Connect with us

विशेष

क्या 2000 के नोट बंद होने वाले हैं? इस सवाल का सरकार ने दिया यह जवाब

Published

on

Advertisement

क्या 2000 के नोट बंद होने वाले हैं? इस सवाल का सरकार ने दिया यह जवाब

क्या 2000 के नोट बंद होने वाले हैं? सरकार ने इस सवाल का जवाब दे दिया है. लोकसभा में एक लिखित जवाब में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर (Minister of State for Finance Anurag Thakur) ने इस संबंध में जानकारी दी.

Advertisement

पिछले कुछ समय से यह कहा जाता रहा है कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 2000 रुपये के नोटों की छपाई बंद करने का फैसला किया है. कई रिपोर्ट में RBI की वार्षिक रिपोर्ट का हवाला देते हुए दावा किया गया है कि 2019 से 2000 के नए नोट नहीं छापे जा रहे हैं. हालांकि सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि 2000 के नोट चलन से बाहर नहीं होंगे.

छपाई में कमी आई
वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि दो हजार के नोट बंद होने की सभी खबरें गलत हैं. उन्होंने कहा कि इन नोटों की छापी बंद नहीं हुई है और न ही ऐसा कोई इरादा है. हालांकि, उन्होंने 2000 के नोटों की छपाई में कमी की बात जरूर स्वीकार की. ठाकुर ने आगे कहा कि सरकार लोगों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए किसी खास डिनोमिनेशन (Denomination) के नोटों की प्रिंटिंग के संबंध में रिजर्व बैंक के परामर्श से कोई फैसला लेती है.

Advertisement

कोरोना से प्रभावित हुआ काम
इस सवाल के जवाब में कि क्या कोरोना (CoronaVirus) संकट के चलते नोटों की छपाई प्रक्रिया प्रभावित हुई? वित्त राज्यमंत्री ने कहा कि नोटों की छपाई को देशव्यापी लॉकडाउन (Countrywide Lockdown) के कारण अस्थायी रूप से रोक दिया गया था, लेकिन इसे चरणबद्ध तरीके से दोबारा शुरू किया जा चुका है. 31 मार्च, 2019 तक 2,000 के कुल 273.98 करोड़ चलन में थे, जबकि 31 मार्च, 2019 में यह संख्या 329.10 करोड़ थी.

 

Advertisement

23 मार्च से बंद थी छपाई 
कोरोना के मद्देनजर भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रा प्राइवेट लिमिटेड (BRBNMPL) प्रेस में 23 मार्च, 2020 से नोटों की छपाई बंद कर दी गई थी, जिसे 4 मई से पुन: शुरू कर दिया गया है. ठाकुर ने बताया कि सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SPMCIL) ने सूचित किया है कि COVID-19 महामारी के कारण उनकी प्रेस में भी बैंक नोटों की छपाई प्रभावित हुई थी.

Advertisement