Connect with us

पानीपत

शराब पार्टी के दाैरान दोस्त ने लाइसेंसी पिस्तौल से प्रॉपर्टी डीलर पर दागी गोली, हालत नाजुक

Published

on

Advertisement

शराब पार्टी के दाैरान दोस्त ने लाइसेंसी पिस्तौल से प्रॉपर्टी डीलर पर दागी गोली, हालत नाजुक

 

सेक्टर 13/17 के यमुना एन्क्लेव में रविवार रात करीब 12:30 बजे शराब पार्टी के दौरान दोस्त जोनी ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से प्रॉपर्टी डीलर 33 वर्षीय मनीष को गोली मारकर घायल कर दिया। पार्टी में कहासुनी होने पर उसने फायर किया था।

Advertisement

गोली लगने के बाद दोस्तों ने गुमराह करने के लिए पुलिस को मनगढ़ंत कहानी बता दी थी। एफआईआर में घटनास्थल बदलकर कार सवारों द्वारा गोली चलाने की बात लिखवाई थी। जब मनीष को होश आया तो उसने सच्चाई बता दी।

पुलिस ने महज 19 घंटे में ही केस सॉल्व करके जोनी को गिरफ्तार कर उसकी लाइसेंसी पिस्टल बरामद कर ली है। मंगलवार को उसे कोर्ट में पेश करेगी। तहसील कैंप के भगत नगर निवासी मनीष पुत्र हरिओम का तहसील कैंप व नूरवाला में प्रॉपर्टी डीलर का ऑफिस है। वहीं आरोपी जोनी पुत्र श्रीपाल गोहाना का रहने वाला है।

Advertisement

पानीपत. गोली लगने के बाद घायल का बयान लेती एसएचओ सुनीता। - Dainik Bhaskar

सेक्टर 13/17 थाने की एसएचओ सुनीता ने बताया कि मनीष, जोनी व उनके 3 दोस्तों ने पहले कार में शराब पी। फिर वे पार्टी के लिए यमुना एन्क्लेव में दोस्त रामबीर पुत्र ताराचंद के घर चले गए। वहां पार्टी के दौरान मनीष ने कहा कि ज्यादा हल्ला मत करो और आराम से घर जाओ। तब दूसरी मंजिल पर खड़े जोनी ने अपनी पिस्टल से गोली चला दी। जो तीसरी मंजिल पर खड़े मनीष को लगी। इसके बाद दोस्त उसे निजी अस्पताल में ले गए और पुलिस को सूचना दी। सोमवार दोपहर को अस्पताल जाकर एसएचओ ने मनीष के बयान लिए तो उसने बताया कि जोनी ने गोली चलाई है।

Advertisement

दोस्त ने बचने के लिए लिखवाई मनगढ़ंत एफआईआर

सुधीर नगर में मनसाराम स्कूल के पास रहने वाले पंकज पुत्र सुभाष चंद ने पुलिस को शिकायत दी कि 21 फरवरी को उसके पास दोस्त मनीष का कॉल आया। बोला कि जोनी, भुसाना गांव का मिनु, यमुना एनक्लेव का रामबीर उसके साथ हैं। खाने-पीने के लिए मुझे भी बुलाया।

रात 10 बजे मैं कार लेकर बरसत रोड चुंगी पर पहुंच गया। वहां मनीष व उसके साथी मिल गए। कार में बैठकर खाने-पीने लगे और घूमने लगे। रात करीब 12:15 बजे घुमते हुए यमुना एनक्लेव मोड़ से सेक्टर 13-17 के पास पहुंचे तो मनीष ने कार रोकने के लिए कहा। मैंने कार रोक दी तब मनीष सड़क पार करके पेशाब करने लगा। तभी चुंगी की तरफ से कार सवारों ने मनीष को गोली मार दी और सेक्टर-18 की तरफ भाग गए।

फेफड़ों को चीरती हुए कमर में फंसी थी गोली : मनीष का निजी अस्पताल में ऑपरेशन कर गोली निकाल दी गई। डॉ. पंकज मुटनेजा ने बताया कि गोली मनीष के हाथ को छूती हुई सीने और नीचे से फेफड़ों को चीरती हुई कमर में धंस गई थी। रविवार रात करीब 2 बजे ऑपरेशन करके गोली निकाली गई। अभी उसकी हालत स्थिर बनी हुई है।

 

 

 

Source : Bhaskar

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *