Connect with us

पानीपत

Haryana Panipat Farmers Protest : दिल्‍ली की ओर बढ़ रहा सैकड़ों ट्रैक्‍टर ट्रालियों में किसानों का जत्‍था, थोड़ी देर पहले पानीपत से गुजरा

Published

on

Advertisement

Haryana Panipat Farmers Protest : दिल्‍ली की ओर बढ़ रहा सैकड़ों ट्रैक्‍टर ट्रालियों में किसानों का जत्‍था, थोड़ी देर पहले पानीपत से गुजरा

 

किसानों ने एक दिन के लिए टोल नाकों को टोल फ्री करने की मुहिम छेड़ी है। कृषि कानून का विरोध कर रहे किसानों के आह्वान पर टोल प्‍लाजा पर सुबह से ही किसान पहुंचने शुरू हो गए। दिल्‍ली चंडीगढ़ नेशनल हाईवे के ज्‍यादातर टोल पर किसानों ने पहुंचकर फ्री करवाया। पानीपत के बाबरपुर और डाहर टोल प्‍लाजा सहित करनाल, यमुनानगर, अंबाला और जींद में भी टोल प्लाजा पर किसानों ने कब्‍जा कर वाहनों को फ्री में जाने दिया।

Advertisement

वहीं अभी अभी पानीपत से सैकड़ों की संख्‍या में ट्रैक्‍टर ट्रालियों में किसान पहुंचे। किसान पंजाब से दिल्‍ली जा रहे। इतनी भारी संख्‍या में किसानों की भीड़ देखकर प्रशासन सतर्क हो गया। वहीं टोल प्‍लाजा पर उनके समर्थन में नारे लगे।

पानीपत में सैकड़ों की संख्‍या में पहुंचे किसान।

Advertisement

 

माॅल से लेकर हर स्तर पर किए गए पुख्ता सुरक्षा प्रबंध

Advertisement

करनाल में कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग उठाते हुए किसान लगातार सड़कों पर उतरकर विरोध जता रहे हैं। एक तरफ जहां जिले के दोनों टोल प्लाजा फ्री कराने के साथ ही किसानों के जत्थे लगातार दिल्ली कूच कर रहे हैं वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में धरने प्रदर्शन का सिलसिला भी जारी है। इसके अलावा एक कंपनी के विरोध में असंध में रोष जता रहे किसानों ने पेट्रोल पंप बंद करा दिया जबकि जिला मुख्यालय पर भी किसानों के तेवर देखते हुए पुलिस प्रशासन की ओर से मुख्य बाजार स्थित मॉल पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

 

किसानों के आंदोलन को देखते हुए पुलिस प्रशासन लगातार अलर्ट मोड पर है। शहर से लेकर गांव देहात तक हर स्तर पर भरपूर चौकसी बरती जा रही है। एसपी गंगाराम पूनिया खुद हर छोटी बड़ी गतिविधि की जानकारी लेने के साथ नियमित रूप से मॉनिटरिंग भी कर रहे हैं। हालांकि, बीती मध्यरात्रि से ही किसानों ने अपनी पूर्व घोषणा पर फौरी अमल करत हुए जिले के दोनों ही टोल प्लाजा को सामान्य आवागमन के लिए मुफ्त करा दिया है। पुलिस प्रशासन की ओर से भी एहतियात बरतते हुए हालांकि, दोनों जगह कोई कार्रवाई नहीं की गई है लेकिन हर स्तर पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध अवश्य किए गए हैं। इसी क्रम में शहर के कुंजपुरा रोड स्थित रिलायंस मॉल के आसपास भी निगरानी रखी जा रही है ताकि यहां किसी प्रकार का हंगामा न हो सके। दोपहर एक बजे तक माॅल में स्थिति पूरी तरह सामान्य रही।

 

दूसरी ओर, ग्रामीण क्षेत्रों में भी किसान लगातार मोर्चा खोले हुए हैं। इसके तहत असंध क्षेत्र में किसान संगठनों के आह्वान पर क्षेत्र के किसानों ने अपने नेता छत्रपाल सिंधड की अगुवाई में पेट्रोल पंप के गेट पर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसानों ने पम्प पर तेल लेने के लिए आने वाले लोगों को भी नही आने दिया। पंप बंद कराने के साथ ही किसानों ने संघर्ष की प्रतिबद्धता भी दाेहराई। किसान नेता छत्रपाल सिंधड ने कहा कि सरकार जब तक किसानों की मांगें नहीं मानती, तब तक इसी तरह विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि किसानों की सभी मांगें पूरी तरह जायज हैं। छोटे किसान एकमवीर सिंह ने कहा कि किसानों के संघर्ष में हर स्तर पर आवाज बुलंद की जाएगी।

 

हाईवे पर हुक्का गुड़गुड़ा रहे किसान

आंदोलनरत किसान हाईवे पर डेरा जमाए तो बैठे ही हैं, पूरी बेफिक्री के साथ हुक्का भी गुड़गुडा रहे हैं। दिल्ली-चंडीगढ़ हाईवे स्थित बसताड़ा टोल प्लाजा पर जमा किसान धरना प्रदर्शन करने के साथ ही हुक्का गुड़गुड़ाते हुए मौजूदा हालात को लेकर आपस में राय मशविरा करने में जुटे हैं। पंजाब की दिशा से आ रहे जत्थों में शामिल किसान भी कुछ समय उनके बीच बिता रहे हैं तो कई किसानों के साथ बच्चे भी यहां आकर पारिवारिक एकजुटता दर्शा रहे हैं। कमोबेश यही नजारा जींद हाईवे स्थित जिले के दूसरे टोल प्लाजा प्योंत पर भी नजर आ रहा है, जहां लगातार नारेबाजी कर रहे किसानों ने हर सीमा तक संघर्ष करने का संकल्प दोहराया।

 

टोल प्‍लाजा पहुंचे करनाल में विधायक हरविंद्र कल्‍याण, किसानों ने किया घेराव  

करनाल के घरौंडा के विधायक हरविंद्र  कल्याण नेशनल हाईवे स्थित टोल प्लाजा पर पहुंचे। यहां किसानों ने उनकी गाड़ी का घेराव करते हुए विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। किसान लगातार उनके सामने विरोध करते रहे। विधायक के समझाने के बावजूद किसान नहीं मानें।

 

– किसानों ने करनाल के असंध में एक कंपनी के पेट्रोल पंप को किया बंद।

Farmers Protest Karnal

– यमुनानगर में सुबह 9 से शाम पांच बजे टोल पर 10 लाख का नुकसान होगा।

Farmers Protest Yamunanagar

– यमुनानगर में टोल प्लाजा पर किसानों ने एक कपंनी के सिम कार्ड जलाए।

पानीपत में जीटी रोड पर बाबरपुर के नजदीक एलएंडटी कंपनी का टोल नाका है। इस नाके पर शुक्रवार रात करीब एक बजे दिल्‍ली से कुछ किसान पहुंचे तो टोल कर्मियों ने नाका फ्री कर दिया। सभी वाहनों को बिना टोल शुल्‍क वसूले जाने दिया गया। सुबह फिर से नाका लगा दिया गया। केवल किसानों की लगी झंडी वालों को ही फ्री जाने दिया। यह सूचना मिलते ही किसान यूनियन से जुड़े नेता टोल नाके पर पहुंच गए। करीब पौने ग्‍यारह बजे नाके को फिर से फ्री कर दिया गया।

Farmers Protest Panipat

बिना झंडी वालों से वसूला टैक्‍स

सुबह दस बजे के करीब टोल नाका फ्री नहीं हुआ था। जिनकी गाड़ी पर किसान यूनियन की झंडी लगी थी, उन्‍हें फ्री जाने दिया गया। जिनकी गाड़ी पर झंडी नहीं थी, उसे रोक लिया जाता। फास्‍टैग से टैक्‍स वसूला जाता। जिसके पास फास्‍टैग नहीं था, उससे नकद राशि ली गई। फाटक नहीं खोला गया। हालांकि बाद में सभी के लिए टोल नाका फ्री कर दिया गया।

किसान एकता जिंदाबाद के नारे

जीटी रोड पर ही किसानों ने किसान एकता जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। टोल के सभी बूथों पर जाकर कहा कि आज किसी से टोल टैक्‍स नहीं लिया जाए। अगर टोल टैक्‍स लिया तो वे धरने पर बैठ जाएंगे।

दो डीएसपी नियुक्‍त

कानून व्‍यवस्‍था बनाए रखने के लिए बाबरपुर और डाहर के पास दोनों टोल नाकों पर दो डीएसपी के नेतृत्‍व में पुलिस तैनात है। हालांकि किसानों के तेवर को देखते हुए कोई रोकने के लिए आगे नहीं आ रहा है। टोल नाके फ्री हो चुके हैं।

Farmers Protest Panipat

डाहर नाके पर पहुंचे किसान, नारेबाजी

पानीपत में रोहतक की तरफ जाने वाले रास्‍ते पर डाहर के नजदीक टोल नाका है। सुबह से ही पुलिस फोर्स नाके पर पहुंच गई। किसानों का एक दल टोल नाके पर पहुंचा और अपील की कि टोल नाके को फ्री कर दें। टोल कर्मी अपनी सीट से पीछे हट गए। सभी बैरियर खोल दिए गए। टोल नाका फ्री कर दिया गया है।

Farmers Protest Yamunanagar

यमुनानगर में भी मिल्क माजरा में टोल पर पहुंचे किसा

कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग को लेकर किसानों ने मिल्क माजरा टोल को फ्री करा दिया। सुबह करीब साढ़े नौ बजे भाकियू चढूनी गुट के नेतृत्व में किसान टोल पर पहुंचे। यहां पर वाहनों को निशुल्क निकाला गया। इस दौरान सरकार के खिलाफ भी नारेबाजी की गई।

 

भाकियू के प्रधान संजू भी पहुंचे

भाकियू के जिला प्रधान संजू गूूंदियाना ने कहा कि कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग को लेकर यह आंदोलन है। इसके तहत ही टोल को फ्री कराया गया है। सुबह साढ़े नौ बजे से लेकर पांच बजे तक किसी भी भी वाहन से टोल नहीं वसूलने दिया जाएगा। यह आंदोलन पूरी तरह से शांतिपूर्वक होगा। आंदोलन में शामिल सभी किसानों को इस बारे में समझा दिया गया है। किसी भी वाहन को नहीं रोका जाएगा।

 

कर्मियों ने भी नहीं किया कोई विरोध

सुबह जैसे ही किसान टोल पर पहुंचे, तो कर्मियों ने भी कोई विरोध नहीं किया। भाकियू पदाधिकारियों ने टोल फ्री कराने की पहले ही घोषणा कर दी थी। जिसके चलते कर्मी पहुंचे, लेकिन किसी भी वाहन के निकलने का विरोध नहीं किया गया। इस दौरान सुरक्षा के मद्देनजर एसडीएम जगाधरी दर्शन कुमार पुलिस बल के साथ मौजूद रहे।

 

लगाई गई थी धारा 144

डीसी ने किसानों के इस आंदोलन को देखते हुए धारा 144 लागू की थी, लेकिन उसका भी कोई असर नहीं दिखाई दिए। सैंकड़ों की संख्या में किसान टोल पर जुटे। पुलिस मौजूद रही, लेकिन किसी भी किसान का कोई विरोध नहीं किया गया।

Farmers Protest Karnal

करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा व करनाल-असंध मार्ग पर प्योंत टोल प्लाजा भी फ्री

करनाल की सीमा में दिल्ली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर बसताड़ा टोल प्लाजा व करनाल-असंध मार्ग पर प्योंत टोल प्लाजा पर किसान पहुंच गए। वाहनों की आवाजाही सुचारू है। लेकिन टोल टैक्स की अदायगी नहीं हो रही है। वहीं किसानों में रोष लगातार बढ़ रहा है, जिसके चलते भारी पुलिस बल दोनों टोल प्लाजा पर तैनात किए हुए हैं।

Farmers Protest Karnal

दिल्ली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर बसताड़ा टोल प्लाजा पर धरना दे रहे किसान हुक्का गुड़गुड़ाते हुए व धरने में शामिल महिलाएं।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *