Connect with us

राज्य

दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस ने बसें खड़ी कर रास्ता रोका, किसान भी सड़कों पर जमे

Published

on

Advertisement

दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस ने बसें खड़ी कर रास्ता रोका, किसान भी सड़कों पर जमे

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के आंदोलन का आज आठवां दिन है। सरकार और किसान संगठनों के बीच बातचीत हुई, लेकिन अब तक कोई समाधान नहीं निकल सका। पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी की ओर जाने वाले रास्ते बंद कर दिए हैं। यहां बैरिकेड्स के आगे बसें भी खड़ी की गईं हैं। पिछले दिनों किसानों ट्रैक्टर्स से इन बैरिकेड्स को हटा दिया था। बहरहाल, इस बैरिकेडिंग की वजह से इससे हजारों लोगों को दिल्ली जाने और वहां से निकलने में दिक्कत हो रही है।

Advertisement
नए कृषि कानून को वापस लेने और फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी की मांग को लेकर किसान आंदोलन कर रहे हैं।
नए कृषि कानून को वापस लेने और फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी की मांग को लेकर किसान आंदोलन कर रहे हैं।
पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान 'दि‍ल्ली चलो' मार्च निकाल रहे हैं।
पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान ‘दि‍ल्ली चलो’ मार्च निकाल रहे हैं।
मार्च को रोकने के लिए बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। इसके अलावा भारी पुलिस फोर्स भी तैनात किए गए हैं।
मार्च को रोकने के लिए बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। इसके अलावा भारी पुलिस फोर्स भी तैनात किए गए हैं।
दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर तैनात सुरक्षा बल।
दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर तैनात सुरक्षा बल।
दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर प्रदर्शन के दौरान लोगों को खाना बांटते भारतीय किसान यूनियन के सदस्य।
दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर प्रदर्शन के दौरान लोगों को खाना बांटते भारतीय किसान यूनियन के सदस्य।
दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर प्रदर्शन करते भारतीय किसान यूनियन के सदस्य।
दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर प्रदर्शन करते भारतीय किसान यूनियन के सदस्य।
सिंघू बॉर्डर पर नए किसान कानून का विरोध के दौरान महिलाओं ने भी हिस्सा लिया।
सिंघू बॉर्डर पर नए किसान कानून का विरोध के दौरान महिलाओं ने भी हिस्सा लिया।
केंद्र से बातचीत करने के लिए प्रतिनिधियों को भेजते किसान।
केंद्र से बातचीत करने के लिए प्रतिनिधियों को भेजते किसान।
Source : Bhaskar
Advertisement

Advertisement
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *