Connect with us

विशेष

आंखों के सामने ही ऐसे होता है पूरा खेल, ENO से दिखाए जाते है फर्जी पंचर

Published

on

Advertisement

आंखों के सामने ही ऐसे होता है पूरा खेल, ENO से दिखाए जाते है फर्जी पंचर

 

गाड़ी में पंचर होना आम बात है। पंचर बाइक, स्कूटर, कार किसी भी व्हीकल में हो सकती है। ऐसे में आप पंचर सही कराने किसी पंचर शॉप पर जाएं और वो आपसे बोले कि इसमें 21 पंच है, तो क्या आप यकीन करेंगे? 2-3 पंचर की बात समझ आती है, लेकिन 21 पंचर पर यकीन करना थोड़ा-सा मुश्किल है। हालांकि, मुंबई-पुणे हाईवे पर एक कार चालक के साथ हो चुका है। जब उसकी कार के फ्रंट टायर में पूरे 21 पंचर निकले। जिन्हें ठीक करवाने के लिए उसे 2,650 रुपए खर्च करने पड़े, लेकिन ये पंचर हकीकत में एक तरह का धोखा था जो आपके साथ भी हो सकता है। इसलिए इस तरह फ्रॉड से बचने के लिए हमेशा अलर्ट रहें।

Advertisement

पंचर शॉप नहीं पंचर गैंग था

इस शॉप पर जो भी पंचर सही करवाना आता था उसकी गाड़ी में 1-2 नहीं बल्कि दो नंबर्स में पंचर निकलते थे। हालांकि, जब इस पंचर वाले पर पुलिस ने एक्शन लिया तब ये बात सामने आई कि उनके पास पैसे कमाने के टारगेट हैं तभी 6000 रुपए सैलरी मिलती है। उन्होंने इस बात का भी खुलासा किया कि गाड़ी में इतने पंचर नहीं होते, लेकिन वे कुछ ट्रिक का यूज करके इतना ज्यादा दिखा देते हैं।

Advertisement

21 पंचर वाले की कहानी

Advertisement

पुणे के जिस आदमी की कार के टायर में साथ 21 पंचर हुए थे उसके मुताबिक वो अपनी मारुति सियाज से घर निकला। रास्ते में दो बाइकर्स ने उसकी कार को लेफ्ट साइड से एकदम पास से क्रॉस किया, उसी साइड का टायर भी पंचर हुआ था। कुछ देर बाद उसे लगा कि गाड़ी के टायर की हवा कम हो गई है। ऐसे में उसने पंचर की दुकान पर कार को रोका और एयर प्रेशर चेक करने के लिए कहा। उसने बताया कि टायर में 5 प्वाइंट प्रेशर है, इसका पंचर चक करना पड़ेगा।

उसने कार का टायर बाहर निकाला और दूसरे लड़के की तरफ पास कर दिया। वहीं, जिसने टायर निकाला था वो मुझसे (कार वाले से) कार से जुड़ी बात करने लगा। कुछ देर बाद, दूसरे लड़के ने बोला पंचर चेक कर लीजिए। एक पंचर सही करने के 120 रुपए लगेंगे। उसने ट्यूबलैस टायर को पानी के अंदर डुबोया इसके बाद एक-एक करके उसमें 21 पंचर निकल आए और बोला कि कम हवा में चलाने से ऐसा हुआ। इन सभी पंचर को सही कराने के लिए 2,650 रुपए खर्च करने पड़े।

इस पूरी स्टोरी के दौरान कारवाले से तीन गलतियां हुईं :-

1- जो 2 बाइकर्स कार के पास निकले थे, उन्होंने शायद कुछ ऐसा गिराया जिससे टायर में छेद हो गए।

2- कार में हवा कम थी तो पंचर चेक कराने की जरूरत ही नहीं थी, सिर्फ हवा डलवानी चाहिए थी।

3- पंचर चेक कराने के दौरान पहले वाले आदमी के साथ बात में बिजी हो जाना।

आगे जानिए कि किस ट्रिक से पंचर वाले ने टायर में 21 पंचर बता दिए…

टायर में ज्यादा पंचर दिखाने के लिए ये लोग कुछ ट्रिक का यूज करते थे। जिससे टायर में पंचर नहीं होने के बाद भी ऐसा लगता है कि पंचर हैं।

1- टायर खोलने वाला और उसकी पंचर सही करने वाले अलग-अलग लोग होते हैं। जो टायर खोलता है वो कार ड्राइवर को बातों में बिजी कर लेता है। ऐसे में पंचर सही करने वाला इस मौके का फायदा उठाता है।

2- ये लोग टायर सही करने के दौरान पानी में ENO मिला देते हैं। इसमें CO2 गैस होती है जो बुलबुल बनकर पानी से बाहर निकलती है। ऐसे में आपको लगेगा कि टायर पंचर है।

3- टायर की पंचर चेक करने के लिए हवा का प्रेशर 50-70psi तक कर देते हैं। इससे टायर के छोटे छेद से भी हवा निकलने लगती है और ऐसा लगता है कि टायर पंचर है।

जानिए अगर आपके साथ भी ऐसी स्थिति आए तब क्या करें…

1- यदि आपकी कार में ट्यूबलैस टायर है, तब उसे खोलने की जरूरत नहीं होत। ऐसे टायर का पंचर बिना खोले ही फिक्स किया जा सकता है।

2- टायर में हमेशा 35psi तक ही एयर प्रेशर रखें। साथ ही, किसी पेट्रोल पंप या पहचान वाले से हवा भरवाएं।

3- यदि रास्ते में आपको ऐसा लगता है कि टायर की हवा कम हो रही है तब स्टेपनी का यूज करें।

4- टायर की पंचर चेक करवाते समय हवा का प्रेशर 35psi होना चाहिए। पंचर अपने सामने सही कराएं।

 

 

Source : RajivDixitJi

Advertisement