Connect with us

City

पानीपत में नगर निगम में चार घंटे बिजली गुल

Published

on

Advertisement

पानीपत में नगर निगम में चार घंटे बिजली गुल, सिस्टम फेल व खाली पड़े कंप्यूटर को ताकते रहे लोग

पालिका बाजार स्थित नगर निगम कार्यालय में बुधवार को सुबह नौ बजे बिजली गुल हो गई। लोग सुबह से ही काम करवाने के लिए निगम के आफिस में पहुंच जाते हैं, लेकिन यह भरोसा नहीं होता कि काम हो पाएगा या नहीं। निगम में पहले तो बिजली ने खूब परेशान किया। बुधवार को सुगि नौ बजे ही बिजली गुल हो गई। इसके बाद कुछ लोग तो काफी देर तक इंतजार करने के बाद ही काफी लोग इंतजार करने के बाद मायूस होकर वापस लौट गए। इसके बाद दो बजे के आसपा बिजली आई तो इंटरनेट नहीं चला। इसी तरह लोगों के हाउस टैक्स व प्रापर्टी आइडी संबंधित कामकाज ठप रहे। दिनभर लोग इंतजार करते रहे और फिर मायूस होकर वापस लौट गए।

बुधवार को जब लोगों ने निगम के कर्मचारियों से बिजली गुल होने के कारण पूछा तो सीट उठकर चले और समस्या के बारे में बताना भी जरूरी नहीं समझा। फिर लाइन में लगे लोग खाली कंप्यूटरों को ताकते रह गए। ऐसे में जब निगम के अधिकारियों से बात की तो उन्होंने कहा कि ऐसी कोई परेशानी नहीं है। सभी काम ठीक से चल रहे है। प्रापर्टी टैक्स से लेकर आइडी संबंधित खिड़की पर लोगों की लंबी कतार दिखी। लोग फाइल लेकर सुबह ही पहुंचने शुरू हुए और शाम तक आते ही रहे। लंबी कतार के बीच लोगों की कर्मचारियों के बीच नोक-झोंक होती रही।

Advertisement
पानीपत नगर निगम में चार घंटे बिजली आपूर्ति बाधित।

तीन माह से काट रहे चक्कर

पानीपत निवासी सतीश कुमार ने जागरण से बातचीत में बताया कि तीन माह से प्रापर्टी टैक्स निकलवाने के लिए निगम कार्यालय के चक्कर काट रहा हूं, लेकिन जब भी निगम में काम के लिए आते है तो पता चलता है कि कभी इंटरनेट, बिजली गुल और कभी कर्मचारी नहीं होने के बहाने बना देते है। इसीलिए हर बार बिना काम के ही वापस लौटना पड़ रहा।

नहीं आई लाइट तो इंतजार कर वापस लौटे

राजनगर निवासी सुभाष ने जागरण से बातचीत में बताया कि नगर निगम में सुबह से ही बिजली नहीं थी। प्रापर्टी आइडी में नाम चेंज करवाने के लिए आया थे। लेकिन यहां बिजली गुल होने से काम नहीं हो सका। इसके बाद एक घंटे तक बिजली आने का इंतजार किया, लेकिन बिजली नहीं आने पर वापस घर लौटना पड़ा।

Advertisement

जरनेटर की व्यवस्था नहीं होने के कारण आ रही परेशानी

नगर निगम के डीएमसी जितेंद्र कुमार ने जागरण से बातचीत में कहा कि बिङ्क्षल्डग में जरनेटर की व्यवस्था नहीं हैं। जिसके कारण काम नहीं हो सके। जरनेटर की व्यवस्था को लिए उच्चधिकारियों को कहा गया है।

Advertisement

Advertisement