Connect with us

चंडीगढ़

E-Panchayat की प्रणाली से ग़ुस्साए हरियाणा के सरपंच…

पंचों और सरपंचों को 1 साल से मानदेय न मिलने का लगाया आरोप गुरुवार को सरपंच ग्राम सचिव संयुक्त संघर्ष समिति ने रेवाड़ी के ग्राम सचिव को सस्पेंड करने व मागों को लेकर हनुमान वाटिका से लघु सचिवालय तक प्रदर्शन किया। सरपंचों ने डीसी सुनाता वर्मा व डीडीपीओ कंवर दमन को मांगों का ज्ञापन दिया। […]

Published

on

पंचों और सरपंचों को 1 साल से मानदेय न मिलने का लगाया आरोप

गुरुवार को सरपंच ग्राम सचिव संयुक्त संघर्ष समिति ने रेवाड़ी के ग्राम सचिव को सस्पेंड करने व मागों को लेकर हनुमान वाटिका से लघु सचिवालय तक प्रदर्शन किया। सरपंचों ने डीसी सुनाता वर्मा व डीडीपीओ कंवर दमन को मांगों का ज्ञापन दिया। सुबह हनुमान वाटिका में कैथल जिला के गांवो के सरपंच अपनी मांगों ओर समस्याओं को लेकर हुए एकत्रित। बैठक में सरपंच गज्जन सिंह ने कहा कि सरकार एक तरफ तो जिले के गांवों को ऑनलाइन करना चाहती है। वहीं दूसरी तरफ सरकार सरपंचों को पूरी जानकारी नही देती जिस कारण उन्हें समस्या आती है। उन्होंने कहा कि सरकार पहले तो इस बारे मे सभी सरपंचों को जानकारी दे ताकि वे इसे सुचारू रूप से अपने गांवो में लागू कर सकें। वहीं सरकार इस ऑनलाइन सिस्टम को चलाने के लिए जिले के सभी गांवों में कप्यूटर और कंप्यूटर ऑपरेटर भी उपलब्ध करवाएं। गज्जन सिंह ने यह भी कहा कि पिछले एक साल से जिले के पंचो व सरपंचों का मानदेय नहीं मिल रहा है जिसके तहत सरपंचों ने सरकार से अपील करते हुए कहा कि उनकी सभी मांगों को पूरा कर समस्याओं को दूर किया जाए। सरपंचों ने सरकार से अपील करते हुए कहा कि उनकी सभी मांगों ओर समस्याओ पूरा किया जाए व साथ ही सस्पेंड ग्राम सचिव को बहाल किया जाए।

धारा 144 को तोड़कर घुसे उपायुक्त कार्यालय, मांगें पूरी नहीं हुईं तो 28 को करेंगे चंडीगढ़ कूच

ई-पंचायत प्रणाली से गुस्साए जिले भर के सरपंचों ने गुरुवार सुबह लघु सचिवालय परिसर में धारा 144 को तोड़ते हुए डीसी कार्यालय में घुसकर विरोध प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। जिले भर के सरपंच इससे पहले बीडीपीओ कार्यालय में एकत्रित हुए और ई-पंचायत प्रणाली के खिलाफ शहर की सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय की तरफ कूच किया। सरपंचों का गुस्सा देख डीसी अपनी सीट से उठकर कार्यालय से बाहर आए और नारेबाजी कर रहे सरपंचों को शांत किया और उनकी मांग सरकार तक पहुंचाने का आश्वासन देते हुए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन लिया।  विरोध में जिले के सभी ब्लॉकों से सरपंच, पंच व ग्राम सचिव शहर में प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय पहुंचे और वहां पर सरपंच एसोसिएशन के जिला प्रधान मा. रणबीर सिंह ने  उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। ज्ञापन सौंपकर ई-प्रणाली को बंद करने की मांग की। इससे पूर्व सभी सरपंच एसोसिएशन के ब्लॉक प्रधान, सरपंच व ग्राम सचिवों ने स्थानीय पंचायत भवन में सभा का आयोजन किया गया।   उपायुक्त को सौंपे ज्ञापन में ब्लॉक प्रधान रणबीर सिंह, सतबीर सिंह ब्लॉक प्रधान कै रू, सुनील कुमार ब्लॉक प्रधान बहल ने ई- पंचायत प्रणाली को रदद करने, हरियाणा पंचायत राज एक्ट 1994 केा पूर्णत्या लागू करने, ग्राम सचिव की शैक्षिणिक योज्यता स्नातक करने, ग्राम सचिव का वेतनमान पटवारी के बराबर करने, सांसदों, विधायकों की तर्ज पर सरपंचों व पंचों का मानदेय बढ़ाने की मांग की। इस अवसर पर जीवनी देवी ब्लॉक प्रधान सिवानी, सुरेंद्र राठी ब्लॉक लोहारू, रविंद्र सरपंच प्रतिनिधि ब्लॉक प्रधान भिवानी, ग्राम सचिव जिला प्रधान देवेंद्र सिंह सहित जिले के सभी सरपंच व ग्राम सचिव उपस्थित थे। वहीं उपायुक्त अशंज सिंह ने जिले के सभी सरपंचों, ग्राम सचिवों  की उपस्थिति में कहा कि वे उनकी मांग को मुख्यमंत्री के पास भेजेंगे और उनकी समस्याओं को पूरा किया जाएगा। सरपंच एसोसिएशन के सदस्यों ने कहा कि अगर उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वे 28 मार्च को चण्डीगढ़ मुख्यमंत्री आवास पर धरना देंगे।

रोहतक में भी पंच-सरपंच व ग्राम सचिवों ने खोला मोर्चा

रोहतक (नवीन): भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के चलते कर्मचारियों, मजदूरों के बाद अब पंच-सरपंच व ग्राम सचिवों ने भी मोर्चा खोल दिया है। प्रदेश सरकार द्वारा पंचायतों को सक्षम बनाने के लिए ई प्रणाली शुरू  करने के विरोध में पंच-सरपंच व ग्राम सचिवों ने शहर में प्रदर्शन किया और लघु सचिवालय के पास सड़क पर बैठक धरना शुरू कर दिया, जिसके कारण जाम लग गया। जाम लगने की सूचना मिलते ही भारी पुलिस मौके पर पहुंची और प्रदर्शनकारियों से धरना समाप्त करने की अपील की, लेकिन प्रदर्शनकारी अपनी मांगों पर अड़े रहे। पुलिस ने रूट बदल कर वाहनों को वहां से निकाला। प्रदर्शनकारियों ने चेताया कि अगर उनकी मांगों का समाधान नहीं हुआ तो 28 मार्च को चंडीगढ़ कूच करेंगे और मु यमंत्री आवास पर धरना देंगे और जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं हो जाती है, उनका धरना जारी रहेगा। बाद में प्रदर्शनकारियों ने उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा। सरपंच एसोसिएशन के प्रधान राकेश शर्मा ने चेताया कि अगर जल्द उनकी मांगों का समाधान नहीं हुआ तो 28 मार्च को चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री आवास पर धरना शुरू कर दिया जाएगा और यह धरना तब तक जारी रहेगा जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं हो जाती है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *