Connect with us

पानीपत

माननीय! ये कैसा लाॅकडाउन; खुली दुकानें, ऑटो में सवारियां, सब्जी मंडी में अथाह भीड़

Published

on

Advertisement

माननीय! ये कैसा लाॅकडाउन; खुली दुकानें, ऑटो में सवारियां, सब्जी मंडी में अथाह भीड़

ये कैसा लाॅकडाउन? व्यापारिक संगठनाें, उद्यमियाें व आमजन की जुबान पर यही सवाल है। साेमवार काे संपूर्ण लाॅकडाउन के पहले दिन बाजाराें में जरूरी सामान वाली दुकानाें के अलावा जूते, रेडिमेड व अन्य सामान वाली दुकानें भी खुली। किला क्षेत्र में सबसे ज्यादा नियम टूटे। नियम पालन कराने वाला कोई नहीं दिखा। कोई दुकान खोलकर बैठा रहा तो कोई आशा शटर खोलकर। सवारियां भर-भरकर ऑटो वाले जीटी रोड और चांदनी बाग थाना के पास से गुजरे।

सब्जी मंडी से दूसरे दिन भी सबसे भयानक फोटो सामने आई। हजारों की भीड़, न सोशल डिस्टेंसिंग न मास्क न काेई टोकने वाला। सबसे ज्यादा काेविड फैलाने का काम आजाद नगर रेलवे फाटक के पास अस्थाई सब्जी मंडी हुआ। यहां शाम 5 बजे भीड़ जुटने लगी। मार्केट कमेटी कार्यालय से महज 500 मीटर दूर इस मंडी काे देखने काेई अधिकारी नहीं आया। उधर सनाैली राेड सब्जी मंडी लगी रेहड़ियाें काे हटाने मार्केट कमेटी की टीम जरूर पहुंच गई और कांटे व अन्य सामान जब्त किए गए।

Advertisement

आजाद नगर रेलवे फाटक के पास अस्थाई मंडी में लगी लोगों की भीड़ में टूटती सोशल डिस्टेंसिंग। - Dainik Bhaskar

 

Advertisement

लॉकडाउन डे-1 – मेडिकल स्टोर समेत अन्य जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं

बिना किसी नियमों के चली इंडस्ट्री

Advertisement

शहर में बहुत से एरिये में बिना किसी नियमों के सोमवार को इंडस्ट्री चली। जिस इंडस्ट्री का एक्सपोर्ट से लेना नहीं है, वह भी चली। साथ ही गाइडलाइन का पालन भी नहीं हुआ। परिसर में रहने वालों को ही काम करने की छूट मिली थी। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के तहत वर्करों को लाने का नियम है, लेकिन कहीं भी इसका पालन नहीं हुआ।

रेहड़ी पर 10 लोग जमा होकर खाते रहे गोलगप्पे

लॉकडाउन को हर किसी ने मजाक बनाया। फूड पाइंट पर सबसे अधिक नियम टूटे।

नियम तो है कि कोई भी फूड पाइंट पर किसी को खिलाएगा नहीं। पूरे शहर में रेहड़ी वाले 10-10 लोगों को एकसाथ गोलगप्पे खिलाते रहे। पुलिस कहीं भी नजर नहीं आई। शाम 8 बजे बरसत रोड अड्‌डा समेत कई जगह यह नजारा दिखा।

उद्यमी बोले

कोरोना चेन तोड़ने को 15 दिन संपूर्ण लॉकडाउन लगे

लाॅकडाउन के इस तरीके से कोई भी खुश नहीं है। कपड़े, इलेक्ट्रिक सहित अन्य सामान बेचने वाले दुकानदार ही नहीं उद्यमी भी यहीं कह रहे हैं कि सच में कोरोना की चेन तोड़नी है तो 15 दिनों के लिए संपूर्ण लॉकडाउन लगाओ। सेक्टर-29 पार्ट-2 डायर्स एसोसिएशन के प्रधान भीम राणा ने कहा कि उद्योग तो चलते रहेंगे। एक्सपोर्ट को छोड़कर सभी को 15 दिनों के रोका जाएगा तभी काेरोना कम होगा।

 

शाम 6 बजे तक ही खुली रहेगी जरूरी सामान की दुकानें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें

सोमवार को डीसी धर्मेंद्र सिंह ने लॉकडाउन संबंधी गाइडलाइन जारी कर दी। जिसमें साफ कर दिया है कि शाम 6 बजे तक ही जरूरी सामान की दुकानें खुली रहेंगी। इन दुकानदारों को भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना होगा।

रोडवेज और निजी सभी बस सेवाएं बंद

सरकार ने रोडवेज के साथ निजी बस सेवा भी बंद कर दी है। दिल्ली, राजस्थान, हरिद्वार, हिमाचल, पंजाब आदि जगह जाने वाली सभी बसें बंद कर दी। नियम बना दिया है कि अगर किसी एक जगह की 20-30 सवारी बस अड्‌डा में जमा होती तो डिपो इंचार्ज अपने लेवल पर उस जगह के लिए बस चलाएगा।

 

 

SOURCE : BHASKAR

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *