Connect with us

पानीपत

Farmers Protest: पानीपत में नहीं रोके गए किसान, दिल्‍ली की ओर हुए रवाना

Published

on

Advertisement

Farmers Protest: पानीपत में नहीं रोके गए किसान, दिल्‍ली की ओर हुए रवाना

पानीपत में रिफाइनरी के पास नाका लगाया गया था। जब किसान पहुंचे तो उन्‍हें रोका नहीं गया। किसान दिल्‍ली की अेार रवाना हो गए। पुलिस ने 10 जगहों पर नाका लगाया था और 300 पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे।

Advertisement

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों के दिल्ली कूच और कर्मचारी महासंघ की ओर से वीरवार को राष्ट्रव्यापी हड़ताल को लेकर पुलिस-प्रशासन चौकस हो गया था। पानीपत की सभी सीमाओं को सील कर 10 नाके लगाकर 300 पुलिसकर्मियों का पहरा लगा दिया गया था। वहीं पानीपत में तीन किसान नेताओं को नजरबंद कर दिया गया।

राष्ट्रव्यापी हड़ताल को लेकर पानीपत में पुलिस-प्रशासन चौकस।

करनाल से किसान निकल चुके थे। दिल्‍ली कूच की तैयारी थी। रिफाइनरी के पास पुलिस का नाका लगा हुआ था। इधर जिला प्रशासन ने तीन किसान नेताओं को नजरबंद कर दिया। पूर्व सरपंच बिंटू मलिक, किसान नेता कुलदीप को पकड़ा गया। कुलदीप भारतीय किसान यूनियन से जुड़े हुए हैं। इस बीच, जिला प्रशासन ने सभी विभागों के कर्मचारियों को कह दिया है कि अगर कार्यालय में नहीं आए तो अनुपस्‍थित माना जाएगा। साथ ही, यह माना जाएगा कि आप आंदोलन में शामिल हो।

Advertisement

वहीं, किसान यूनियन के पूर्व जिला उप प्रधान व उग्राखेड़ी के पूर्व सरपंच बिंटू मलिक ने बताया कि पुलिसकर्मी दो दिन से घर के चक्कर लगा रहे थे। वे शादी समारोह में गए थे। डीएसपी मुख्यालय सतीश कुमार वत्स ने भी काल कर चाल के लिए बुलाया। पहले उन्हें कभी किसी पुलिस अधिकारी ने चाय पर नहीं बुलाया। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि वह और उनके साथी दिल्ली ने जा सके। पुलिस ने भाकियू के जिला प्रधान कुलदीप बलाना, पूर्व प्रधान जयकरण कादियान और सुरेश दहिया को भी काल कर बुलाया था।

Advertisement

 

 

कार्यालय नहीं आए तो हड़ताल में शामिल माना जाएगा

एडीसी डा. मनोज कुमार यादव ने बुधवार को लघु सचिवालय स्थित कांफ्रेंस हाल में अधिकारियों की बैठक लेकर आदेश दिए कि वे अधीनस्थ कर्मचारियों को मुख्य सचिव द्वारा जारी आदेशों से अवगत कराएं। सुबह 11 और शाम 4 बजे दो बार हाजिरी लें। अगर कोई कर्मचारी गैर हाजिर होगा तो उन्हें हड़ताल में शामिल माना जाएगा। कार्रवाई होगी। 25 से 27 तक किसी भी विभाग के अधिकारी व कर्मचारी को अपना मुख्यालय नहीं छोड़ना है। कर्मचारी अपना मोबाइल नंबर किसी भी सूरत में बंद नहीं करेगा। संगठन शांतिपूवर्क तरीके से रोष जता सकते हैं। रात दस बजे से ही कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई, छह लोडिड ट्रांसफार्मर रखे बिजली वितरण निगम के एक्सईएन संजीव शर्मा ने बताया कि आल हरियाणा पावर कारपोरेशन मुख्यालय हिसार और दूसरी यूनियन भिवानी मुख्यालय से संबंधित है। हिसार से संबंधित यूनियन के कर्मचारी हड़ताल में शामिल रहेंगे।

 

 

Source : Jagran

Advertisement