Connect with us

City

पेंशन न मिलने पर बुजुर्गों ने नरवाना-टोहाना मार्ग कर दिया जाम

Published

on

Advertisement

नरवाना से टोहाना मार्ग पर स्थित धमतान गांव के बुजुर्गों ने जाम लगा दिया। पिछले तीन महीने से बुढ़ापा पेंशन नहीं मिलने पर खफा होकर सोमवार को गांव के बस अड्डे पर एकजुट हो गए।

Advertisement

बुजुर्गों की पेंशन गांव के ही पैक्स यानि सहकारी समिति में आ रही है लेकिन जब वह पेंशन लेने के लिए जाते हैं तो उन्हें अपमानित कर बाहर निकाल दिया जाता है। ग्रामीणों के अनुसार करीब एक करोड़ रुपये पर कर्मचारी कुंडली मारे बैठे हैं।

नरवाना-टोहाना मार्ग पर बुजुर्गों ने जाम लगाया।

Advertisement

धैर्य दिया जवाब

सोमवार सुबह धमतान साहिब गांव के बुजुर्गों का धैर्य उस समय जवाब दे गया, जब बुजुर्ग पेंशन लेने के लिए सहकारी समिति बैंक में पहुंचे। यहां पर उन्हें उनकी पेंशन नहीं दी गई। बाहर निकलते ही आक्रोश में बुजुर्गों ने नरवाना-टोहाना मार्ग पर जाम लगा दिया।

क्‍या है इनकी पीड़ा

बुजुर्ग धर्मपाल, किताबा, सुरेश, रोशनी, सरबती ने बताया कि उन्हें बुढ़ापा पेंशन के रूप में 2500 रुपये प्रतिमाह मिलते हैं और गांव स्थित सहकारी समिति बैंक में उनकी पेंशन आती है। मई महीने में जब पेंशन लेने के लिए गए तो उनकी बैंक कापी यहां रखवा ली गई लेकिन पेंशन कुछ दिन बाद देने की बात कही गई। उस महीने पेंशन नहीं आई लेकिन जून महीने में पेंशन लेने के लिए वह बैंक पहुंचे तो कर्मचारी ने कहा कि पेंशन नहीं आई है।

Advertisement

इसके बाद अब जुलाई में फिर से पेंशन लेने के लिए गए तो उन्हें अपमानित कर बैंक से बाहर निकाल दिया। बुजुर्गों ने कहा कि इस मामले में वह एसडीएम से लेकर सहकारी समिति के प्रबंधक तक से मिल चुके हैं लेकिन उनकी पेंशन नहीं निकलवाई जा रही। समाज कल्याण विभाग की तरफ से पेंशन खाते में डाली जा चुकी है लेकिन समिति के कर्मचारियों द्वारा पेंशन नहीं दी जा रही।

एक करोड़ रुपये से ज्यादा बनती है पेंशन

धमतान साहिब के ग्रामीणों ने गांव के 1500 से ज्यादा बुजुर्गाें और विधवा महिलाओं की पेंशन समिति में आ रही है, जो ढाई हजार रुपये के हिसाब से तीन महीने की एक करोड़ रुपये के करीब पेंशन बनती है। इन एक करोड़ पर समिति कर्मचारी कुंडली मारे बैठे हैं और उन्हें आजीविका चलानी भी मुश्किल हो रही है।
Source Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *