Connect with us

जींद

‘शादी के लड्‌डू’ खाने आना था डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला को, विरोधियों ने हेलीपैड को कस्सियों से खोदा; दौरा रद्द

Published

on

Advertisement

‘शादी के लड्‌डू’ खाने आना था डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला को, विरोधियों ने हेलीपैड को कस्सियों से खोदा; दौरा रद्द

 

हरियाणा के उचाना में गुरुवार को प्रदेश के डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला का दौरा रद्द हो गया। पता वला है कि उन्हें किसी परिचित के एक निजी शादी समारोह में आना था, लेकिन इसके कुछ ही घंटे पहले कुछ लोगों ने उनके लिए बनाया गया हेलीपैड की तहस-नहस कर दिया। कहा जा रहा है कि यह सब नाराज किसानों ने किया है, बहरहाल चौटाला का दौरा रद्द हो गया है, वहीं पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

Advertisement

2019 के विधानसभा चुनाव में दुष्यंत चौटाला ने अपने ही नेतृत्व वाली जननायक जनता पार्टी (JJP) से जींद के उचाना से चुनाव लड़ा था। उन्‍होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता बीरेंद्र सिंह की पत्नी प्रेम लता को हराया था। 1977 से अब तक उचाना विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने 6 चेहरों को ही विधायक बनाकर विधानसभा में भेजा है। बीरेंद्र सिंह, देशराज नंबरदार, भाग सिंह छात्तर, ओमप्रकाश चौटाला, प्रेमलता को विधायक बना विधानसभा में भेजा है। बीरेंद्र सिंह सर्वाधिक पांच बार उचाना से विधायक बने हैं। दुष्यंत चौटाला छठे नए चेहरे के रूप में सामने आए।

Advertisement

जीत का सबसे बड़ा रिकॉर्ड बना था दुष्यंत के नाम

इससे भी बड़ी उपलब्धि दुष्यंत की यह रही कि उनकी जीत के अंतर के रूप में 47452 वोटों का इस सीट से अब तक की सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड बन गया। इससे पहले सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड इनेलो के देसराज नंबरदार के नाम था, जिन्होंने 1987 में कांग्रेस के सूबे सिंह को 45248 मतों के अंतर से हराया था। दुष्यंत चौटाला ने नया रिकॉर्ड बनाया। अब हलके की जनता खासकर किसान-कमेरा वर्ग पार्टी से नाराज नजर आ रहा है।

Advertisement

कर चुके हैं इस्तीफा देने का ऐलान

गौरतलब है कि कृषि कानूनों को लेकर देशभर के किसान केंद्र सरकार के साथ-साथ तमाम भाजपा सहयोगियों से नाराज हैंं। पिछले 29 दिन से दिल्ली की दहलीज पर चारों तरफ धरने चल रहे हैं। इसी आक्रोश के चलते बीते दिनों हरियाणा के जींद में ही 40 खापों की महापंचायत में जजपा और निर्दलीय विधायकों पर भाजपा से समर्थन वापसी के लिए दबाव बनाने का फैसला किया गया था। हालांकि दूसरी ओर दुष्यंत चौटाला ने कहा था कि अगर MSP पर सरकार को राजी नहीं कर पाए तो वह उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर एक तरफ हो जाएंगे।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *