Connect with us

पानीपत

दो घूंट पानी मांगने पर आरा मशीन से काट दिया हाथ, अलग थाना क्षेत्र बताकर चक्कर कटवाती रही पुलिस

Published

on

Spread the love

दो घूंट पानी मांगने पर आरा मशीन से काट दिया हाथ, अलग थाना क्षेत्र बताकर चक्कर कटवाती रही पुलिस

15 दिन पहले सहारनपुर से पानीपत काम की तलाश में आए युवक पर रहने के लिए कमरा नहीं था। इसलिए किशनपुरा स्थित पार्क में लेट गया। देर रात प्यास लगी तो उसने एक घर से पीने के लिए पानी मांगा। युवक का आरोप है कि उस घर में मौजूद लोगों ने उसे अंदर खींच लिया। पहले सिर में ईंट मारी फिर 4 घंटे तक लाठी-डंडों से पीटा। उसके बाद आरा मशीन से हाथ काट दिया।

इसके बाद रेलवे लाइन के पास फेंक दिया। होश आने पर राहगीर की मदद से परिजनों को कॉल किया। भाई का आरोप है कि वह 15 दिन से किशनपुरा चौकी और थाना जीआरपी के चक्कर काट रहा है। लेकिन सुनवाई नहीं हुई। जीआरपी के एसएचओ राजकुमार का कहना है कि मामला चांदनीबाग थाने का है। फिलहाल बयान दर्ज कर लिए हैं।

निल पर केस दर्ज कर थाना चांदनीबाग को भेजा जाएगा। कस्बा ननौता जिला सहारनपुर (यूपी) के रहने वाले इकराम सलमानी ने बताया कि भाई इकलाख 23 अगस्त को पानीपत काम की तलाश में आया था। अगले दिन सुबह करीब 5 बजे उसने किसी के मोबाइल से कॉल कर बताया कि उसकी हालत गंभीर है। उसने पानीपत में रहने वाले एक परिचित को इकलाख के पास भेजा। परिचित ने उसे किशनपुरा चौकी की मदद से सिविल अस्पताल में भर्ती करा दिया। वह उसी दिन सुबह 10 बजे पानीपत पहुंच गए। हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने उसे रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया।

दोनों तरफ की पुलिस झाड़ती रही पल्ला
भाई इकराम का आरोप है कि किशनपुरा चौकी तो कभी जीआरपी थाने का चक्कर काट रहे हैं। दोनों ही पुलिस अपने-अपने क्षेत्र का मामला न होने की बात कह रही है। इसलिए उसने सोशल मीडिया पर मामला वायरल कर दिया। सोमवार दोपहर को जीआरपी पानीपत ने पीड़ित के बयान दर्ज किए।

देर रात प्यास लगने पर गया था पानी मांगने
इकलाख ने बताया कि शाम करीब 6 बजे वह किशनपुरा स्थित पार्क में बैठा था। तभी नशे में धुत दो-तीन युवक आ गए। पार्क में बैठने का कारण पूछने लगे। कुछ देर बाद वह युवक चले गए। वह पार्क में ही लेट गया। रात को 1:30 बजे प्यास लगी। पार्क के गेट के सामने वाले घर का दरवाजा खटखटाया। घर काफी बड़ा था।

गाय-भैंस भी बंधी थी। चारा काटने के लिए आरा मशीन लगी थी। घर उन्हीं युवकों का था जिनसे पार्क में विवाद हुआ था। उन्होंने उसे अंदर खींचकर 4 घंटे तक टॉर्चर किया। उसके बाद आरा मशीन से हाथ काट दिया। जीआरपी एचएचओ राज कुमार ने कहा कि घटनास्थल किशनपुरा का है। इसलिए निल पर केस दर्ज कर चांदनी बाग थाने में केस ट्रांसफर किया है। जांच जारी है।