Connect with us

City

करनाल का सौभाग्य, भारतमाला प्रॉजेक्ट के तहत करनाल को मिली यह सौग़ात

Published

on

Advertisement

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार की भारतमाला परियोजना के तहत करनाल में रिंग रोड का निर्माण किया जाएगा। इसकी डीपीआर लगभग तैयार है, जो केंद्र व राज्य सरकार से अनुमोदित होगी। सितंबर तक टैंडर लगेगा और इसी के साथ रिंग रोड का कार्य शुरू हो सकता है।

प्रोजेक्ट को लेकर शुक्रवार को लघु सचिवालय सभागार में उपायुक्त निशांत यादव की अध्यक्षता में बैठक हुई। इसमें राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अंबाला कार्यालय के परियोजना निदेशक वीरेंद्र सिंह, तकनीकी प्रबंधक अंकुश मेहता, जिला राजस्व अधिकारी श्याम लाल, सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता और वन विभाग के प्रतिनिधि अधिकारी शामिल हुए।

Advertisement

Delhi to Meerut in 45 minutes. 7 facts to know about this 'smart highway'

क्या है रिंग रोड परियोजना

Advertisement

उपायुक्त ने बताया कि रिंग रोड साढ़े 34 किलोमीटर लंबा होगा। यह जिले के 23 गांवों से होता हुआ जाएगा। 219 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण किया जाएगा। यह कार्य सितंबर-अक्टूबर तक कर लिया जाएगा। इसके बाद 15 नवबंर तक सभी अवार्ड दिए जाएंगे और 2021 के अंत तक निर्माण शुरू होकर 24 से 30 माह में पूरा हो सकता है। भूमि अधिग्रहण और यूटिलिटी शिफ्टिंग के पर केंद्र व राज्य सरकार की तरफ से आधा-आधा खर्च वहन होगा

कहां से कहां तक होगा करनाल रिंग रोड-

Advertisement

उपायुक्त ने बताया कि रिंग रोड सिक्स लेन का बनेगा, जिसकी चौड़ाई करीब 60 मीटर होगी। करनाल के पश्चिम में शामगढ़ के साथ लगते विवान होटल के पास शुरू होकर यह मार्ग गांव दरड़ से नेवल, शेखपुरा, गंजोगढ़ी से होते कुटेल के पास टोल प्लाजा तक जाएगा। रिंग रोड की दूसरी अलाइंमेंट नेशनल हाइवे से गुजरती पश्चिमी यमुना नहर की पटरी पर बनी सड़क से जुड़ी होगी, जो कैथल रोड क्रास करती आगे बड़ौता गांव तक जाएगी। वहां से खरकाली, झिमरहेड़ी होते एनएच-44 को क्रास करके रिंग रोड से मिलेगी।

Just 45 minutes travel! Delhi-Meerut Expressway opens today for public; details here - The Financial Express

रिंग रोड परियोजना में आएंगे ये गांव

इस परियोजना में नीलोखेड़ी के गांव शामगढ़, दादूपर, झंझाड़ी, कुराली, दरड़, सलारू, टपराना, दनियालपुर व नेवल तथा करनाल के गांव कुंजपुरा, सुभरी, छपराखेड़ा, सुहाना, शेखपुरा, रावंर, गंजोगढ़ी, बड़ौता, कुटेल व ऊंचा समाना तथा घरौंडा के गांव खरकाली, झिमरहेड़ी, समालखा व बिजना सहित कुल 23 गांव आएंगे।

प्रोजेक्ट में शामिल है लाजिस्टिक पार्क

उपायुक्त ने बताया कि परियोजना में करीब 50 हेक्टेयर क्षेत्र में गंजोगढ़ी गांव के पास लाजिस्टिक पार्क बनाना प्रस्तावित है, जिसमें मैकेनाइज्ड वेयर हाउस व कोल्ड स्टोर बनेंगे। उन्होंने बताया कि भारत माला परियोजना एक राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना है। इसके तहत नए राजमार्गों के अलावा उन परियोजनाओं को पूरा करा जा रहा है, जो अधूरी हैं।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *