Connect with us

विशेष

हरियाणा में कोरोना वैक्सीन के तीसरे फेज का ट्रायल 20 से, अनिल विज ने की पहला टीका लगवाने की पेशकश

Published

on

Advertisement

हरियाणा में कोरोना वैक्सीन के तीसरे फेज का ट्रायल 20 से, अनिल विज ने की पहला टीका लगवाने की पेशकश

 

हरियाणा में कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल (परीक्षण) 20 नवंबर यानी शुक्रवार से आरंभ होने वाला है। प्रदेश के गृहमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट के जरिये इस परीक्षण की जानकारी दी और साथ ही कहा कि भारत बायोटेक की कोवैक्सीन परीक्षण में वह पहले वालंटियर के तौर पर खुद टीका लगवाने की इच्छा रखते हैं। मंत्री की इस पेशकश को इंटरनेट मीडिया पर खूब पसंद किया जा रहा है। विज ने कोरोना काल में जिस तरह से पल-पल का अपडेट अधिकारियों से लिया और उसे मीडिया के साथ साझा किया, उससे लोग वास्तविक स्थिति जानने-समझने में कामयाब हो सके हैं।

Advertisement

देशभर के 20 रिसर्च सेंटरों में 25 हजार 800 वालंटियर्स को कोवैक्सीन की डोज दी जाएगी। 20 सेंटर में से एक पीजीआइएमएस रोहतक भी अपने वालंटियर को यह डोज देने के लिए तैयार है। कोवैक्सीन रिसर्च के को-इन्वेस्टिगेट डा. रमेश वर्मा ने बताया कि तीसरा फेज शुरू करने की अनुमति मिल चुकी है। इस फेज में स्वास्थ्यकर्मी, डाक्टर, नर्स, फार्मासिस्ट, लैब तकनीशियनों के अलावा कंट्रोल्ड शुगर, बीपी, हार्ट और दमा के मरीज भी वैक्सीन लगवा सकते हैं

हरियाणा में कोरोना वैक्सीन के तीसरेे चरण का ट्रायल 20 से। सांकेतिक फोटो

Advertisement

पहले फेज में संस्थान ने 375 व दूसरे फेज में 380 वालंटियर्स को कोवैक्सीन की डोज दी थी। अब तीसरे फेज में 25,800 वालंटियर्स को यह डोज दी जाएगी। हरियाणा में 600 लोगों पर परीक्षण किया जाएगा। वैक्सीन के आते ही इसे लगाना शुरू कर दिया जाएगा। इस रिसर्च की प्रिंसिपल इन्वेस्टिगेटर डा. सविता वर्मा, को-इन्वेस्टिगेटर डा. ध्रुव चौधरी व डा. पीएस गिल भी उनके साथ हैं।

रमेश वर्मा ने बताया कि दो फेज में जितने भी वालंटियर्स को कोवैक्सीन की डोज दी गई है, उन्हें अभी तक कोई साइड इफेक्ट नहीं हुआ है। यही नहीं किसी भी वालंटियर के कोरोना संक्रमित होने की भी कोई रिपोर्ट नहीं है। ऐसे में इस वैक्सीन से उम्मीद बढ़ गई है कि यह संक्रमण से बचे लोगों को इस वायरस से बचाने में सहायक साबित होगी।

Advertisement

साथ-साथ चलेंगे जिंदगी और कोरोना से बचाव के तरीके

अनिल विज ने प्रदेश में फिर से बढ़ रहे कोरोना केसों पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिस तथा स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट किया गया है। दोनों विभाग लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ कार्रवाई भी कर रहे हैं। विज ने कहा कि कोरोना को लेकर सभी जिलों के सिविल सर्जनों से स्टेटस रिपोर्ट मांगी गई है। इस संबंध में अगर कोई कड़ा फैसला लेना पड़ा तो सरकार पीछे नहीं हटेगी।

हरियाणा के स्कूलों में आ रहे कोरोना केसों पर चिंता व्यक्त करते हुए अनिल विज ने कहा कि प्रदेश के सभी स्कूल प्रबंधकों को निर्देश दिए गए हैं कि वह कोरोना गाइडलाइन का पालन कर ही स्कूल खोलें। स्कूलों में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मास्क पहनने तथा सेनीटाइजेशन का ख्याल रखने की जरूरत है। कोरोना से बचाव के तरीकों और सख्ती से पालन करना होगा क्योंकि अब जिंदगी और कोरोना से बचाव के तरीके भी साथ साथ चलेंगे।

 

कोरोना के मामले में यह है हरियाणा की स्थिति

हरियाणा में अभी तक कुल दो लाख 6 हजार 450 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं जिनमें से एक लाख 84 हजार 761 लोग ठीक हो चुके हैं। इसके साथ ही एक्टिव केसों की संख्या 19 हजार पर पहुंच गई है। 3820 लोगों की सैंपल रिपोर्ट का इंतजार है। प्रदेश में पाजिटिव रेट 6.78 फीसद पर पहुंच गया है। रिकवरी रेट 89.62 फीसद पर आ गया है। 61 दिन में मामले दोगुने हो रहे हैं। प्रत्येक दस लाख लोगों पर एक लाख 19 हजार 179 लोगों की जांच की जा रही है।

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *