Connect with us

पानीपत

पंजाब में एंट्री को निगेटिव रिपोर्ट-वैक्सीनेशन जरूरी, राजस्थान पुलिस का सख्त पहरा, हरियाणा-यूपी वाले मनमर्जी से आ-जा रहे

Published

on

Advertisement

पंजाब में एंट्री को निगेटिव रिपोर्ट-वैक्सीनेशन जरूरी, राजस्थान पुलिस का सख्त पहरा, हरियाणा-यूपी वाले मनमर्जी से आ-जा रहे

 

Advertisement

लॉकडाउन के दौरान सोमवार-मंगलवार को हरियाणा पुलिस ने दो दिन ढिलाई बरती तो बड़ी संख्या में लोग बाहर घूमते रहे। अब सरकार ने कड़ी सख्ताई के निर्देश दिए हैं। अब किसी भी काम से बाहर निकलने के लिए मूवमेंट पास जरूरी है। वहीं, हरियाणा से सटे पंजाब व राजस्थान के बॉर्डरों पर दूसरे राज्यों की पुलिस सख्ती बरत रही है, लेकिन हरियाणा-यूपी वाले जरूरी काम बताकर आ-जा रहे हैं।

लोहारू में गोशाला के सामने पिलानी नाके पर वाहनों की जांच करते पुलिस कर्मचारी। जिसे कारण पूछने के बाद जाने दिया। - Dainik Bhaskar

Advertisement

गौरतलब है कि पंजाब सरकार ने राज्य में एंट्री के लिए कड़े नियम बनाए हैं। इसके लिए 48 घंटे के अंदर दिए सैंपल की निगेटिव रिपोर्ट या कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगे होना जरूरी है। इसी तरह राजस्थान पुलिस का कड़ा पहरा है। वह जरूरी काम कंफर्म होने के बाद ही आने-जाने दे रहे हैं। हरियाणा-यूपी के बॉर्डरों के दोनों तरफ पुलिस तैनात है, लेकिन वह कारण पूछकर एंट्री दे रही है। उधर, दिल्ली में लॉकडाउन के चलते नो एंट्री पहले से है।

दूसरी तरफ प्रदेशभर के कई जिलों में दूसरे दिन पुलिस ने सख्ती बरती, लेकिन फिर भी सब्जी मंडी, रेहड़ियों पर सुबह-शाम भीड़ रही। सड़कों पर बड़ी संख्या में लोग दिखे। इसके चलते आज से सरकार ने सख्ती बढ़ाने का फैसला लिया है। बता दें कि गृहमंत्री विज ने साेमवार को कहा था कि लोगों ने खुद एहतियात नहीं बरती, इसलिए लॉकडाउन लगाना पड़ा है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि कहा कि जिन कैटेगरी को छूट है, उनके अलावा कोई बेवजह बाहर घूमता दिखे तो एफआईआर की जाए।

Advertisement

अम्बाला सिटी | अग्रसेन चौक पर पुलिस को देखकर हड़बड़ाहट में साइकिल सवार युवक के मास्क की डोरी टूट गई। युवक ने मास्क को मुंह में दबा लिया, लेकिन जैसे ही पुलिस कर्मी से बोलने लगा वह भी गिर गया। पुलिस ने उसे नया मास्क देकर भेजा।
अम्बाला सिटी | अग्रसेन चौक पर पुलिस को देखकर हड़बड़ाहट में साइकिल सवार युवक के मास्क की डोरी टूट गई। युवक ने मास्क को मुंह में दबा लिया, लेकिन जैसे ही पुलिस कर्मी से बोलने लगा वह भी गिर गया। पुलिस ने उसे नया मास्क देकर भेजा।

पलायन जारी – प्रदेशभर से 60% श्रमिक गए

बहादुरगढ़ में लाॅकडाउन के दूसरे दिन मंगलवार काे पुलिस की सख्ती के कारण भीड़ कम रही। इससे पहले सड़कों पर अधिक भीड़ थी। फैक्ट्रियां बंद होने के कारण 60 फीसदी श्रमिक अपने प्रदेश घर जा चुके हैं, जबकि अन्य का जाना जारी है। बहादुरगढ़ चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के वरिष्ठ उप प्रधान नरेंद्र छिक्कारा ने कहा कि काम बंद होने के कारण श्रमिक घर जा रहे हैं।

60 फीसदी जा चुके हैं। इसी तरह पानीपत से रोज निजी बसें बुक करके श्रमिक अपने घर यूपी, बिहार और मध्यप्रदेश जा रहे हैं। उनका कहना है कि लॉकडाउन के दौरान घर रहेंगे, जब लॉकडाउन खुल जाएगा तो वापस लौट आएंगे।

सोनीपत में पहले किसान आंदोलन के चलते काफी श्रमिक मूव कर चुके थे, जो बचे थे वे अब पलायन कर रहे हैं। यहां श्रमिक नहीं मिल रहे। हिसार से यूपी व बिहार ट्रेनाें से मजदूर व नाैकरीपेशा वाले जाते नजर आए। मजदूराें ने कहा- लाॅकडाउन बढ़ सकता है। यह खत्म हाेने के बाद ही काम पर लाैटेंगे।

गुड़गांव में सड़कों पर घूमने वालों पर चला डंडा, चालान

गुड़गांव में पुलिस ने मंगलवार को ऐसे लोगों पर सख्ती बरतनी शुरू कर दी, जो बिना वजह बाहर घूम रहे थे। गुड़गांव पुलिस ने पिछले 4 दिन में 1200 से अधिक लोगों के मास्क नहीं पहनने के चालान किए हैं। वहीं पिछले 14 महीने में 163604 लोगों के बिना मास्क के चालान कर 8.18 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। नियमों का उल्लंघन करने वाले व सड़कों पर घूम रहे लोगों पर डंडा चलाया।

यहां दुकानें लॉक, पब्लिक पर सख्ती डाउन

हिसार में लाॅकडाउन के दूसरे दिन शहर में लाेग बेवजह ही वाहनाें पर घूमते नजर आए। शहर के आर्मी कैंट, अश्व अनुसंधान के पास ताे पुलिस नाकाें पर तैनात जरूर थी, मगर वाहन चालकाें काे राेकना ताे दूर टाेकना तक मुनासिब नहीं समझा। भारी वाहनाें काे शहर में आने से राेका जा रहा था। पटेलनगर में वैक्सीनेशन कराने के दाैरान लाेगाें के बीच साेशल डिस्टेंस नहीं दिखाई दिया।

दादरी में सीमाओं के नाके पर रोक-टोक नहीं: चरखी दादरी में लॉकडाउन के दूसरे दिन भी लोग लापरवाह बने बाजार में घूमते नजर आए। जिन पर सख्ती दिखाने के लिए पुलिस कर्मचारियों ने वाहन चालकों व राहगीरों को रोक कर पूछताछ की। इसके साथ चालान काटने शुरू कर दिए।

गांवों में बिना मास्क बेरोक-टोक घूम रहे: प्रदेश के सभी गांवों की मॉनिटरिंग आसान नहीं है। इसका फायदा उठाकर गांवों में लोग बिना मास्क के बेरोक-टोक घूमते हैं। दुकानों के पास लोगों को सामान बेच रहे हैं।

Source : Bhaskar

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *