Connect with us

विशेष

हरियाणा सरकार का फैसला, जानिए किन शहरो में हुई ज्यादा सख्ती

Published

on

Advertisement

हरियाणा सरकार कोरोना के बढ़ते मामलों के बावजूद गुरुग्राम और फरीदाबाद में लॉकडाउन नहीं लगाएगी। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए दोनों जिलों के अलावा करनाल, सोनीपत और हिसार में सख्ती और बढ़ाई जाएगी। जिलों में डीसी हालात के मद्देनजर अपने स्तर पर धारा-144 लगा सकेंगे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में शनिवार को राज्य स्तरीय निगरानी समिति की बैठक में यह निर्णय लिए गए।

Advertisement

निगरानी समिति की बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार प्रदेश के अस्पतालों में 2250 ऑक्सीजन बेड और बढ़ाएगी। पीजीआई रोहतक में 1000 ऑक्सीजन बेड और अन्य मेडिकल कॉलेज, अस्पतालों में ऑक्सीजन युक्त 1250 बेड बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। सेना ने चिकित्सक और स्टाफ भेजा है। अटल बिहारी अस्पताल में 200 बेड की व्यवस्था की जाएगी। निजी अस्पतालों में 50 प्रतिशत बेड कोविड मरीजों के लिए आरक्षित रहेंगे।

समारोहों में सिर्फ 50 लोग ही होंगे शामिल

Advertisement

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि पारिवारिक, सामाजिक समारोहों में अब सिर्फ 50 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी। अंतिम संस्कार में 20 लोग ही शामिल हो पाएंगे। सरकारी और निजी दफ्तरों में वर्क फ्रॉम होम को बढ़ावा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि सरकारी अस्पतालों में ओपीडी का समय कम किया गया है, साथ ही अब कोविड मरीजों को प्राथमिकता दी जाएगी। अस्पतालों की प्रत्येक स्थिति पर निगरानी के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास राज्य नोडल अधिकारी बनाए गए हैं।

Advertisement

निशुल्क टीकाकरण के लिए पंजीकरण 28 से

18 से 44 साल के 1.1 करोड़ लोगों के निशुल्क टीकाकरण के लिए 28 अप्रैल से पंजीकरण शुरू होगा। 1 मई से शुरू हो रहे टीकाकरण पर राज्य सरकार करीब 880 करोड़ रुपये खर्च करेगी। निजी अस्पतालों में 18 से 44 साल के लोगों को टीका फ्री में नहीं मिलेगा। सरकार कॉरपोरेट घरानों से अपील करेगी कि वे अपने कर्मियों और मजदूरों का टीकाकरण अपने खर्च पर करवाएं।

 

Source : Amar Ujala

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *