Connect with us

ऑटोमोबाइल

हाई सिक्‍योरिटी नंबर प्‍लेट और फ्यूल स्टिकर नहीं लगवाया तो कटेगा चालान, जानें कैसे लगवाएं

Published

on

Spread the love

हाई सिक्‍योरिटी नंबर प्‍लेट और फ्यूल स्टिकर नहीं लगवाया तो कटेगा चालान, जानें कैसे लगवाएं

 

दिल्‍ली सरकार के परिवहन विभाग (Transport Department) ने हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट्स (HSRP) अप्लाई करने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू कर दी है, ताकि राजधानी के लोग इसे आसानी से हासिल कर सकें. परिवहन विभाग के नए नियम के अनुसार, अब कार के मालिक ऑनलाइन ही हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट्स का रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. इसके लिए कार रखने वालों को ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा जिसमें उन्हें डीटेल्स फिल करके सबमिट करनी होगी. इसके बाद उनका इंटरनेट के माध्यम से ही ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हो जाएगा.

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए कैसे करें अप्लाई
हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए अप्लाई करने के लिए bookmyhsrp.com/index.aspx पर विजिट करें, जहां पर आपको प्राइवेट वाहन और कमर्शियल वाहन के दो ऑप्शन दिखाई देंगे. प्राइवेट व्हीकल टैब पर क्लिक करने पर पेट्रोल, डीजल, इलेक्ट्रिक, CNG और CNG+पेट्रोल का ऑप्शन चुनना होगा. पेट्रोल टाइप के टैब पर क्लिक करने पर वाहनों की कैटगरी खुलेगी जिसके बाद आपको बाइक, कार, स्कूटर, ऑटो और भारी वाहन जैसे ऑप्शन में से एक को चुनना होगा. अगर आप कार पर क्लिक करते हैं तो कार की कंपनी का ऑप्शन चुनना होगा.

 

हाई सिक्‍योरिटी नंबर प्‍लेट और फ्यूल स्टिकर नहीं लगवाया तो कटेगा चालान, जानें कैसे लगवाएं

कंपनी के ऑप्शन के चुनाव करने के बाद आपको राज्य का नाम फिल करना होगा इसी के साथ ही यहां आपको डीलर्स के विकल्प भी दिखाई देंगे. डीलर को भरने के बाद आपको अपनी कार की तमाम जानकारी भरनी होगी. इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन नंबर, रजिस्ट्रेशन तारीख, इंजन और चेसिस नंबर, ई-मेल और मोबाइल नंबर की जानकारी देनी होगी. इसके बाद अपलोड करने पर एक नई विंडो खुलेगी.

नई विंडों में कार मालिक का नाम, पता और दूसरी जानकारी भरनी होगी. रजिस्ट्रेशन में आपको वाहन की आरसी और आईडी प्रूफ भी अपलोड करना होगा. इस जानकारी को अपलोड करने के बाद मोबाइल ओटीपी जेनरेट हो जाएगा.  इसके बाद आपको वाहन की बुकिंग का समय और दिन का विकल्प भरना होगा.  आखिर में आपको पेमेंट का विकल्प दिखाई देगा, जिसे आपको भरना होगा.

बढ़ गई HSRP के बुकिंग की संख्या
राज्य सरकार के इस फैसले बाद HSRP ( High Security Registration Number Plate) के लिए अप्‍लाई करने वालों की संख्‍या में काफी इजाफा हुआ है. जानकारी के मुताबिक, पहले जहां रोजाना 200-250 नंबर प्लेट की बुकिंग होती थी, अब यह आंकड़ा बढ़कर 3,000 तक पहुंच गया है. बता दें कि दिल्‍ली में 2012 से पहले रजिस्‍टर्ड हुई करीब 40 लाख कार हैं जिनमें हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं हैं. फ्यूल स्टिकर्स वाली गाड़‍ियों की संख्‍या करीब साढ़े तीन लाख है. दिल्ली में सभी वाहन निर्माताओं के लिए high security registration plates (HSRP) अनिवार्य हो चुका है.

कार पर जरूरी होगा रजिस्ट्रेशन मार्क
वाहन निर्माता कंपनियों को नंबर प्लेट पर अब तीसरा रजिस्ट्रेशन मार्क भी बनाना होगा. कौन सा ईंधन गाड़ी में इस्तेमाल हो रहा है इसके लिए कलर कोडिंग करनी होगी. पुराने वाहन निर्माता कंपनी की तरफ से दिए गए हाई-सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट को कंपनी के डीलर्स भी लगा सकते हैं. इन नंबर प्लेट्स के साथ छेड़छाड़ करना मुमकिन नहीं, क्योंकि क्रोमियम बेस्ड होती हैं. वहीं एक अक्टूबर से कलर कोडेड फ्यूल स्टिकर्स (color-coded fuel stickers) पर भी ऐक्‍शन लिया जाएगा.

कैसी होती है हाई सिक्योरिटी नंबर प्‍लेट्स
HSRP एक क्रोमियम बेस्ड होलोग्राम होता है. यह होलोग्राम एक स्टीकर होता है, जिस पर वाहन के इंजन और चेसिस नंबर होते हैं. यह नंबर पेंट और स्टीकर से प्रेशर मशीन के जरिए लिखा जाता है. प्लेट पर एक तरह का पिन होगा जो आपके वाहन से जोड़ेगा. यह पिन एक बार आपके वाहन से प्लेट को पकड़ लेगा तो यह दोनों ही तरफ से लॉक होगा, किसी से खुलेगा नहीं.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *