Connect with us

विशेष

धनतेरस से पहले सोने का भाव गिरा, सरकार भी कल तक बेचेगी सस्ता सोना

Published

on

Advertisement

धनतेरस से पहले सोने का भाव गिरा, सरकार भी कल तक बेचेगी सस्ता सोना

धनतेरस पर सोने की खरीदारी शुभ

भारतीय परंपरा में धनतेरस पर सोने की खरीदारी को शुभ माना जाता है. इसलिए इस मौके पर लोग सोने में निवेश करते हैं. लेकिन इस बार कोरोना संकट की वजह से गोल्ड की डिमांड उम्मीद के मुताबिक नहीं है. जिस वजह से भाव में दबाव दिख रहा है.

Advertisement
सोने की कीमतों में नरमी

दिल्ली सर्राफा बाजार में मंगलवार को सोने की कीमत में 662 रुपये प्रति 10 ग्राम की नरमी देखी गई, बुधवार को भी भाव में गिरावट का सिलसिला जारी रहा. बुधवार को 24 कैरेट 10 ग्राम सोने का भाव 50,650 रुपये था, जबकि 22 कैरेट का भाव 49,650 रुपये था. पिछले कुछ दिनों से लगातार सोने की चमक फीकी पड़ी है.

गोल्ड में 4 तरीके से निवेश

अगर आप इस त्योहारी सीजन में गोल्ड खरीदने की सोच रहे हैं तो ये जरूरी नहीं कि ज्वेलरी ही खरीदें. आप गोल्ड में चार तरीके से निवेश कर सकते हैं. दरअसल, भारत में निवेश के लिए सोना एक भरोसेमंद विकल्प होता है. वर्षों से लोग अपनी बचत को सोने में निवेश करते हैं. आइए जानते हैं कि सोने में निवेश के अलग-अलग विकल्पों के बारे में.

Advertisement
फिजिकली गोल्ड

फिजिकली गोल्ड
सबसे पुराना और आसान तरीका है, लोग निवेश के तौर पर सोने की ज्वेलरी या फिर सिक्के खरीदते हैं. आप किसी ज्वेलर्स के पास जाकर या फिर ऑलनाइन गोल्ड खरीद सकते हैं. कई कंपनियां घर तक ज्वेलरी पहुंचा देती हैं. ग्रामीण इलाकों में लोग आज भी सोने में निवेश के लिए ज्वेलरी ही चुनते हैं. इस बार कोरोना की वजह से ज्वेलरी डिमांड काफी घटी है.

गोल्ड म्यूचुअल फंड्स

गोल्ड म्यूचुअल फंड्स
आप म्यूचुअल फंड के जरिये भी गोल्ड में निवेश कर सकते हैं. बाजार में कई गोल्ड म्यूचुअल फंड्स है, जो गोल्ड ईटीएफ में निवेश करता है. जैसे-जैसे गोल्ड की प्राइस घटती-बढ़ती है. आपका निवेश भी उसी हिसाब से घटता-बढ़ता है.

Advertisement
डिजिटल गोल्ड 

डिजिटल गोल्ड 
सोने में निवेश के लिए डिजिटल गोल्ड भी एक जरिया है. कई बैंक, मोबाइल वॉलेट और ब्रोकरेज कंपनियां एमएमटीसी-पीएएमपी या सेफगोल्ड के साथ टाइअप कर अपने ऐप के जरिए गोल्ड की बिक्री करती हैं. इसके अलावा आप शेयर बाजार में कमोडिटी एक्सचेंज के तहत भी गोल्ड की खरीद-बिक्री कर सकते हैं.

गोल्ड बॉन्ड की जमकर खरीदारी

हर साल दिवाली से पहले धनतेरस के शुभ मौके पर गोल्ड ईटीएफ और गोल्ड बॉन्ड की जमकर खरीदारी होती है. इस मौके पर भारतीय शेयर बाजार की ओर से भी ग्राहकों की भीड़ को देखते हुए खास तैयारी की जाती है.

सॉवरेन गोल्ड बांड्स 
इस बार धनतेरस के मौके पर 13 नवंबर तक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं. इसके लिए आरबीआई ने भाव 5177 रुपये प्रति ग्राम तय किया है. ऑनलाइन भुगतान पर प्रति ग्राम सोने की खरीदारी पर 50 रुपये की छूट मिलेगी.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में कम से कम एक ग्राम सोने की खरीदारी की जा सकती है. निवेशकों को ऑनलाइन या कैश से इसे खरीदना होता है और उसके बराबर मूल्य का सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड उन्हें जारी कर दिया जाता है. इसकी मैच्योरिटी पीरियड आठ साल की होती है. लेकिन पांच साल के बाद इसमें बाहर निकलने का विकल्प भी है. फिजिकली सोने की खरीदारी कम करने के लिए यह स्कीम लॉन्च की गई है.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के फायदे

साल 2015 से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश का विकल्प आया है, अगर फायदे की बात करें तो सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में सालाना 2.5 फीसदी का ब्याज भी मिलता है. गोल्ड बॉन्ड में न्यूनतम एक ग्राम सोना का निवेश किया जा सकता है और आम आदमी के लिए अधिकतम निवेश की सीमा चार किलोग्राम है, जबकि हिंदू अविभाजित परिवार (एचयूएफ) के लिए चार किलोग्राम और ट्रस्ट के लिए यह सीमा 20 किलोग्राम है. पिछले कुछ सालों में लोगों का रुझान सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में तेजी से बढ़ा है.

Source : Aaj Tak

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *