर के कई क्षेत्रों में कोयला प्रयोग करने वाली फैक्टरियों को बंद करने के निर्देश दिए हैं। यहां का एक्यूआई 400 से अधिक था। अब प्रशासन की ओर से पानीपत के उद्यमियों को हिदायतें मिली है कि अगर फैक्टरी चालू रखनी है तो अपनी फैक्टरियों के बाहर एवं पेड़-पौधों पर पानी का छिड़काव कराएं, ताकि एक्यूआई को नियंत्रण में रखा जा सके।
एक दिन का दिया गया है वक्त

पानीपत। सेक्टर-25 स्थित मलिक पेट्रोल पंप के पिछे ट्रांस्पोट्र नगर में पड़ी हुई रेत की उठाने की कार?
संपदा अधिकारी अनुपमा मलिक ने बताया कि बुधवार को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एसडीओ प्रदीप के नेतृत्व में टीम ने कार्रवाई की। एचएसवीपी के जेई नर सिंह और विनोद बांगड़ ने थाना चांदनी बाग पुलिस की मदद से कार्रवाई की है। टीम ने रेत बजरी लोड कराकर दो ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को जब्त कर लिया। इस दौरान लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया। लोगों को कब्जा हटाने के लिए एक दिन का वक्त दिया गया है।

मंगलवार को भी पानीपत का एक्यूआई 280 दर्ज किया गया है। वायु में धूल के कणों की मात्रा अधिक है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *