Connect with us

विशेष

हरियाणा के 50 हज़ार परिवारों को मिलेगी बड़ी राहत, सरकार की नयी स्कीम

Published

on

Advertisement

हरियाणा सरकार दिल्ली से सटे गुरुग्राम, फरीदाबाद सहित राज्य के करीब 50 हजार परिवारों को बड़ी राहत देने वाली है। यह परिवार वे हैं, जो अवैध कालोनियों में घर बनाकर रह रहे हैं या जिन्होंने ऐसी अवैध कालोनियों में प्लाट या मकान खरीद रखे हैं। राज्य में ऐसी अवैध कालोनियों की संख्या 1200 के आसपास है। प्रदेश की भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार इन अवैध कालोनियों को नियमित करने जा रही है। इन कालोनियों में रहने वाले लोगों से डेवलपमेंट चार्ज (विकास शुल्क) लेकर उनकी प्रापर्टी को नियमित कर दिया जाएगा।

CoronaVirus: हरियाणा सरकार ने की राहत पैकेज की घोषणा, बढ़ाई एक्स-ग्रेशिया  राशि - haryana government increased the amount of ex gracia haryana news

Advertisement

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चंडीगढ़ में मीडिया कर्मियों से बातचीत में अवैध कालोनियों को नियमित करने संबंधी प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ने की जानकारी दी। राज्य में कोई भी सरकार हो, अवैध कालोनियां लगातार विकसित होती रही हैं। प्रदेश सरकार इन कालोनियों को नियमित करती है तो उसके बाद फिर से नई अवैध कालोनियां काट दी जाती हैं। लोगों को इन कालोनियों में प्लाट और मकान सस्ती दरों पर मिल जाते हैं। नतीजतन निर्माण गिराने की कार्रवाई सरकार के जी का जंजाल बन जाती है।

World's least stressed cities revealed; here's where top Indian cities  stand - Living a stressful life | The Economic Times

Advertisement

हरियाणा सरकार ने राज्य में समस्त कालोनाइजरों से अवैध कालोनियों को नियमित करने संबंधी आवेदन मांगे हैं। शहरी निकाय विभाग के जरिये सरकार के पास करीब 1200 कालोनियों की जानकारी पहुंची है। प्रदेश सरकार ने विकास शुल्क लेकर इन कालोनियों को नियमित करने के साथ ही बिजली के मीटर, जल कनेक्शन और सीवरेज कनेक्शन देने का निर्णय लिया है। साथ ही यह भी फैसला लिया है कि यदि भविष्य में कोई अवैध कालोनी विकसित होती है तो उसे न तो नियमित किया जाएगा और न ही बिजली, पानी व सीवरेज कनेक्शन की कोई सुविधा दी जाएगी। राज्य सरकार द्वारा संपत्ति की रजिस्ट्री के दौरान आनलाइन प्रक्रिया लागू करने के बाद अवैध कालोनियों के कारोबार पर अंकुश लगने की संभावना है।

बाक्स शहरों में मकान की चौथी मंजिल भी बना सकेंगे लोग

हरियाणा सरकार ने शहरी लोगों को बड़ी राहत देते हुए उनकी प्रापर्टी (मकानों) पर चौथी मंजिल बनाने की अनुमति प्रदान की है। लाखों शहरी लोगों को सरकार की इस योजना का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि अभी तक सिर्फ तीन फ्लोर पर ही निर्माण की अनुमति थी और उनकी फ्लोर के हिसाब से बिक्री या रजिस्ट्री की जा सकती थी। प्रापर्टी की बढ़ती कीमतों के मद्देनजर लोग चाहते थे कि उन्हें चौथी मंजिल भी बनाकर बेचने या किराये पर देने अथवा स्वयं के लिए रहने की अनुमति दी जाए। राज्य सरकार ने इस योजना को मंजूरी प्रदान कर दी है।

Advertisement
Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *