Connect with us

City

पानीपत में गुंडागर्दी, ठेके से शराब न लाने पर किशोर की गर्दन और हाथ पर किए वार

Published

on

Advertisement

पानीपत में गुंडागर्दी, ठेके से शराब न लाने पर किशोर की गर्दन और हाथ पर किए वार

 

बापौली के बिहोली गांव में सोमवार शाम को ठेके से शराब लाने से मना करने पर एक युवक ने किशोर की गर्दन और हाथ पर चाकू से वार कर दिया। पीड़ित किशोर को कई टांके लगे हैं।

Advertisement

पानीपत में गुंडागर्दी, ठेके से शराब न लाने पर किशोर की गर्दन और हाथ पर किए वार

घटना शाम करीब साढ़े छह बजे की है। बिहोली गांव की जीतो ने पुलिस को शिकायत दी कि उनके पति चरण सिंह काम के सिलसिले में घर से बाहर हैं। उनके दो बेटे बड़ा सुक्रमपाल और छोटा 13 वर्षीय समीर साथ ही रहते हैं। शाम को समीर रोते हुए घर पहुंचा। गर्दन और हाथ से खून बह रहा था। चोट के बारे में पूछा तो बेटे ने बताया कि अमित की दुकान से बर्गर लेने गया था। वहां पर गांव का ही सोनू शराब के नशे में था। सोनू ने ठेके से शराब लाने को बोला तो बेटे ने मना कर दिया।

Advertisement

तैश में आकर सोनू ने दुकान से चाकू उठाया और सागर की गर्दन पर वार कर दिया। दूसरा वार दाहिने हाथ पर किया। ताऊ के बेटे प्रताप ने समीर को आरोपित के चंगुल से छुड़वाया। घायल किशोर को समालखा के सरकारी अस्पताल में दाखिल कराया गया। इस बारे में बापौली थाना प्रभारी हरनारायण ने बताया कि मामला दर्ज करके आरोपित सोनू को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित के कब्जे से वारदात में इस्तेमाल चाकू बरामद किया और अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया।

इधर असंध रोड पर गेट ठीक न बनाने पर पड़ोसी ने दुकानदार पर किया हमला

Advertisement

असंध रोड पर गेट ठीक से न बनाने से खफा पड़ोसी ने तीन युवकों के साथ मिलकर सोमवार को दुकानदार व उनके नौकर पर डंडे और धारदार हथियार से हमला कर दिया। आरोपितों ने दुकानदार की पगड़ी भी उतार दी। आरोपित पीड़ित के 9200 रुपये और दो मशीन भी लूटकर बिना नंबर की बुलेट बाइक से फरार हो गए।

गुरुनानकपुर दीवान नगर के परमजीत सिंह ने पुलिस को शिकायत दी कि उनकी असंध रोड रजवाहे के पास दुकान है। नजदीक ही दर्शन की शीशे की दुकान है। कुछ समय पहले दर्शन ने सात हजार तीन सौ रुपये में गेट बनाने का आर्डर दिया था। गेट में कुछ कमी होने के कारण उसने वापस कर दिया। उन्होंने पड़ोसी मनीष के सामने छह हजार रुपये दर्शन को लौटा दिए थे। 1300 रुपये बकाया रह गए थे, जो कि सोमवार को लौटाने थे। दर्शन ने पड़ोसी दुकानदार कृष्ण लाल के फोन कर उन्हें बुलाया और मारपीट की।

Advertisement