Connect with us

पानीपत

पहले दो सगे भाइयों पर दुष्‍कर्म व गर्भवती करने का लगाया आरोप, अब बयानों से मुकरी महिला

Published

on

Advertisement

पहले दो सगे भाइयों पर दुष्‍कर्म व गर्भवती करने का लगाया आरोप, अब बयानों से मुकरी महिला

गर्भपात व डीएनए टेस्ट के लिए अस्पताल में भर्ती होने के बाद लापता हुई महिला ने अब कथित दुष्कर्म के आरोप को भी नकार दिया है। रविवार को पुलिस ने गर्भवती महिला के दोबारा अदालत में धारा 164 के तहत बयान दर्ज करवाए। इसमें महिला ने न केवल दुष्कर्म के आरोपों को निराधार बताया बल्कि अपनी सास, पति व एक अन्य व्यक्ति से जान का खतरा भी बताया। महिला ने कहा कि इन तीनों ने ही उसे दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाने के लिए उकसाया था। इस पर अदालत ने तीनों को नोटिस जारी कर दिए। नोटिस में तीनों को एक अक्टूबर को अपना पक्ष रखने का आदेश दिया गया है।

शनिवार को महिला ने अपहरण के आरोपों को अदालत में बयान दर्ज करवाते हुए निराधार बताया था। थाना कुंजपुरा व सिविल लाइन पुलिस स्टेशन में दर्ज अलग-अलग मामलों में महिला के बयानों के बाद न केवल नया मोड़ आ गया बल्कि महिला के ससुरालियों की मुश्किलें भी बढ़ गई हैं। महिला ने ससुरालियों से जान का खतरा बताते हुए सुरक्षा की गुहार भी लगाई है।

Advertisement

करनाल में दो सगे भाइयों पर दुष्‍कर्म का आरोप लगाने वाली महिला बयानों से पलट गई है।

यह है पूरा मामला

Advertisement

चर्चित प्रकरण में महिला ने दो सगे भाइयों के खिलाफ कथित दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए कुंजपुरा थाने में मामला दर्ज करवाया था। महिला ने धारा 164 के तहत अदालत में बयान कलमबंद करवाते हुए दुष्कर्म के दौरान गर्भवती होने की बात कही थी। पुलिस मामले की छानबीन कर ही रही थी कि इस दौरान कुछ नए तथ्य सामने आने पर  जांच अधिकारी ने रविवार को महिला के दोबारा अदालत में धारा 164 के तहत बयान दर्ज करवाए। अब महिला के बयानों में दुष्कर्म से इनकार करने पर नया मोड़ आ गया है, जिससे पुलिस नए सिरे से जांच कर सकती है। इस मामले में थाना प्रभारी मुनीष कुमार का कहना है कि महिला के तथ्यों व बयान के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

पहले अस्पताल में दाखिल हुई, फिर हो गई थी लापता

Advertisement

कुंजपुरा थाना के अंतर्गत एक गांव निवासी तीन बच्चों की मां 26 वर्षीय महिला 20 जून को अचानक लापता हो गई थी। तलाश करने पर महिला का कुछ अता पता न चला तो स्वजनों ने अगले दिन पुलिस में शिकायत दी। इस पर पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कर तलाश शुरू की। इसके कुछ दिन बाद महिला अपने घर वापस लौटी। महिला ने गांव के दो सगे भाइयों पर कथित दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए बताया कि वह 2 माह की गर्भवती है। महिला ने कथित दुष्कर्म के दौरान गर्भवती होने व लोकलाज की दुहाई देते हुए अदालत से गुहार लगाई कि उसे गर्भपात की इजाजत दी जाए।

 

अदालत से इजाजत के बाद पुलिस ने 21 सितंबर को महिला को जिला नागरिक अस्पताल में गर्भपात व बच्चे के डीएनए टेस्ट का सैंपल लेने के लिए भर्ती करवाया। लेकिन महिला 22 सितंबर को अस्पताल से लापता हो गई। इसके बाद महिला के स्वजनों द्वारा कथित दुष्कर्म के मामले में नामजद दोनों भाइयों सहित चार लोगों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज करवा दिया। मामले में नया मोड़ उस वक्त आ गया जब शनिवार को  महिला ने अदालत में अपहरण किए जाने के आरोप को नकार दिया।

 

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *