Connect with us

City

Farmers Protest in Haryana Live: कैथल में राज्‍यमंत्री कमेलश ढांडा का आवास घेरा

Published

on

Advertisement

Farmers Protest in Haryana Live: कैथल में राज्‍यमंत्री कमेलश ढांडा का आवास घेरा, आंगनबाड़ी वर्कर भी समर्थन में

हरियाणा में धान की खरीद में देरी से किसानों में आक्रोश है। किसानों ने शनिवार सुबह ही भाजपा-जजपा के विधायक और सांसदों के आवास का घेराव शुरू कर दिया। हरियाणा के पानीपत, कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र, अंबाला, यमुनानगर, जींद सहित कई जिलों में धान से भरीं ट्रैक्‍टर ट्रालियां लेकर किसान घेराव कर रहे हैं। यमुनानगर में पूर्व राज्‍यमंत्री कर्णदेव कांबोज को रास्‍ते में रोक विरोध किया गया।

कैथल में राज्‍यमंत्री के आवास का घेराव करते किसान।

Advertisement

मंडियों में धान की सरकारी खरीद शुरू न होने से गुस्साए किसानों ने शनिवार को भी आंदोलन जार रखा। सुबह जहां नई अनाज मंडी स्थित मार्केट कमेटी कार्यालय को ताला जड़कर रोष जताया, वहीं दोपहर के समय रोष प्रदर्शन करते हुए राज्यमंत्री कमलेश ढांडा के निवास पर पहुंचे। यहां घेराव करते हुए सरकार व प्रशासन के खिलाफ रोष जताया। यहां पहले से ही धरने पर बैठी आंगनबाड़ी वर्करों ने भी किसानों के इस प्रदर्शन का समर्थन किया। किसानों ने कहा कि खेतों में धान की कटाई का कार्य चल रहा है, लेकिन सरकार ने पीआर धान की खरीद एक अक्टूबर से शुरू न करके 11 अक्टूबर को खरीद करने की बात कह रही है, इससे किसानों में काफी रोष है। फसल खेतों में पककर तैयार है, ऐसे में किसान कब तक फसल कटाई का इंतजार करेगा। पहले तो 25 सितंबर से सरकारी खरीद की बात कही गई, इसके बाद एक अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया, अब 11 अक्टूबर तक इसे लेकर चले गए। सरकार की नीयत ठीक नहीं है। सरकारी धान को सरकारी भाव पर खरीदना नहीं चाहती, सरकार चाहती है कि किसान प्राइवेट ही बेचें, जो किसान ऐसा नहीं होने देंगे। उनकी मांग है कि सरकार जल्द से जल्द सरकारी खरीद शुरू करे, ताकि किसानों को परेशानी न आए।

Advertisement

किसानों के साथ हो रहा धोखा : होशियार गिल

भारतीय किसान यूनियन चढूनी गुट के जिला प्रधान होशियार गिल, महावीर सिंह, सुरजीत बैनीवाल, भरत सिंह बैनीवाल, सतपाल दिल्लोवाली, महेंद्र सिंह ने कहा कि किसानों के साथ अन्याय हो रहा है। बारिश के चलते एक तो पहले ही किसान नुकसान में हैं, अब सरकार पीआर धान की सरकारी खरीद शुरू न करके किसानों को परेशान कर रही है। किसान अपनी धान की फसल लेकर कहां जाएंगे। पिछले सप्ताह बरसात थी, अब मौसम साफ हुआ है। किसान एक अक्टूबर का इंतजार कर रहे थे, लेकिन सरकार ने खरीद का समय आगे बढ़ा दिया। किसान मंडियों में अपना धान लेकर बैठे हैं। किसान नेताओं ने कहा कि सरकार उनकी मांगों की तरफ ध्यान दें, नहीं तो प्रदर्शन जारी रहेगा।

Advertisement

सीएम आवास के बाहर धरने पर बैठे आंदोलनकारियों ने लंगर शुरू कर दिया है। भीड़ बढ़ती ही जा रही है। वहीं कुरुक्षेत्र में थानेसर विधायक सुभाष सुधा के घर के बाहर भी धरना शुरू हो गया है। आंदोलनकारियों ने एलान किया है कि अब विधायक के घर के बाहर ये धरना अनिश्चितकालीन जारी रहेगा। जब तक सरकार धान की खरीद नहीं शुरू करेगी, धरना जारी रहेगा।

jagran

सीएम आवास के बाहर बैठे आंदोलनकारी सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। वहीं, किसान ट्राली में धान भी लेकर आए हैं। पुलिस प्रशासन लगातार किसानों को समझाने की कोशिश में लगा है। करनाल में सीएम आवास के बाहर आंदोलनकारियों के साथ आढ़ती भी समर्थन देने के लिए पहुंचे। सीएम आवास के बाहर तनाव पूर्ण माहौल बना हुआ है। पांच डीएसपी सहित पैरामिलिट्री फोर्स के जवान भी तैनात हैं। किसान तिरंगे के साथ-साथ हाथों में काले झंडे लेकर भी पहुंचे हैं। करनाल के रामनगर क्षेत्र मैं सीएम मनोहर लाल के आवास पर पहुंचे बड़ी संख्या में किसानों को पुलिस बल ने रोका। किसान बेरिकेड्स तोड़कर दरी बिछा धरने पर बैठ गए।

jagran

कुरुक्षेत्र में थानेसर विधायक सुभाष सुधा के आवास का घेराव करते किसान।

कुरुक्षेत्र में खेल मंत्री का आवास घेरा

शाहाबाद में भाकियू के प्रदेश प्रवक्ता राकेश बैंस के नेतृत्व में किसानों ने खेल मंत्री संदीप सिंह, भाजपा के पूर्व मंत्री एवं मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार कृष्ण बेदी और जजपा के विधायक रामकरण काला के आवास का घेराव किया। थानेसर में मनोज के नेतृत्व में किसानों ने विधायक सुभाष सुधा और सांसद नायब सिंह सैनी के आवास का घेराव किया। किसानों ने धान की खरीद में देरी करने पर रोष जताया।

 

jagran

करनाल में सीएम आवास पर कूच

करनाल में मंडी से एकत्र होने के बाद आंदोलनकारी प्रेमनगर स्थित मुख्यमंत्री के कैंप कार्यालय एवं आवास की तरफ कूच करेंगे। इसे देखते हुए पुलिस प्रशासन की ओर से पुख्ता तैयारियों का दावा किया गया है। वहीं खुफिया तंत्र भी अलर्ट मोड पर है। जिले की अन्य मंडियों में भी हालात संवेदनशील हैं।

jagran

यमुनानगर में तनाव की स्थिति

यमुनानगर में शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर के आवास पर धान की ट्रालियां लेकर किसान पहुंच रहे हैं। पुलिस ने बैरिकेड्स लगाकर किसानों को रोका। इस दौरान धक्का-मुक्की भी हुई। तनाव की स्थिति बनी हुई है। वहीं, पूर्व राज्‍यमंत्री कर्णदेव कांबोज को किसानों ने रास्‍ते में रोक लिया। उनके सामने ही नारेबाजी शु

jagran

जींद में जजपा विधायक रामनिवास सुरजाखेड़ा के आवास का घेराव

जींद के नरवाना में धान की खरीद शुरू न होने पर किसान मोर्चा के आह्वान पर जजपा विधायक रामनिवास सुरजाखेड़ा के कार्यालय का घेराव किया। वहीं, कार्यालय के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। आइटीबीपी की एक बटालियन भी मौके पर मौजूद है।

 

jagran

अंबाला में विधायक असीम गोयल की कोठी के घेराव की तैयारी

किसानों की विधायक असीम गोयल की कोठी का घेराव करने की तैयारी है। जिसके लिए किसान अनाज मंडी से रवाना हो चुके हैं। फिलहाल पुलिस ने घेराव से बचाव के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। ताकि किसानों को रोका जा सके। इसके लिए अंबाला शहर के पालिक्टेनिक चौक से लेकर इंको चौक तक रास्ता बंद कर दिया गया है। इन दोनों जगहों पर बेरिकेट्स लगा दिए गए हैं।

jagran

इस वजह से किसान नाराज

धान की खरीद हर साल 1 अक्टूबर से शुरू हो जाती है। परंतु इस बार धान की सरकारी खरीद की तारीख बढ़ा दी गई है। किसानों की धान की फसल पूरी तरह पक कर तैयार हो चुकी है। इसके बाद किसान धान की फसल की कटाई के बाद अनाज मंडी में भी ले आए हैं। सरकारी खरीद शुरू न होने के कारण किसानों को अनाज मंडी में पिछले कई दिनों से रातें गुजारनी पड़ रही हैं। किसानों की माने तो धान की कटाई 15 सितंबर से शुरू हो गई थी। पहले ही धान की सरकारी खरीद देरी से शुरू होती है और इस बार इसे ओर आगे बढ़ा दिया गया है। इसी के चलते किसानों ने पहले से ही चेतावनी दे दी थी कि यदि खरीद 2 अक्टूबर से शुरू नहीं की गई तो विधायकों के आवास का घेराव किया जाएगा।

jagran

  • कुरुक्षेत्र में मंत्री व विधायकों के निवास पर धान की ट्रालियां लेकर पहुंचेंगे
  • कैथल में अनिश्चितकालीन धरना शुरू होगा
  • अंबाला में पुलिस ने पालिटेक्निक चौक से लेकर इंको चौक तक रास्ता बंद किया। किसान अनाज मंडी में इकट्ठा हो गए हैं।
  • पानीपत में मजदूरों ने भी हड़ताल शुरू कर दी है, धान लेकर पहुंचने लगे किसान
Advertisement